17.1 C
Indore
Tuesday, January 31, 2023
Home Blog

IND vs SL Live Streaming: भारत-श्रीलंका के बीच तीसरा टी20 आज

IND vs SL Live Streaming भारत और श्रीलंका के बीच आज तीन टी20 इंटरनेशनल मैचों की सीरीज का तीसरा व अंतिम मुकाबला खेला जाएगा। दोनों टीमें मौजूदा सीरीज में 1-1 की बराबरी पर हैं। जानें इस मैच का लाइव प्रसारण कब कहां और कैसे देखें। भारत और श्रीलंका के बीच आज तीन टी20 इंटरनेशनल मैचों की सीरीज का तीसरा व अंतिम मुकाबला खेला जाएगा। दोनों टीमें इस समय सीरीज में 1-1 की बराबरी पर हैं। जो आज विजेता बनेगा, सीरीज उसके नाम होगी।

हार्दिक पांड्या के नेतृत्‍व वाली भारतीय टीम ने मुंबई में खेले गए पहले टी20 इंटरनेशनल में 2 रन से जीत दर्ज की थी। इसके बाद दासुन शनाका के नेतृत्‍व वाली श्रीलंका ने गजब की वापसी की और 16 रन से जीत दर्ज करके सीरीज बराबर की।

भारत और श्रीलंका के बीच तीसरा टी20 इंटरनेशनल रोमांचक होने की उम्‍मीद है क्‍योंकि दोनों टीमें जीत के लिए अपना पूरा जोर लगाएंगी। ऐसे में चलिए जानते हैं कि इस मैच का लाइव प्रसारण व स्‍ट्रीमिंग कब, कहां और कैसे देखें।

# कब होगा भारत और श्रीलंका के बीच तीसरा T20I मैच? (When IND vs SL 3rd T20I to be played)

भारत और श्रीलंका के बीच तीसरा T20I मैच 7 जनवरी, शनिवार को होगा।

कहां होगा भारत और श्रीलंका के बीच तीसरा T20I मैच? (Where IND vs SL 3rd T20I to be played)

भारत और श्रीलंका के बीच दूसरा T20I मैच राजकोट के सौराष्‍ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में होगा।

कितने बजे शुरू होगा भारत और श्रीलंका के बीच तीसरा T20I मैच? (IND vs SL 3rd T20I IST)

भारत और श्रीलंका के बीच तीसरा T20I मैच शाम 7 बजे शुरू होगा। टॉस शाम 6.30 बजे होगा।

कहां देख सकते हैं भारत और श्रीलंका के बीच तीसरा T20I मैच?

भारत और श्रीलंका के बीच तीसरा T20I मैच स्‍टार स्पोर्ट्स नेटवर्क पर देख सकते हैं जबकि इसकी लाइव स्ट्रीमिंग हॉटस्टार पर देखी जा सकती है। इसके अलावा मैच से जुड़ी हर अपडेट आप दैनिक जागरण की वेबसाइट पर पढ़ सकते हैं।

पिनाराई विजयन सरकार पर फूटा त्रिशूर कैथोलिक चर्च का गुस्सा, कहा- “नए केरल का सपना सिर्फ सपना रह जाएगा”

केरल के कैथोलिक चर्च त्रिशूर सूबा ने केरल सरकार को फटकार लगाते हुए कहा है कि उनके फैसले जनता के लिए सिर्फ मुश्कीलें खड़ी करती हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि फैसले लेने वाले जनता की भावनाओं को नहीं समझते हैं।

कैथोलिक चर्च त्रिसूर सूबा ने केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन को जमकर फटकार लगाई है। त्रिसूर सूबा ने निष्कर्ष निकाला है कि पिनाराई विजयन ने केरल को एक ऐसे राज्य में बदल दिया है जहां भगवान की महिमा और लोगों में शांति गायब हो चुकी है। हर नए साल के मौके पर चर्च की ओर से एक प्रकाशन निकाला जाता है जिसमें किसी भी समस्या के बारे में लिखा जाता है इस बार की संपादकीय में यही विषय रहा है।

