लखनऊ : गोरखपुर से कई बार सांसद रहे योगी आदित्यनाथ सूबे के मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार अपनी कर्मभूमि गोरखपुर जा रहे हैं। शनिवार शाम को करीब चार बजे वह गोरखपुर पहुंचेंगे। बताया जा रहा है कि वह शनिवार और रविवार को गोरखपुर में ही रहेंगे।

इस दौरान वह रोड शो करेंगे, कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे और गोरखनाथ मंदिर भी जाएंगे। इसके बाद 27 मार्च को योगी अयोध्या जाएंगे। पूरे शहर में योगी के स्वागत के लिए बड़े-बड़े होर्डिंग-बैनर लगाए गए हैं। योगी आदित्यनाथ 26 मार्च को 20वीं सदी के सर्वाधिक प्रसिद्ध हुए योगी, योगिराज बाबा गंभीरनाथ के बृह्मलीन होने के 100 साल पूरे होने के समापन कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे।

इसके साथ ही वह जीडीए सभागार में गोरखपुर मंडल के आला अफसरों के साथ बैठक भी करेंगे। गोरखनाथ मंदिर छावनी में तब्दील कर दिया गया है।

सभी सरकारी दफ्तरों, थानों और अस्पतालों को चमकाया जा रहा है। मगर, गोरखनाथ मंदिर के सामने ही मौजूद गोरखनाथ थाने में खासतौर से साफ-सफाई की जा रही है।

गोरखपुर एयरपोर्ट से कार से वह नंदानगर, मोहद्दीपुर, यूनिवर्सिटी चौराहा, गणेश चौराहा होते हुए शाम 5:30 शाम बजे एमपी इंटर कॉलेज मैदान में पहुंचेंगे। इस स्कूल को गोरखनाथ मठ के द्वारा ही संचालित किया जाता है। यहां वह नागरिकों द्वारा स्वागत-अभिनन्दन समारोह में शामिल होंगे।

हालांकि, पूरे रास्ते में शहरवासी जगह-जगह उनका स्वागत करेंगे। शाम 6:40 बजे वह गोलघर, गणेश तिराहा, काली मंदिर, यातायात तिराहा, धर्मशाला, गोरखनाथ पुल होते हुए गोरखनाथ मंदिर पहुंचेंगे, जहां वह रात्रि विश्राम करेंगे।