Home > Adult > सेक्‍स करने से क्यों कतराती है महिलाएं?

सेक्‍स करने से क्यों कतराती है महिलाएं?

लवमेकिंग हर कपल के लिए बहुत खुबसूरत सा लम्‍हा होता है। इस पल को एंजॉय करने के लिए कपल हर सम्‍भव कोशिश करते हैं। लेकिन आपको जानकार हैरत होगी कि सेक्‍स के दौरान महिला न सिर्फ सेक्‍स को एंजॉय करती है बल्कि उनके दिमाग में कई तरह की बातें भी चलती रहती है।

जिसकी वजह से कई बार होता है महिलाएं सेक्‍स को एंजॉय न करके डर जाती है। इसलिए कई बार होता है कि महिलाएं सेक्‍स करने से बचती है। आइए जानते है कि महिलाएं सेक्‍स के दौरान किन-किन बातों डरती है।

इमोशनल नहीं होना
सेक्‍स जहां पुरुषों के लिए अपनी अजीबो- गरीब फैंटेसी को पूरा करने का साधन है, वहीं औरत के लिए यह बहुत इमोशनल अटैचमेंट होता है। लेकिन कई बार होता है कि पुरुष सेक्‍स को लेकर इतने इमोशनल नहीं होते है, उनके लिए सेक्‍स म‍हज शारीरिक संतुष्टि ही है।

प्रेग्‍नेंसी का डर
सेक्‍स करते हुए महिलाओं के लिए सबसे बड़ा डर प्रेग्‍नेंसी का होता है। अक्‍सर पुरुष साथी कंडोम का प्रयोग नहीं करना चाहते। कई महिलाएं भी अपने पार्टनर की इच्‍छा को स्‍वीकार कर लेती है। कई महिलाएं ऐसी भी होती है कि जिन्‍हें कंडोम के बिना संबंध बनाने में ज्‍यादा मजा आता है। कई बार यह इतना हो जाता है कि प्रेग्‍नेंसी की सम्‍भावनाएं बढ़ जाती है। इसलिए महिलाएं प्रेग्‍नेंसी के डर से सेक्‍स से दूरी बनाकर चलती है।

सही तरीके से वैक्‍स नहीं होना
कई बार महिलाएं फ्यूबरिक वैक्‍स नहीं होने की वजह से भी सेक्‍स से बचती है। सही तरीके से वैक्‍स नहीं होने की वजह से महिलाओं को कंफर्ट महसूस नहीं होता है। इसलिए वो सेक्‍स करने से डरती है।

पीरियड में सेक्‍स
यह महिलाओं के डर का बहुत कारण है। सेक्‍स मनो वैज्ञानिक का मानना है कि पीरियड्स के दौरान महिलाओं में सेक्‍स की इच्‍छा काफी बढ़ जाती है, पर उन्‍हें लगता है कि इस अवस्‍था में अगर सेक्‍स किया तो पता नहीं थ्‍या समस्‍या पैदा हो जाएं। और कई महिलाएं होती है तो कि पीरियड के दौरान सेक्‍स करने में रुचि नहीं लेते। पीरियड में सेक्‍स नहीं करना चाहिए, यह एक गलत धारणा है। इस दौरान सेक्‍स करने से कुछ भी नहीं होता। इसलिए महिलाओं को इस डर से मुक्‍त हो जाना

पुरुषों का स्‍वार्थी रवैया
पुरुषों को महिलाओं की इच्‍छा समझना चाहिए, पोर्न की तरह व्‍यवहार न करें। प्राय: पुरुष सेक्‍स के दौरान महिलाओं की इच्‍छाओं और उनकी भावनाओं का ख्‍याल नहीं करते। वे अपनी संतुष्टि से मतलब रखते हैं। यह एक स्‍वार्थी रवैया है, ज‍ो महिलाओं के मन में पार्टनर के लिए डर और असुरक्षा के भाव को पैदा करता है।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com