यूपी: योगी ने 15 विभूतियों सहित 3 को ज्यूरी अवार्ड से किया सम्मानित - Tez News
Home > India News > यूपी: योगी ने 15 विभूतियों सहित 3 को ज्यूरी अवार्ड से किया सम्मानित

यूपी: योगी ने 15 विभूतियों सहित 3 को ज्यूरी अवार्ड से किया सम्मानित

लखनऊ : उन्होनें कहा कि कई बार प्रतिभाओं को सम्मान न मिलने पर उनकी दिशा भटक जाती है परंतु यदि ऐसी प्रतिभाओं को सम्मानित किया जाता है तो समाज को स्वस्थ्य संदेश जाता है।राजधानी के गोमती नगर स्थित संगीत नाटक अकादमी के संत गाडगे प्रेक्षागृह में शनिवार को लोकमत सम्मान समारोह -2017 का वितरण तथा हर्ष वर्धन फाउण्डेशन का शुभारम्भ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कर कमलों द्वारा किया गया। दीप प्रज्जवलन तथा वन्दना से आरम्भ हुए कार्यक्रम को सामाजिक सरोकार से जुड़ी विभूतियों ने सम्बोधित किया जिनमें प्रमुख रूप से शामिल रहे । समाज में आधारभूत रूप से कार्य कर रही विभूतियों को सम्मानित करने की यह परम्परा 2013 से आरम्भ हुई थी जो इस वर्ष अपने पॉचवे संस्करण में पहुंच गयी है ।

मुख्यमंत्री ने लोकमत सम्मान की सराहना करते हुए कहा कि यहॉ एक साथ दो दो कार्य हो रहे है । एक ओर समाज में उत्कृष्ट कार्य करने वालों को सम्मानित किया जा रहा है और दूसरी तरफ हर्ष वर्धन फाउण्डेशन की स्थापना की जा रही है जिसके लिये मैं लोकमत परिवार को साधुवाद देता हूं । मुझें बहुत अच्छा लग रहा है कि एक दैनिक समाचार पत्र ने ये बीड़ा उठाया है । उन्होनें कहा कि कई बार प्रतिभाओं को सम्मान न मिलने पर उनकी दिशा भटक जाती है परंतु यदि ऐसी प्रतिभाओं को सम्मानित किया जाता है तो समाज को स्वस्थ्य संदेश जाता है । प्रदेश में शिक्षा की स्थिति बहुत बुरी है लोग बस वेतन लेने आते है । पर ये देख कर अच्छा लगा कि कुशीनगर से प्रतिभाओं का चयन हुआ और वो भी शिक्षा के क्षेत्र में । आज हमने देखा कि एक दिव्यांग भी अंतरार्ष्ट्रिय खिलाड़ी बन सकता है । विषाणुजनित बिमारियों से मैं लड़ता रहा हूं और देख कर अच्छा लगा कि डॉ० आर एन सिंह ने ये राम किया है । लोकमत को धन्यवाद देते हुए कहा कि ये 17 विभूतियों लोकमत की ब्रांड एम्बेसडर बन कर समाज में निकलेंगी ।

आजादी के समय समाचार पत्रों का ये दायरा नहीं था । गणेश शंकर विद्यार्थी को याद करते हुए स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को याद किया । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मीडिया समाज के लिये बड़ी भूमिका निभाता है । पत्रकारिता पर बोलतें हुए कहा कि पीत पत्रकारिता एक बड़ा संकट है जिससे उबर कर जन विश्वास पर खरा उतरनहोगा । लोकमत अखबार ने लोगों में नई ऊर्जा संचार करने का काम किया है जिसके लिये मैं आन्नद वर्धन जी को धन्यवाद और शुभकामनाएं देता हूं । हर्ष वर्धन सिंह के बारे में बोलतें हुए सीएम योगी ने कहा कि वे संघर्षशील थे जिसकों हमने नजदीक से देखा है और उन्होनें अपने अभियान को जीवन के अन्तिम समय तक निभाया है । वे अपनी लोकप्रियता के कारण चुनाव जीतते रहे और सांसद के रूप में जनता के मुद्दों को उठाते रहे । उन्होनें भ्रष्टाचार और अन्तिम पायदान पर खडे व्यक्ति के लिये संघर्ष किया है। अनेकों भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ वे अन्तिम समय तक लड़ते रहे और सरकारी अधिकारियों में उनकों लेकर भयंकर व्याप्त रहता था और उसी कार्य को आगे बढ़ाते हुए आज ये उत्कृष्ट अभियान शुरू हुआ है । प्रधानमंत्री योजनाओं की चर्चा करते हुए सीएम योगी ने कहा कि ये योजनाएं किसी मजहब को ध्यान में रख कर नहीं बनाई गयी है । उन्होनें कहा कि ये फाउन्डेशन महाराजगंज क्षेत्र में कार्य करे और वहॉ के लोकप्रिय नेता की छवि को बनायें रखने का काम करे और इसके लिये सरकार पूरी मदद करेगी । सम्मानित विभूतियों को साधुवाद और बधाई देते हुए कहा कि इस सम्मान को प्राप्त करने के बाद वे और तेजी से समाज के लिये कार्य करेंगे।

