Home > India > वीके सिंह के कुत्ते वाले बयान पर भड़की माया

वीके सिंह के कुत्ते वाले बयान पर भड़की माया

Mayawatiलखनऊ – लखनऊ मे प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बसपा सुप्रीमो मायावती ने केंद्रीय राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह पर जमकर गुस्सा निकाला और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उन्हें बर्खास्त करने की मांग की।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गिरी मानसिकता वाले वीके सिंह को तुरंत मं‌त्री मंडल से बर्खास्त करें और उन्हें तुरंत सलाखों के पीछे भेजें।

बता दें कि जनरल वीके सिंह ने बीते दिनों कहा था कि अगर कोई कुत्ते को पत्थर मार दे तो उसके लिए सरकार कैसे ज़िम्मेदार है? वीके सिंह ने ये बयान फरीदाबाद में दो दलित बच्चों को जलाकर मार देने के बाद किए गए सवाल के बाद दिया था।

उन्होंने कहा कि फरीदाबाद में जो कुछ हुआ वो प्रशासन की नाकामी का नतीजा है और सरकार उसके बाद आती है। ये विवादित बयान देने के बाद वीके सिंह व‌िरो‌ध‌ियों के न‌िशाने पर आ गए।हालांकि उन्होंने इस मामले पर वीके सिंह ने सफाई भी दी है। उन्होंने ट्वीट क‌िया क‌ि उनके बयान के मकसद फरीदाबाद घटना के साथ तुलना करने को लेकर नहीं था।

शुक्रवार को लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मायावती ने वीके सिंह के इसी बयान पर घोर आपत्ति जताई और उन्हें जेल भेजने की मांग की।उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी अगर इस बात को तुरंत संज्ञान में लेकर वीके सिंह को बर्खास्त कर देते तो मुझे यहां प्रेसकॉन्फ्रेस ही न बुलानी पड़ती।

श में दलित समाज के लोगों पर हो रहे जुल्म को लेकर मायावती यहाँ दलितो को, बसपा से जोडे रखने की कोशिश करती दिखी। बसपा सुप्रीमो मायावती ने आज अपने आवास पर सुबह हरियाणा की घटना समेत कई मुद्दो पर आनन-फानन में एक प्रेस कांफ़्रेंस बुलाई। माया ने अपने लम्बे वक्तब्य में कहा की देश की आजादी से अबतक विपक्षी दलों की सरकारें रहीं, दलितों के प्रति जातिवादी मानसिकता हावी रही है और लगातार दलितों का उत्पीड़न हो रहा है।

दलितो के प्रति हरियाणा सरकार गंभीर नही है। हरियाणा में एक ही परिवार के 4 लोगों को जिंदा जलाये जाने से नाराज़ मायावती ने कड़े शब्दों में निंदा करते हुए सीएम खट्टर के इस्तीफा की माँग की है। मायावती ने कहा की इस दलित परिवार ने सामंतवादी लोगों का मुकाबला किया और उनको मुहतोड़ जवाब दिया। इनके विरोध करने पर ही इस परिवार को जिंदा जलाया गया है।

मायावती ने खुला आरोप लगाया की आरोपियों को हरियाणा सरकार बचा रही। कांग्रेस नेता राहुल ग़ांधी के वहाँ जाने को, मायावती ने कांग्रेस का नाटक करार दिया। मायावती ने बताया की इस परिवार की किसी ने कोई मदद नहीं की, फरीदाबाद की घटना पर सिर्फ बीएसपी ने मदद की, घटना की जानकारी मिलते ही बीएसपी यूनिट को तुरंत वहाँ भेजा गया।

बिहार में चुनाव के दवाब की वजह से हरियाणा सीएम वहां पहुंचे, फरीदाबाद में बीजेपी ने परिवार से मिलने का ढोंग किया। मायावती ने मांग की कि दोषी पुलिसकर्मियों को तुरंत जेल भेजा जाये, पुलिस की पहरेदारी में हुई इस घटना की जितनी निंदा की जाये काम है, सिर्फ सस्पेंड करके खानापूर्ति की की जा रही है।

केंद्र सरकार में मंत्री जनरल वी.के. सिंह के दलित विरोधी बयान की मायावती ने कड़ी निंदा करते हुए, उनको गिरी मानसिकता वाला बताया है और प्रधानमंत्री से वी.के.सिंह को तुरंत बर्खास्त करने की मांग की है।

मायावती ने कहा की बाबा साहब के अनुयायियों की उपेक्षा कर के बीजेपी दोहरी नीति अपना रही है। बीजेपी मुंबई में अंबेडकर स्मारक बनाने की बात करती है, जो अंबेडकर को सम्मान के नाम पर सिर्फ एक ड्रामा है। हरियाणा के गोहाना में भी दलित हत्या हुई, दलित लेखक की हत्या की गयी, बीजेपी राजनीतिक नाटकबाजी कर रही है।

माया ने कहा की सभी धर्मों के लोगों का सम्मान होना चाहिये, दलित वोट के लिए ड्रामेबाजी कर रही बीजेपी है। मायावती ने कहा की दादरी में सिर्फ मुस्लिम वोट के लिए खानापूर्ति हुई, बीजेपी, सपा वोटों के ध्रुवीकरण में लगी है।

रिपोर्ट:- शाश्वत तिवारी

 

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com