“सरकार जनता की जरूरतें नहीं समझती”

इस बार संपादकीय का शीर्षक ‘शांति बनाए रखने के लिए सरकार की भूमिका’ है। इसमें विजयन सरकार के प्रति असंतोष को जाहिर किया गया है। इसमें कई अहम मुद्दों के बारे में बात की गई है। जैसे कि विजयन सरकार की जनता से दूरी, विझिंजम बंदरगाह को लेकर प्रदर्शन, बफर जोन और बैक डोर नियुक्तियां ने शासन पर गंभीर सेंध लगाई है। इसमें साफ-साफ कहा गया है कि विजयन सरकार द्वारा लिए जा रहे फैसले लोगों के मन में अशांति पैदा कर रही है। ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि फैसला लेने वाले यहां के लोगों की जरूरतों को नहीं समझ सके हैं।

अभद्र टिप्पणी पर सिद्धारमैया की सफाई, कहा- ‘मेरा इरादा CM बोम्मई का अपमान करना नहीं था’

Karnataka News कर्नाटक में नेता प्रतिपक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा कि सीएम मुझे तगारू (भेड़) और हुली (बाघ की तरह) कहते हैं क्या इसे भी अपमान माना जाएगा? ग्रामीण क्षेत्रों में जानवरों और पेड़ों की तुलना आम है और मैंने उस संदर्भ में वह बात कही थी।

कर्नाटक में नेता प्रतिपक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई पर की गई टिप्पणी को लेकर सफाई दी है। उन्होंने कहा कि मैंने उन पर कोई आपत्तिजनक टिप्पणी नहीं की थी। इसे गलत समझा गया है। मेरा इरादा सीएम का अपमान करना नहीं है। मैंने उन्हें कहा कि उनमें राष्ट्रीय नेताओं के सामने बोलने का साहस होना चाहिए। राज्य की बेहतरी के लिए उन्हें संघ के नेताओं से डटकर बात करनी चाहिए। बहादुर होकर काम करना चाहिए।

अपनी सफाई में सिद्धारमैया ने आगे कहा कि वे भी मुझे तगारू (भेड़) और हुली (बाघ की तरह) कहते हैं, क्या इसे भी अपमान माना जाएगा? ग्रामीण क्षेत्रों में जानवरों और पेड़ों की तुलना आम है और मैंने उस संदर्भ में वह बात कही थी।

‘मैं हिंदू विरोधी कैसे हो सकता हूं’- सिद्धारमैया

सिद्धारमैया ने अपनी सफाई में आगे कहा कि जब मैं हिंदू हूं तो मैं हिंदू विरोधी कैसे हो सकता हूं? मैं हिंदू हूं लेकिन मैं हिंदुत्व का विरोध करता हूं। मैं हिंदुत्व के नाम पर राजनीति करने का विरोध करता हूं। संविधान में यह उल्लेख किया गया है कि सभी धर्म समान हैं। कर्नाटक में आगामी चुनाव को देखते हुए जुबानी जंग तेज हो गई है और इसी को देखेत हुए सिद्धारमैया ने सीएम बोम्मई और अन्य नेताओं के प्रति आपत्तिजनक टिप्पणी की थीं। उन्होंने कहा था की ये सभी नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने कांपते हैं।

सिद्धारमैया ने की थी अभद्री टिप्पणी

पूर्व सीएम व वरिष्ठ कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने अपने बयान में कहा था कि कर्नाटक के सभी नेता प्रधानमंत्री के सामने कांपते हैं। इससे पहले, जेडीएस नेता व कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी ने गृह मंत्री अमित शाह को लेकर एक विवादित बयान दिया था। उन्होंने अमित शाह की तुलना नाजी प्रचारक जोसेफ गोएबल्स से कर दी थी, जो प्रोपेगेंडा करता था।

