Home > India News > युवा संसद: राफेल के मुद्दे पर पक्ष विपक्ष हुआ आमने सामने

युवा संसद: राफेल के मुद्दे पर पक्ष विपक्ष हुआ आमने सामने

खंडवा : सदन में आज सत्ता पक्ष और विपक्ष के बिच जमकर हंगामा हुआ। विपक्ष ने अरुणाचल में हिंसा से लेकर आतंकी हमले तक सत्ता पक्ष को घेरा। शोर सराबा इतना था की सदन की अध्यक्षया को बार बार सयंम रखने की नशीहत तक देनी पड़ी पर ना पक्ष ने सुनी न विपक्ष ने। विपक्ष ने आरोप लगाया की मौजूदा सरकार सैनिक कार्यवाही और वायु सेना के जवाबज पायलट के वापस आने का श्रेय ले रही है जबकि यह पायलट की वापसी जेनेवा समझौते के तहत हुए हैं। इसी हंगामे के बिच सदन की कार्यवाही को स्थगित कर दिया गया। दरअसल ये सब पंडित कुंजीलाल दुबे राष्ट्रीय संसदीय विद्यापीठ द्वारा आयोजित युवा संसद के मंचन में हुआ। युवा संसद का मंचन माखनलाल राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय के विस्तार परिसर कर्मवीर विद्यापीठ में किया गया। इस आयोजन का मकसद युवाओं को संसद की कार्यवाही से अवगत करा कर युवाओं नेतर्त्व क्षमता को बढ़ाना हैं।

आप ने संसद की कार्यवाही देखी होगी। संसद में सांसद किस तरह प्रश्नो को उठाते हैं। कैसे विपक्ष सवाल करता हैं या सत्ता पक्ष कैसे अपनी योजनाओ या अपने किये कामों को सदन में रखता हैं। संसद के सदन की यही कार्यवाही से युवाओं को अवगत करने के लिए हर वर्ष पंडित कुंजीलाल दुबे राष्ट्रीय संसदीय विद्यापीठ युवा संसद का नाट्य मंचन करता हैं। इस नाट्य मंचन में स्कुल और कॉलेज के छात्र छात्राएं हिस्सा लेती हैं। इस आयोजन का सीधा मकसद है युवाओ में नेतृत्व क्षमता को बढ़ा कर युवाओं को देश की राजनीति से अवगत करना हैं।

सेट तो युवा संसद के मंचन का था पर इस नाटकय मंचन में भी आप को हकीकत की झलक नजर आएगी। युवा संसद में कोई प्रधानमंत्री बना तो किसी ने विपक्ष की भूमिका निभाई। विपक्ष में बैठे छात्रों नेताओं ने सत्ता पक्ष में बैठे मंत्रियो को हर मुद्दे पर खूब घेरा। विपक्ष ने पश्न काल में सत्ता पक्ष से सवाल किया की अरुणाचल प्रदेश में हिंसा क्यों नहीं रुक रही इसका जवाब जब सत्ता पक्ष ने देना शुरू किया तभी विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया हंगामा तब और बढ़ गया जब राफेल का पर सत्ता पक्ष और विपक्ष आपने सामने हो गए । उसके बाद शून्य कल में पुलवामा के शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए विपक्ष ने सत्ता पक्ष पर आरोप लगाया की सत्ता पक्ष से सुरक्षा में चूक हुई हैं साथ यह भी आरोप लगाया कि सत्ता पक्ष जांबाज पायलट की स्वदेश वापसी का श्रेय लेना चाहता हैं जबकि हमारे पायलट की वापसी जेनेवा समझौते के तहत हुई है। विपक्ष के नेता ने पाकिस्तान सरकार की निंदा भी की।

वही सत्ता पक्ष की विपक्ष को कमजोर बताते हुए उनके हर सवाल के जवाब में उनसे 70 सालों का हिसाब माँगा। सत्ता पक्ष की और से रक्षा मंत्री का सीतारमण का किरदार निभा रही शिखा मिश्रा ने राफेल डील पर सत्ता पक्ष का पक्ष रखते हुए राफेल सौदे को सही बताया। वही रेल मंत्री का किरदार निभा रहे छात्र महेश तिवारी ने विपक्ष के हर सवालों का पुरे जोश से जवाब दिया।

युवा संसद के इस मंचीय आयोजन का सत्र भी असल संसद की तरह हंगामेदार रहा। इस नाटकीय सत्र में हंगामे के चलते कोई भी बिल पास नहीं हो सका। अंत में इस युवा संसद को अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया गया।

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com