लोकमत अखबार के सम्पादक आन्नद वर्धन सिंह ने अतिथियों का स्वागत करते हुए नामांकन प्रक्रिया की जानकारियां प्रदान की । उन्होनें 15 श्रेणियों, स्क्रीनिंग कमेटी और ज्यूरी के बारे में बताया । आन्नद वर्धन सिंह ने बताया कि यह सम्मान बहुत ही साधारण है जो समाजसेवा करने वालों के लिये समर्पित है ।

स्वर्गीय विधायक हर्ष वर्धन सिंह के सहयोगी रहे ए के सिंह ने उनकें बारे में बतातें हुए कहा कि वे जीवन पर्यंत संघर्ष करते रहे जिससे पूर्वान्चल का हर व्यक्ति परिचित है । हर्ष वर्धन के अन्दर गांधी जैसी शांति और शोर जैसा कलेजा रहता था । उन्होनें अपने बलबूते संघर्ष कर मुकाम प्राप्त किया था । हर्ष वर्धन को याद करते हुए उन्होनें कहा कि उनकीं अन्तिम यात्रा में भीड़ उमड पड़ी और महिलाएं विलाप कर रही थी । वे कभी भ्रष्टाचार सहन नहीं करते थे और इसके लिये उन्होनें अधिकारियों को जेल तक भेजा था । कांग्रेस के विधायक रहते हुए भी कांग्रेस के खिलाफ आवाज़ उठाई थी क्योकिं वे नाइंसाफी बरदाश्त नहीं कर सकते थे ।

हर्ष वर्धन फाउण्डेशन के बारे में बतातें हुए उनकीं पुत्री तथा ईटी नॉउ की कार्यकारी सम्पादक की सुप्रिया श्रीनेत्र ने कहा कि पापा से मैनें लड़ना सीखा क्योकिं वह किसी लड़ाई से कभी परहेज नहीं करते थे । बिना जाति धर्म की परवाह किये उन्होनें जनता की जवाबदेही को हमेशा समझा । मैनें पापा से सीखा कि देश में बहुत से ऐसे लोग है जिनके लिये लड़ने की आज जरूरत है जिसके लिये हर्ष वर्धन फाउण्डेशन का शुभारम्भ किया जा रहा है।

कार्यक्रम के प्रारम्भ में वन्दना प्रस्तुति के बाद प्रमुख वक्ताओं ने समाजिक सरोकार से जुडे विभिन्न बिन्दुओं पर अपने विचार व्यक्त किये। प्रमुख वक्ताओं में प्रथम पूर्व मुख्य सूचना आयुक्त वजाहत हबीबुल्ला, वरिष्ठ वैज्ञानिक पी.के. सेठ, जनरल आर.पी. शाही, सेवानिवृत्त, ए.के. सिंह, यशवंत आदि शामिल रहे। लोकमत सम्मान की विभिन्न श्रेणियों में शिक्षा में शोभीलाल गुप्ता, कुशीनगर, स्वास्थ्य में डा. आर. एन. सिंह, गोरखपुर, पर्यावरण में शैलेन्द्र सिंह, लखनऊ, दिव्यांग में अबू हुबैदा, व आवा आशा स्कूल दोनों लखनऊ, हस्तशिल्प में मो. दिलशाद, सहारनपुर, कला एवं संस्कृति में अंकिता बाजपेई, लखनऊ, क्रीड़ा में अशोक कुमार सिंह, नई दिल्ली, कृषि में प्रार्थ त्रिपाठी, गोण्डा, महिला में आसमा परवीन, कुशीनगर, व्यवसाय में किरन चोपडा, लखनऊ, साहित्य में नीरजा हेमेन्द्र, लखनऊ, प्रशासन में सुतापा सान्याल, लखनऊ, जनसंचार में उत्कर्ष चतुर्वेदी, लखनऊ, सार्वजनिक जीवन में डा. बलमीत कौर, बहराइच को सम्मानित किया गया। यशवंत, सुष्मीता मुखर्जी और सिद्धार्थ नरायण को जूरी अवार्ड से सम्मानित किया गया। इन सभी को मुख्य अतिथि माननीय मुखमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा सम्मानित किया गया ।

रिपोर्ट @शाश्वत तिवारी

loading...
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com