Pakistan Economy: नकदी संकट से जूझ रहा पाक, हाथ पसार रहे शहबाज; ऋण के लिए IMF से की बात

नकदी संकट से जूझ रहे पाकिस्तान के हालात सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। ऐसे में प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) की प्रमुख क्रिस्टालिना जॉर्जीवा से बातचीत की। ऐसे में दोनों नेताओं के बीच ऋण मुद्दे पर चर्चा हुई।
पाकिस्तान लंबे समय से आर्थिक परेशानियों से जूझ रहा है। ऐसे में प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) की प्रमुख क्रिस्टालिना जॉर्जीवा से बातचीत की। शहबाज शरीफ ने एक बिजनेस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए इस बात की पुष्टि की कि उन्होंने क्रिस्टालिना जॉर्जीवा से फोन पर बात की। इस दौरान उन्होंने ऋण के मुद्दे पर चर्चा की।

बता दें कि बाढ़ पीड़ितों के लिए आयोजित जेनेवा कार्यक्रम के मौके पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और आईएमएफ प्रमुख की आमने-सामने बैठक होने वाली है लेकिन इस बैठक के पहले ही दोनों नेताओं की बातचीत हुई।

प्रतिनिधिमंडल को पाक भेजे IMF

उन्होंने बताया कि मैंने आईएमएफ से कहा है कि हम अपनी जनता पर अधिक बोझ नहीं डाल सकते। मैंने यह भी आग्रह किया कि आईएमएफ को बातचीत के लिए अपने प्रतिनिधिमंडल को पाकिस्तान भेजना चाहिए। हालांकि शहबाज शरीफ ने बाद में यह बताया कि विभिन्न मुद्दों पर चर्चा के लिए अगले तीन या चार दिनों में प्रतिनिधिमंडल आ सकता है।

नई किस्त देने दिया था इनकार

आईएमएफ ने पाकिस्तान को पहले से सहमत ऋण की नई किस्त जारी करने से इनकार कर दिया। क्योंकि पाकिस्तान अपने वादे पर खरा नहीं उतरा था। जिसकी वजह से पाकिस्तान को और अधिक धन नहीं मिल पाया। दरअसल, साल 2019 की शुरुआत में आईएमएफ कार्यक्रम पर सहमति बनी थी। ऐसे में शहबाज शरीफ ने इस गतिरोध को समाप्त करने का आग्रह किया है। पाकिस्तान और आईएमएफ के बीच पिछले साल 18 नवंबर को कई दौर की बातचीत हुई थी।

इससे पहले शहबाज शरीफ ने कहा था कि नकदी की कमी से जूझ रही अर्थव्यवस्था को फिर से खड़ा करने के लिए उनकी सरकार के पास आईएमएफ के कार्यक्रम को लागू करने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।

Prince Harry: प्रिंस हैरी ने 25 आतंकियों को मारने का किया दावा

तालिबान बोला- वे भी इंसान थे

Prince Harry ब्रिटेन के प्रिंस हैरी की बायोग्राफी द स्पेयर इन दिनों चर्चा में है। हैरी ने दावा किया है कि अफगानिस्तान में तैनाती के दौरान उन्होंने 25 आतंकियों को मारा था। तालिबान इस खुलासे से बौखला गया है।

ब्रिटेन के प्रिंस हैरी की बायोग्राफी ‘द स्पेयर’ ने इन दिनों पूरी दुनिया में हड़कंप मचा कर रख दिया है। इसमें प्रिंस ने कई चीजों के अलावा यह भी दावा किया कि उन्होंने अफगानिस्तान में सैन्य तैनाती के दौरान बतौर सैनिक तालिबान के कम से कम 25 आतंकियों को मार गिराया था। अब तालिबान ने उनके इस दावे की खुले तौर पर आलोचना की है।
शतरंज के मोहरे नहीं थे जिन्हें हैरी ने मारा

