Home > India News > विवेक तन्खा की जबान फिसली, देश 1974 में आज़ाद हुआ

विवेक तन्खा की जबान फिसली, देश 1974 में आज़ाद हुआ

अनुपपुर – अनुपपुर जिले के कोतमा की चुनावी सभा में कांग्रेस सांसद विवेक तनख़ा की जबान फिसल गयी। मतदाताओ को संकल्प का पाठ पढ़ाते-पढ़ाते कुछ ऐसा कह दिया की लोग उनके सामान्य ज्ञान पर सवाल उठाने लगे। श्री तनख़ा ने कहा जब गांधी जी को दक्षिण अफ्रीका में ट्रेन से बाहर फेंका गया तो उन्हें गुस्सा आया। पर उन्होंने झगड़ा नहीं किया। उन्होंने एक संकल्प लिया कि अंग्रजो को अपने देश से बाहर फेंकूँगा। उसी संकल्प को पूरा करते हुए गांधी जी ने 1974 में देश आज़ाद करा दिया।

विवेक तनख़ा जनता से कहना चाह रहे थे कि वे भी गांधी की तरह संकल्प करे और बीजेपी को उखाड़ फेंके। लेकिन उनकी छोटी सी चूक उन्ही पर भारी पड़ गयी।

रिपोर्ट :- विजय उरमलिया






Facebook Comments
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com