Home > India > भाजपा को बहुमत तो मिला पर मुख्यमंत्री नहीं, बैठकों का दौर जारी

भाजपा को बहुमत तो मिला पर मुख्यमंत्री नहीं, बैठकों का दौर जारी

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के लिए केंद्रीय रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा का नाम लगभग तय माना जा रहा है। शनिवार को भाजपा विधायकों की बैठक में सिन्हा के नाम पर अंतिम मुहर लग सकती है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर भारतीय जनता पार्टी हाईकमान की दिल्ली में बैठक अभी भी जारी है।

इस बीच लखनऊ में भाजपा विधायक दल के नेता का चयन होना है। वहीं, मनोज सिन्हा वाराणसी के प्रसिद्ध कालभैरव मंदिर पहुंचे और पूजा अर्चना की। वैसे, मुख्यमंत्री पद की रेस में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, केशव प्रसाद मौर्य, सुरेश खन्ना सहित पार्टी के कई और वरिष्ठ नेताओं के नाम भी लगातार चर्चा में बने हुए हैं। दूसरी तरफ, मनोज सिन्हा ने खुद को सीएम पद की रेस में शामिल नहीं होने की बात दोहराई है।

शनिवार शाम को भाजपा यूपी में सीएम पद के लिए नाम की घोषणा कर सकती है और बैठकों के बीच शनिवार सुबह केशव प्रसाद मौर्य भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के घर पहुंचे। शाह के साथ बैठक के बाद पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि यूपी में सीएम को लेकर कोई रेस नहीं है। सीएम पद के नाम का पता शाम तक चल पाएगा।

हालांकि माना जा रहा है कि सीएम पद की रेस में खुद को पिछड़ता देख मौर्य अमित शाह की दरबार में पहुंचे हैं। इसके अलावा यूपी भाजपा प्रभारी ओम माथुर प्रधानमंत्री आवास पहुंचे और यूपी सीएम पद को लेकर चर्चा की।

गाजीपुर से तीसरी बार सांसद बने मनोज सिन्हा, रेल राज्यमंत्री व संचार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हैं। वर्ष 1982 में बीएचयू छात्रसंघ अध्यक्ष रहे सिन्हा आईआईटी बीएचयू से सिविल इंजीनियरिंग में बीटेक और एमटेक किए हुए है। गोल्ड मेडलिस्ट रहे सिन्हा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (अभाविप) से जुड़े रहे हैं। शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री सिन्हा का नाम मुख्यमंत्री पद की रेस में आगे होने पर जहां उनके समर्थकों में जबरदस्त उत्साह है वहीं प्रशासन की सक्रियता भी दिखने लगी है।

गाजीपुर संवाददाता के अनुसार शनिवार को मनोज सिन्हा वहां एक कार्यक्रम में शामिल होंगे। दिल्ली से शुक्रवार की शाम वाराणसी पहुंचे सिन्हा रात्रि विश्राम कर सुबह गाजीपुर जाएंगे। गाजीपुर में भाजपा जिलाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह की दिवंगत माताश्री के त्रयोदशाह में शामिल होने के लिए सिन्हा उसके पैतृक गांव बरहट (शादियाबाद) जाएंगे।

सिन्हा अपने पैतृक गांव मोहनपुरा जाएंगे और मंदिर में दर्शन-पूजन भी करेंगे। उनके आने की खबर के साथ उनके मकान परिसर स्थित ठाकुरजी मंदिर की देर रात साफ सफाई कराई गई।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com