तालिबान के अंतरिम प्रशासन ने हैरी के कार्यों को ‘युद्ध अपराध’ बताया और उनके बयानों की कड़ी निंदा की। तालिबान नेता अनस हक्कानी ने ट्विटर पर लिखा कि हैरी ने जिन्हें मारा, वे शतरंज के मोहरे नहीं थे, वह इंसान थे। उनके परिवार थे जो उनकी वापसी की प्रतीक्षा कर रहे थे। अफगानों के हत्यारों में से बहुतों में इस तरह की विवेक प्रकट करने शालीनता नहीं है। नेता ने आगे कहा कि प्रिंस अपने युद्ध अपराधों को स्वीकार करें।

अफगानिस्तान में मानवीय संकट

दूसरी ओर, हक्कानी के बयान ने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मीडिया से कई प्रतिक्रियाएं प्राप्त कीं, जिन्हें विरोधी बयानों के रूप में देखा जा रहा है, क्योंकि अफगानिस्तान में तालिबान के अत्याचारी शासन ने देश में एक गंभीर मानवीय संकट पैदा कर दिया है। तालिबान ने पिछले महीने अफगानिस्तान में सभी छात्राओं के लिए विश्वविद्यालय शिक्षा पर भी पाबंदी लगा दी थी, जिसकी दुनिया भर में निंदा हो रही है।

2021 से अफगानिस्तान पर कब्जा

जब से तालिबान ने 15 अगस्त, 2021 को अफगानिस्तान पर कब्जा किया है, तब से अंतरराष्ट्रीय समुदाय युद्धग्रस्त देश में लोगों की स्थिति पर चिंता जता रहा है। वह तालिबान द्वारा देश में बुनियादी मानवाधिकारों का सम्मान करने का आह्वान कर रहा है।
आतंकी गतिविधि बढ़ी

युद्धग्रस्त देश में विस्फोट और आतंकवादी गतिविधियां भी नियमित हो गई हैं, जिससे लोग पीड़ित हैं। सहायता के बावजूद, अफगानिस्तान की गरीबी, कुपोषण और बेरोजगारी की दर अभी भी देश में अपने चरम पर है। प्राकृतिक आपदाओं ने अफगानों के लिए स्थिति को और भी बदतर बना दिया है। यहां के लोग इतिहास के सबसे बड़े मानवीय संकटों में से एक का सामना कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने प्रवासी भारतीय दिवस की तैयारियों की वीडियो कॉन्फ्रेसिंग से की समीक्षा

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि इन्दौर में 8 से 10 जनवरी तक प्रवासी भारतीय दिवस के कार्यक्रम का आयोजन ऐसा हो कि लोग याद रखें। प्रवासी भारतीय अच्छी स्मृतियाँ लेकर वापस जाएँ। कार्यक्रम में कोई कमी नहीं छोड़ी जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज रात्रि में निवास से प्रवासी भारतीय दिवस की तैयारियों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से अंतिम समीक्षा कर रहे थे। कॉन्फ्रेसिंग में अपर मुख्य सचिव श्री मोहम्मद सुलेमान ने तैयारियों की जानकारी दी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह आयोजन प्रवासी भारतीयों के समक्ष मध्यप्रदेश की खूबियाँ बताने का दुर्लभ अवसर है। हमारी कोशिश होनी चाहिए कि कार्यक्रम जीरो डिफेक्ट के साथ हो। व्यवस्थाओं के संबंध में अगर कोई बात ध्यान में आती है तो तत्काल मुझे अवगत कराएँ, जिससे उसे समय पर पूरा किया जा सके। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ग्लोबल गार्डन का कार्यक्रम 8 जनवरी को करें, जिसमें पौधे लगाने का कार्य होगा। उन्होंने कहा कि योगा का कार्यक्रम 10 जनवरी को करें। प्रवासी भारतीय दिवस के कार्यक्रम में 9 जनवरी को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और 10 जनवरी को राष्ट्रपति श्रीमती द्रोपदी मुर्मु का आगमन होगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कार्यक्रम की तैयारियों पर संतोष व्यक्त किया और टीम मध्यप्रदेश को बधाई भी दी। उन्होंने कहा कि सभी लोग अपने कर्त्तव्य-पथ पर डटे हुए हैं। अगर कोई आवश्यकता हो तो मैं फोन पर भी उपलब्ध रहूंगा।

