Home > Development > महिलाओं ने रिकॉर्ड उत्पादन कर बढ़ाया यूपी का गौरव

महिलाओं ने रिकॉर्ड उत्पादन कर बढ़ाया यूपी का गौरव

Milk productionलखनऊ – उत्तर प्रदेश के विभिन्न जनपदों की 17 महिला डेयरी-दुग्ध उद्यमियों ने गाय/ भैंस पालन एवं डेरियों की स्थापना करके रिकार्ड दुग्ध उत्पादन किया। उन्होंने पी0सी0डी0एफ0 के अधीनस्थ निकट की सहकारी दुग्ध समितियों में दुग्ध की बिक्री करके आय अर्जित की और अपनी आर्थिक स्थिति सुदृढ़ की है। इन 17 महिला डेयरी उद्यमियों ने सर्वाधिक दुग्ध का उत्पादन एवं बिक्री करके प्रदेश का गौरव बढ़ाया। यह सभी महिला लाभार्थी दुग्ध व्यवसायी, डेरी व्यवसायी किसानों तथा दुग्ध उत्पाकों के लिए वे प्ररणा स्त्रोत बन चुकी हैं। इन सभी 17 महिलाओं को प्रदेश सरकार द्वारा गोकुल पुरस्कार सम्मानित किया जा चुका है।

यह जानकारी प्रदेश के दुग्ध विकास मंत्री राममूर्ति वर्मा ने देते हुए बताया कि राजपति ने 62973 लीटर दुग्ध का उत्पादन करके प्रदेश में चैथा स्थान प्राप्त किया। वे 05 बार गोकुल पुरस्कार से सम्मानित की जा चुकी हैं। लखनऊ की बिटाना देवी ने 57355 लीटर दुग्ध का उत्पादन किया। प्रदेश में 6वां स्थान प्राप्त किया। नौ बार गोकुल पुरस्कार जीतने में कामयाब रही। जनपद मैनपुरी की अनीता देवी ने 53989 लीटर दूध की बिक्री की प्रदेश में 8वां स्थान प्राप्त किया। सीतापुर की सुधा पाण्डेय ने 46322.2 लीटर दूध की बिक्री की 11वां स्थान प्राप्त किया। शाहजहांपुर जिले की गुड्डी देवी ने 43005 लीटर दूध की बिक्री सहकारी दुग्ध समिति को की और प्रदेश में 13वां स्थान प्राप्त किया। चन्दौली जिले की कुसुम देवी ने 33449.7 लीटर दूध उत्पादित करके बिक्री की पांचवी बार गोकुल पुरस्कार जीता प्रदेश में 18वां स्थान प्राप्त किया। सुल्तानपुर की अर्चना तिवारी ने 29772.8 लीटर दुग्ध उत्पादन किय प्रदेश में 21वां स्थान प्राप्त किया। गाजियाबाद की रोशनी देवी ने 28वां स्थान प्राप्त किया। उन्होंने 22127.5 लीटर दुग्ध उत्पादन किया। मुरादाबाद की बीना देवी ने 32वां स्थान पाया और 19454.6 लीटर दूध की बिक्री समिति को की।

दुग्ध विकास मंत्री ने बताया कि वाराणसी की केसरा देवी ने 37वां स्थान पाया और 17050 लीटर दूध का उत्पादन किया। बागपत जनपद की सविता ने 43वां स्थान पाया। उन्होंने 15168.6 लीटर दूध का उत्पादन किया। नोएडा की सविता देवी ने 12060 लीटर दूध का उत्पादन किया और प्रदेश में 50वां स्थान प्राप्त किया। ललितपुर की कृष्णा देवी ने 11222 लीटर दूध का उत्पादन किया 55वां स्थान प्रात करके गोकुल पुरस्कार से सम्मानित की गई। हमीरपुर जिले की गीता ने 9012 लीटर दूध का उत्पादन किया और प्रदेश में 57वां स्थान प्राप्त किया। हापुड़ दुग्ध संघ की कुलविन्दर कौर ने 8312 लीटर दूध का उत्पादन किया और प्रदेश में 61वां स्थान प्राप्त किया। रामपुर की कमलेश ने 6972 लीटर दूध का उत्पादन किया और 64वां स्थान प्राप्त किया तथा कासगंज जनपद की धनवन्ती ने 4672 लीटर दूध का उत्पादन करके सहकारी दुग्ध समिति को बिक्री की और प्रदेश में 71वां स्थान प्राप्त किया उन्हें राज्य सरकार ने गोकुल पुरस्कार से सम्मानित किया।
रिपोर्ट -शाश्वत तिवारी

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com