Home > State > Andhra Pradesh > भारत रत्न देने पर उठे सवाल इन्हे क्यों नहीं देते सम्मान

भारत रत्न देने पर उठे सवाल इन्हे क्यों नहीं देते सम्मान

Why not give Bharat Ratna to Vivekananda, Guru Nanak and Akbar too Ramachandra Guhaबेंगलुरु [ TNN ] पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के साथ बीएचयू के संस्थापक और स्वतंत्रता सेनानी मदन मोहन मालवीय को देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न देने पर इतिहाकार रामचंद्र गुहा ने सवाल उठाए हैं। मालवीय को भारत रत्न देने पर गुहा ने ट्वीट कर कई सवाल दागे हैं। उन्होंने कहा कि वाजपेयी को भारत रत्न मिलना ठीक है लेकिन जिस शख्स की बहुत पहले मृत्यु हो चुकी है उसे भारत रत्न देना एक गलती है।

गुहा ने पुछा कि यदि मालवीय को भारत रत्न दिया जा सकता है तो रविंद्र नाथ टैगोर, महात्मा फुले, तिलक, गोखले, विवेकानंद, अकबर, शिवाजी, गुरु नानक, कबीर और सम्राट अशोक को भी मिलना चाहिए।

गुहा ने कहा, ‘मालवीय को भारत रत्न देना ओछी सोच का परिचायक है जिसका समर्थन नहीं किया जा सकता। प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर बताया कि मालवीय जी को शिक्षा के क्षेत्र में योगदान और राष्ट्रवादी सोच की वजह से भारत रत्न देने का फैसला किया गया है। लेकिन ऐसे योगदान तो और महापुरुषों के भी रहे हैं। गोखले, तिलक, कमालदेवी, भगत सिंह का योगदान मालवीय से कहीं ज्यादा है। स्वतंत्रता की लड़ाई में मालवीय का इन महापुरुषों के योदगान के सामने कमतर है। वहीं टैगोर का शिक्षा और साहित्य के क्षेत्र में मालवीय से ज्यादा योगदान है।’

गुहा ने कहा, ‘लेकिन सच यह है कि गोखले, तिलक, भगत सिंह, कमला देवी और टैगोर जैसे महापुरुषों से पीएम मोदी के लोकसभा क्षेत्र बनारस में मदद नहीं मिलती। मैं उम्मीद करता हूं कि अब और मरणोपरान्त भारत रत्न नहीं दिया जाएगा। यदि ऐसा होता है तो हम इस सर्वोच्च सम्मान को ओछी राजनीति से बचा सकते हैं। -एजेंसी 

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com