अपर मुख्य सचिव श्री मोहम्मद सुलेमान ने अवगत कराया कि इन्दौर शहर की साफ-सफाई हो गई है। शहर के सौंदर्यीकरण का कार्य भी पूरा हो गया है। कार्यक्रम में युवाओं को आमंत्रित किया गया है। सांस्कृतिक कार्यक्रम और प्रदर्शनी की व्यवस्थाएँ भी पूरी कर ली गई हैं। विभिन्न व्यवस्थाओं के प्रभारी अधिकारी और लाइजनिंग अधिकारी अपने-अपने कार्यों का अच्छे से निर्वहन कर रहे हैं।

Drishyam 2 Collection Day 50: अजय देवगन की ‘दृश्यम 2’ कर रही धुंआधार कलेक्शन


Drishyam 2 Box Office Collection Day 50 अजय देवगन की दृश्यम 2 अभी भी सिनेमाघरों में जबरदस्त कमाई कर रही है। फिल्म को रिलीज हुए 50 दिन पूरे हो गए हैं और इसके कलेक्शन में लगातार इजाफा हो रहा है।
Drishyam 2 Box Office Collection Day 50: अजय देवगन की ‘दृश्यम 2’ बॉक्स ऑफिस पर तूफानी कमाई कर रही है। फिल्म को रिलीज हुए 50 दिन पूरे हो चुके हैं और इतने दिनों में इसने धमाकेदार प्रदर्शन करके साबित कर दिया है कि सिनेमाघरों में सिर्फ और सिर्फ दमदार स्क्रिप्ट वर्क करती है। 18 नवंबर को रिलीज हुई इस फिल्म के आगे कोई भी दूसरी मूवी टिक नहीं पाई, चाहे वरुण धवन की ‘भेड़िया’ हो या रोहित शेट्टी की ‘सर्कस’।

दृश्यम 2 का चला जादू

‘दृश्यम 2’ को ओटीटी प्लेटफॉर्म अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज कर दिया गया है। फिल्म अभी हिंदी में रिलीज नहीं हुई है और अन्य भाषा में भी इसे देखने के लिए आपको जेब ढीली करनी होगी यानी ये अभी रेंटल है और 26 जनवरी तक इसके फ्री स्ट्रीमिंग की उम्मीद की जा रही है। हालांकि ओटीटी पर आने के बावजूद इसे लोग सिनेमाघर में देखना पसंद कर रहे है। इसकी कमाई बदस्तूर जारी है।

50 दिन में की इतनी कमाई

बॉक्स ऑफिस पर ‘दृश्यम 2’ ने रिलीज को 50 दिन पूरे कर लिए हैं। फिल्म ने पहले दिन ही साबित कर दिया था कि ये लंबी रेस का घोड़ा होगी और ऐसा हुआ भी। ‘दृश्यम 2’ ने अब तक 7 हफ्तों में 236.75 करोड़ रुपये की कमाई कर ली है। आने वाले दिनों में इसके 240 करोड़ तक पहुंचने की उम्मीद की जा रही है। दुनियाभर में इस फिल्म ने 330 करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया है।

अभी बाकी है उम्मीद

बता दें कि इस जनवरी महीने की सबसे बड़ी रिलीज शाह रुख खान और दीपिका पादुकोण की पठान है, जो कि 25 जनवरी को रिलीज हो रही है। तब तक दृश्यम 2 के लिए मैदान खाली है और इसकी कमाई बढ़ने की पूरी उम्मीद की जा रही है।

