MP : मुंबई में फंसे लोगों के लिए भाजपा विधायक ने सोनू सूद से मांगी मदद, कांग्रेस ने कसा तंज

शिवराज सरकार में पूर्व मंत्री रहे राजेंद्र शुक्ला रीवा से विधायक हैं। कैबिनेट विस्तार में राजेंद्र फिर से मंत्री पद के दावेदार हैं। सरकार में हैसियत भी अच्छी है। शिवराज के करीबी भी माने जाते हैं। इनके क्षेत्र के लोग मुंबई में फंसे हैं। उनकी घर वापसी के लिए विधायक राजेंद्र शुक्ल ने सोनू सूद से मदद मांगी है।

भोपाल : पश्चिम बंगाल के फंसे प्रवासी को उनके राज्य वापस भेज कर शिवराज सरकार वाहवाही लूट रही है। अपने राज्य के प्रवासी मुंबई में फंसे हैं, तो उनकी कोई सुध नहीं ले रहा है। प्रवासियों को वापस लाने की कलई सरकार पूर्व मंत्री और बीजेपी विधायक ने ही खोल दी है। विधायक के इलाके के लोग मुंबई में फंसे हुए हैं।

उन्होंने फंसे हुए लोगों की घर वापसी के लिए अभिनेता सोनू सूद से मदद मांगी है। इस पर कांग्रेस लाल हो गई है।

दरअसल, एमपी में बीजेपी की सरकार है। शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री हैं। प्रवासी मजदूरों की वापसी के लिए सरकार ने बहुत प्रयास किए हैं। उसके बावजूद भी मुंबई और दिल्ली जैसे शहरों एमपी के हजारों लोग फंसे हुए हैं।

शिवराज सरकार में पूर्व मंत्री रहे राजेंद्र शुक्ला रीवा से विधायक हैं। कैबिनेट विस्तार में राजेंद्र फिर से मंत्री पद के दावेदार हैं। सरकार में हैसियत भी अच्छी है। शिवराज के करीबी भी माने जाते हैं। इनके क्षेत्र के लोग मुंबई में फंसे हैं। उनकी घर वापसी के लिए विधायक राजेंद्र शुक्ल ने सोनू सूद से मदद मांगी है।

ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि क्या इनकी सरकार इनके क्षेत्र के लोगों को वापस लाने में अक्षम है। या फिर इनकी सरकार में सुनी नहीं जा रही है। राजेंद्र शुक्ला ने मंगलवार देर रात सोनू सूद को मदद के लिए ट्वीट किया।

रीवा विधायक ने करीब 3 दर्जन लोगों के नामों की सूची के साथ लिखा कि सोनू सूद जी ये रीवा/सतना एमपी निवासी काफी दिनों से मुंबई में फंसे हुए हैं और अभी तक वापस नहीं पहुंच पाए हैं। कृपया इनको वापस लाने में हमारी मदद करें।

सोनू सोदू ने विधायक राजेंद्र शुक्ला को जवाब देते हुए लिखा कि सर, अब कोई भाई कहीं नहीं फंसेगा। आपके प्रवासी भाई कल आपके पास भेज देंगे सर। कभी एमपी आया तो पोहा जरूर खिलाना।

वहीं, सोनू सूद से मदद की मांग पर कांग्रेस ने बीजेपी पर हमला किया है। कांग्रेस नेत्री अलका लांबा ने लिखा है कि आंखों पर यकीन नहीं होता कि जो खुद विधायक और पूर्व मंत्री भी रहा है। मध्यप्रदेश और देश में इन्हीं की सरकार है, सीएम/पीएम इन्हीं की पार्टी के हैं। महाराष्ट्र में भी इनके सांसद और विधायक हैं, फिर भी मदद सोनू सूद से मांग रहे हैं। थोड़ी भी शर्म हो तो इस्तीफा देकर घर बैठ जाओ, बेहतर होगा।

एमपी कांग्रेस के कद्दावर नेता अरुण यादव ने लिखा कि एमपी की कड़वी सच्चाई को उजागर करता राजेंद्र शुक्ला जी का ट्वीट। शिवराज जी देख लीजिए पूर्व मंत्री और वर्तमान रीवा से बीजेपी विधायक को आपकी सरकार पर भरोसा नहीं रहा तो उन्हें मुंबई में फंसे प्रवासी मजदूरों के लिए मजबूरी में एक्टर सोनू सूद से मदद लेनी पड़ रही है।