Home > India > व्यापम मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह दोषी नहीं : चौहान

व्यापम मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह दोषी नहीं : चौहान

nand kumar singh chouhanसागर – भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नंद कुमारचौहान ने कहा है की व्यापम मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह कही भी दोषी नहीं है ।कांग्रेस उनपर झूठे आरोप लगा रही है। कांग्रेस व्यापम मामले में तथ्यों को तोड़ने मरोड़ने का काम कर रही है। उन्होंने आज मीडिया के सामने व्यापम मुद्दे पर जहा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का जमकर बचाव किया वही कांग्रेस पर कटाक्ष भी किये। प्रदेश अध्यक्ष पत्रकारों के सवाल पर उलझते दिखे।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नन्द कुमार चौहान पार्टी के महा जनसम्पर्क अभियान की बेठक लेने सागर आए थे। इसके पूर्व उन्होंने मीडिया के सामने व्यापम का सच बताते हए कुछ दस्तावेज भी मुहैया कराये। उन्होंने कहा की मुख्यमंत्री ने शुरुआत में ही व्यापम मामले को सबसे पहले गंभीरता से लिया था और जांच कराई थी। जब इसके तार बड़े लोगो तक जाते दिखे तो मुख्यमंत्री ने गहराई तक जाने का निर्णय लिया और व्यापम की जांच एसटीएफ से कराई ।

उसे बाद कोर्ट ने एसआईटी गठित की। प्रदेशाध्यक्ष ने कहा की मुख्यमंत्री ने हमेशा राजधर्म निभाया। इसके दोषी कोई भी रहे हो उनको बख्शा नहीं गया। व्यापम मामले की जांच प्रदेश के इतिहास की अब तक की सबसे बड़ी जांच है। इसमें पूरी ईमानदारी से काम हुआ है। मुख्यमंत्री ने व्यापम जांच कराकर प्रदेश की आम जनता के साथ न्याय करने की कोशिश की।

उन्होंने कहा की कांग्रेस मुखयमंत्री की लोकप्रियता से तिलमिलाई है। व्यापम मामले में दिग्विजय सिंह और प्रशांत पांडे ने फर्जी साक्ष्य मौहाया कराये है। यह कांग्रेस के लिए शर्म की बात है। दिग्विजय सिंह फर्जी है। तथ्यों को तोड़ने मरोड़ने का काम कांग्रेस कर रही है। वह भ्रम फैलाने का काम र रही। सागर में ट्रेनी पुलिस इंस्पेक्टर अनामिका की आत्महत्या की घटना को कांग्रेसियों ने व्यापम से जोड़ दिया। जबकि अनामिका ने पारिवारिक कारणों से आत्महत्या की थी। उन्होंने कहा की दिग्विजय सिंह ने अपने कार्यकाल में मनमाने तरीके से नौकरियां दी। जिसकी जांच चल रही है। 

प्रदेश अध्यक्ष चौहान ने व्यापम मामले पर मुख्यमंत्री के जनता से माफ़ी मांगने के सवाल पर कहा की मुखयमंत्री के व्यापम मामले में जनता से माफ़ी का सवाल नहीं है । सीएम ने यदि जांच में पर्दा डाला होता तो माफ़ी की बात आती ।उन्होंने बताया की अभी तक जांच में 1329 गड़बड़िया मिली । कुल. 2632 आरोपी बनाये गए 2238 पकड़े गए। जिसमे 1860 की जमानती हुई । एसटीएफ की जांच के दौरान कुल १६ की मोत हुई है। जांच के पहले १५ की मौत हुई है। कांग्रेस मौतों की झूठी जानकारी जोड़ रही है।

रिपोर्ट :- विनोद आर्य 

 

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com