Digvijaya Singh invites Naxals to shun violence and join Congressग्वालियर – व्यापमं घोटाला व ओलावृष्टि पर शिवराज सिंह पर लगातार हमला बोल रहे पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने कहा की व्यापमं घोटाले में सीएम ने पहले राज्यपाल रामनरेश यादव को फंसाया अब वह उमा भारती को फंसाने जा रहे हैं।

लेकिन इस घोटाले की जांच सीबीआई को नहीं सौप रहे हैं। ओलावृष्टि पर उनका कहना था कि कमीशन खोरी के लिए पेंसिल से सर्वे किया जा रहा है। जो किसान कमीशन देगा उसे 100फीसदी मुआवजा मिलने की उम्मीद है।

राधौगढ़ में नवमीं पूजन के बाद दिल्ली शताब्दी से दिल्ली जाने के लिए दिग्विजय सिंह बेटी के साथ ग्वालियर आए। जहां पत्रकारों से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि व्यापमं घोटाले में एसटीएफ अब तक 1800 आरोपियों की गिरफ्तारी कर चुकी है। अब भी 800 आरोपियों की गिरफ्तारी होना शेष है। इसके बावजूद सीएम सीबीआई को जांच सौपने के लिए तैयार नही है। क्योंकि व्यापमं में घोटाल सीएम के परिवार की देखरेख में हुआ है।

दिग्विजय सिंह का कहना है कि भाजपा सरकार ओला प्रभावित किसानों को राहत देने की बजाए भाजपा नेताओं के इशारे पर प्रशासनिक अधिकारी कमीशनखोरी कर रहे हैं। मौके पर सर्वे पेंसिल से किया जा रहा है। इससे अधिकारियों की नीयत में खोट साफ नजर आ रहा है। अगर किसान से उनका लेनदेन हो जाता है, तो 100 फीसदी नुकसान बताया जाता है।लेन-देन नही होने पर 25 फीसदी ही नुकसान बताया जाता है।

राहुल गांधी के सवाल पर चुप्पी साधी- भूमि अधिग्रहण को लेकर कांग्रेस द्वारा किए जा रहे आंदोलन से राहुल गांधी की गैरमौजूदगी के सवाल पर दिग्विजय सिंह केवल इतना कहा कि सोनिया गांधी नेतृत्व कर रहीं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here