सेक्स करने से पत्‍नी ने किया इंकार, पति ने पत्नी और दो बच्‍चों को लगा दी आग

0
42

तमिलनाडु : सलेम जिले में एक ट्रक ड्राइवर ने अपनी पत्नी को दो बच्चों के साथ महज इसलिए जिंदा जला दिया क्योंकि उसने सेक्स करने से इनकार कर दिया।

वारदात मंगलवार रात की है, हालांकि बीते शुक्रवार को यह तब प्रकाश में आई जब मरने से पहले महिला ने पुलिस को बताया कि शराब के नशे में उसके पति ने जिंदा जला दिया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

खबर के मुताबिक शनिवार सुबह के वक्त सलेम सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिल में भर्ती महिला और उसकी बेटी की मौत हो गई जबकि बेटा जिंदगी और मौत से जूझ रहा है।

पुलिस ने बताया कि मृतक महिला की पहचान के पूमथि (26), बेटी निला (5) के रूप में की गई है। वह पति और बच्चों संग अट्टूर के करीब अजगापुरम में रहती थी। उसके बेटे पूवरासन (6) हालत गंभीर है।

पुलिस के मुताबिक पूमथि का पति कार्तिक शराब आदी था। घटना के दिन वह शराब के नशे में घर पहुंचा और रोज की तरह पूमथि से खूब झगड़ा किया। इसके अलावा मारपीट भी की गई। ये बात मामले में जांच कर रहे आईओ ने दी है।

आईओ की मुताबिक मंगलवार की कार्तिक आम दिनों की तरह शराब के नशे में घर पहुंचा और पत्नी से झगड़ने लगा। पत्नी संग मारपीट के कुछ देर बार उसने संबंध बनाने की मांग की। मगर पत्नी ने इसके लिए इनकार कर दिया। इस पर आरोपी ने पत्नी को घूंसा मारा, बेटा और बेटी पर मिट्टी का तेल डालकर उन्हें जिंदा जला दिया।

बाद में तीनों की चीखने चिल्लाने की आवाज सुनकर आस-पड़ोस के लोग आरोपी के घर पहुंचे और बुरी तरह जल चुके मां और उसके बच्चों को हॉस्पिटल में भर्ती कराया। यहां डॉक्टर्स ने शुरुआती उपचार के बाद तीनों को सलेम सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिल में शिफ्ट कर दिया। लेकिन तब तक पूमथि और निला 80 फीसदी तक झुलस गए।

हालांकि पुलिस को दिए बयान में आरोपी कार्तिक का दावा है कि उसकी पत्नी ने परिवारिक कलह से परेशान होकर बच्चों सहित खुद को जिंदा जला लिया। लेकिन जब पुलिस ने बीते शुक्रवार को पूमथि का बयान दर्ज किया उसने बताया कि उसने पति संग संबंध बनाने से इनकार कर दिया तो उसे जिंदा जला दिया गया। पीड़िता ने बताया कि उसके शरीर में बहुत दर्द है क्योंकि पिछले दिनों कार्तिक उसे बुरी तरह पीटा था। घटना से दो दिन पहले ही उसने पति से उसे छोड़ दने की अपील की थी। मगर कार्तिक ने उसे जिंदा जला दिया।

जानकारी के मुताबिक पूमथि द्वारा मृत्यु से पहले दिन बयान के आधार पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ हत्या की कोशिश के तहत मामला दर्ज कर उसे शुक्रवार की रात गिरफ्तार कर लिया। हालांकि शनिवार को पूमथि और बेटी की मौत के बाद आरोपी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया। आरोपी को स्थानीय अदालत में पेश करने के बाद उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। बाद में उसे सलेम सेंट्रल जेल भेज दिया गया।