Home > India News > खुले पेशाब करने से मना किया तो कर दी पुलिसवाले की पिटाई

खुले पेशाब करने से मना किया तो कर दी पुलिसवाले की पिटाई

खंडवा : 2 अक्टूबर को जब देश के प्रधानमंत्री देश को पूरी तरह खुले से शौच मुक्त करने के बात कर रहे थे तभी मध्यप्रदेश के खंडवा में एक शख्स को खुले से शौच करने से रोकना पुलिस आरक्षक को भारी पड़ गया। खोले में शौच करने से रोकने पर एक युवक ने आरक्षक पर हमला कर उसे घायल कर दिया। हमला करने वाले युवक के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया गया हैं। खुले में शोंच करने को लेकर देश भर में आओडीएफ मुहीम चलाई जा रही हैं। इस मुहीम की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत दो अक्टूबर 2014 को राजघाट से की थी। इस मिशन को पूरा करने का लक्ष्य राष्ट्रपिता महात्मा गांधी 150वीं जन्मदिन यानी 2 अक्टूबर 2019 तक का रखा गया है।

देशभर में खुले से शौच को लेकर अभियान चलाया जा रहा हैं। सरकार इस अभियान को लेकर बड़े दावे भी कर रही हैं। लेकिन अभी भी लोगों में जागरूकता की कमी हैं। खंडवा में खोले में शौच करने से एक युवक को मना करने पर युवक ने आरक्षक सूरज यादव पर हमला कर दिया।आरक्षक सूरज यादव खंडवा के यातायात थाने में पदस्थ हैं।


आरक्षक सूरज यादव के अनुसार 2 अक्टूबर को स्वछता सम्बन्धी आयोजन में ड्यूटी कर जब वह लोट रहा था। तब उसने एक युवक को उस जगह शौच करते देखा जहां लिखा था की यहाँ पेशाब करना पाना हैं जब उसने युवक को समझने की कोशिश की तो उसने आरक्षक से बहस की और पत्थर से सर पर चोट पहुंचाई। आरक्षक के अनुसार सुबह ही जिला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक ने एक आयोजन में स्वछता की शपथ दिलाई थी। इसी बात से प्ररित होकर उसने युवक को खुले में शौच करने से मना किया कर समझने की कोशिश की थी।

इधर खंडवा पुलिस अधीक्षक डॉ. शिव दयाल सिंह ने अपने आरक्षक की तारीफ करते हुए कहा आरक्षक ने खुले में शौच करने से मना कर अच्छा कार्य किया। आरक्षक ने उसे समझने की कोशिश की लेकिन उसने आरक्षक पर ही हमला कर दिया। हमला करने वाले युवक के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया गया हैं।
@निशात सिद्दीकी

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com