गुरु और शिष्य के रिश्ते को इस महिला शिक्षक ने तार-तार कर दिया। इस महिला ने अपने छात्र को ही अपना शिकार बना डाला। बेहद शातिर इस महिला शिक्षक ने बड़ी सोची समझी साजिश के तहत इस छात्र को अपनी जाल में फंसाया और फिर करने लगी उसका यौन शोषण।

यह मामला गुरुग्राम का है। साल 2015 में जब महिला शिक्षक की इस घिनौनी करतूत का खुलासा हुआ था तो उस वक्त हड़कंप मच गया था।

दरअसल गुरुग्राम के एक स्कूल में 10वीं क्लास में पढ़ने वाले एक नाबालिग छात्र पर इस टीचर की गंदी नजर थी। छात्र को अपने गिरफ्त में लेने के लिए इस टीचर ने संगीन साजिश रची।

इस टीचर ने स्कूल में परीक्षा के वक्त इस बच्चे को खूब नकल करने की छूट दी। महिला टीचर की वजह से परीक्षा में चोरी कर यह बच्चा किसी तरह एग्जाम में पास तो हो गया लेकिन उसे इसकी भनक तक नहीं थी कि उसे इसके बदले भारी कीमत चुकानी पड़ेगी।

महिला शिक्षक ने अब बच्चे को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया। हर बार एग्जाम में चोरी कराकर पास करवाने के बदले यह महिला टीचर बच्चे का लगातार यौन शोषण करने लगी।

इस शिक्षक ने कई बार स्कूल और स्कूल के बाहर इस बच्चे को बुलाकर उसका यौन शोषण किया। टीचर की इन गंदी हरकतों को काफी दिनों तक सहने के बाद आखिरकार इस बच्चे का सब्र टूट गया।

एक दिन उसने यह बात अपने घरवालों को बता दी। बच्चे के माता-पिता इस बात को सुन सन्न रह गए। उन्होंने तुरंत इस मामले में मानेसर थाने में स्कूल टीचर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई।

इस मामले में स्कूल के प्रिंसिपल को भी इस बात की जानकारी दी गई। पुलिस ने शिकायत दर्ज होने के बाद गंभीरता दिखाते हुए आरोपी स्कूल टीचर के खिलाफ पॉस्को एक्ट के तहत यौन उत्पीड़न का केस दर्ज कर लिया।

नाबालिग छात्र ने इस घटना के बाद स्कूल जाना छोड़ दिया। आरोपी टीचर के खिलाफ पुलिस ने पूरी तहकीकात के बाद कानून के तहत कार्रवाई की।