#EarthDay :आपको जरूर जाननी चाहिये ‘पृथ्वी दिवस’ से जुड़ी ये खास बातें

आज पूरा विश्व ‘अर्थ डे’ यानी ‘पृ्थ्वी दिवस’ मना रहा है। पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देने और धरा को थैंक्यू कहने के लिए इस दिन को आज के दिन सेलिब्रेट किया जाता है। आज के दिन पृथ्वी के धैर्य को याद किया जाता है, जिसने इस पूरी दुनिया के बोझ को उठा रखा है।

  • हर साल पूरे विश्व में पृथ्वी दिवस 22 अप्रैल को मनाया जाता है।
  • पृथ्वी दिवस की स्थापना अमेरिकी सीनेटर जेराल्ड नेल्सन के द्वारा 1970 में एक पर्यावरण शिक्षा के रूप में की गयी थी।
  • इस आंदोलन में संकल्प लिया गया कि पृथ्वी को नष्ट होने से बचाया जायेगा और कोई ऐसा काम नहीं किया जायेगा जिससे पर्यावरण को नुकसान पहुंचे।
  • इस आंदोलन का उद्देश्य धरती को प्रदूषण मुक्त रखना है।
  • यह अभियान साल 2000 में ग्लोबल हो गया क्योंकि इस समय लोग इंटरनेट के जरिये पृथ्वी दिवस से जुड़ गये।
  • अमेरिका ‘पृथ्वी दिवस’ को ‘वृक्ष दिवस’ के रूप में मनाता है जिसका मकसद धरा को हरा-भरा रखने से है।
  • पहले पूरी दुनिया में साल में दो दिन (21 मार्च और 22 अप्रैल) पृथ्वी दिवस मनाया जाता था।
  • 1 मार्च को मनाए जाने वाले ‘इंटरनेशनल अर्थ डे’ को संयुक्त राष्ट्र का समर्थन है, पर इसका महत्व वैज्ञानिक और पर्यावरणीय ज्यादा है।
  • पृथ्वी दिवस का मकसद आम इंसान को यह समझाना है कि वो पॉलिथीन और कागज का इस्तेमाल ना करे, पौधे लगाये क्योंकि धरा है तो जीवन है।
  • पृथ्वी की उम्र 4.54 अरब साल है। इसका वजन 5972190000000000 अरब किलोग्राम सूर्य से इसकी दूरी 149,500,000 किलोमीटर है। इस पर करीब 1.4 करोड़ प्रजातियां पाई जाती हैं। इसका जीवनकाल 50 करोड़ साल से 2.3 अरब साल तक माना गया है।