सफल युवा उद्यमियों का प्रदेश हित में करेंगे उपयोग : मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि स्टार्टअप से जुड़े प्रदेश के युवाओं की प्रतिभा का प्रदेश हित में उपयोग किया जाएगा। ये सफल उद्यमी अपनी तरह अन्य युवाओं को स्वयं के उद्योग व्यवसाय प्रारंभ करने के लिए तैयार करेंगे। प्रदेश की युवा नीति के निर्माण में भी स्टार्टअप से जुड़े सफल युवाओं सहित अन्य युवाओं से प्राप्त सुझावों को आधार बनाया जाएगा। प्रदेश की युवा नीति सुविचारित होगी। इसे अंतिम रूप देने के पहले महत्वपूर्ण सुझावों को शामिल किया जाएगा। यह नीति इस माह घोषित होनी थी, लेकिन इसे फरवरी माह में सामने लाया जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रवासी भारतीय दिवस और ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के प्रति युवा भी उत्साहित हैं। इन कार्यक्रमों में युवा बड़ी संख्या में शामिल हो रहे हैं। प्रदेश की प्रतिभाओं को कुंठित नहीं होने दिया जाएगा। जीआईएस में विभिन्न क्षेत्रों में संभावित निवेश का आकलन कर कुशल मानव संसाधन तैयार करने का कार्य होगा। औद्योगिक संस्थानों द्वारा युवाओं को प्रशिक्षण दिलवाने पर भी ध्यान दिया जाएगा। प्रदेश में करीब 2600 स्टार्टअप्स पंजीकृत हैं। साथ ही 40 से अधिक इन्क्यूबेटर्स काम कर रहे हैं। प्रदेश की स्टार्टअप पॉलिसी आने के बाद 11 माह में अच्छे परिणाम सामने आए हैं। एक हजार से अधिक स्टार्टअप बेटियाँ लीड कर रही हैं। नई नीति में स्टार्टअप्स को सहायता भी मंजूर की गई है। अनेक युवाओं ने अपने परिश्रम और प्रतिभा के बल पर शासन द्वारा उपलब्ध लाभकारी प्रावधानों का उपयोग कर सफलता हासिल की है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जबलपुर और इन्दौर में इण्डस्ट्रियल पार्क विकसित करने, शिक्षा के क्षेत्र में सेवाभावी संस्थाओं का सहयोग बढ़ाने, प्रदेश के विशेष उत्पादों और मोटे अनाजों की ब्रांडिंग और निर्यात का कार्य बढ़ाने, प्राकृतिक खेती से अधिकाधिक किसानों को जोड़ने का कार्य किया जाएगा। युवाओं के व्यक्तित्व विकास के लिए विभिन्न उपायों को लागू किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि करीब 15 वर्ष पूर्व इन्दौर में आईटी पार्क बन्द पड़ा था। इसे प्रारंभ करने के साथ ही सुपर कॉरिडोर के बनने और विभिन्न क्षेत्रों में निवेश आने से युवाओं को बड़ी संख्या में रोजगार मिलेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ध्यान से सुने युवाओं के सुझाव

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज अनेक सफल युवाओं से चर्चा की जो विभिन्न क्षेत्रों में स्टार्टअप से जुड़े हैं, इनमें चाय-सुट्टा बार के अनुभव दुबे, आनंद नायक, राहुल पाटीदार, किराना शॉप के तनुतेजस सारस्वत, रैक बैंक के नरेन्द्र सेन, मुस्कान ड्रीम के अभिषेक दुबे, सुपर सोर्सिंग के मयंक प्रताप सिंह और अदिति चौरसिया और के. स्टार के कुणाल शामिल हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने केलीफोर्निया में सफलतापूर्वक व्यवसाय कर रहे कुणाल से भी वीडियो काल पर बातचीत की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इन युवा उद्यमियों के विचार और सुझावों को ध्यान से सुना। अनुभव ने बताया कि उन्हें चाय बेचने का नया आइडिया आया और उन्होंने चाय सुट्टा-बार शुरू कर दिया। दोस्त राहुल पाटीदार ने उन्हें ज्वाइन किया। यह आइडिया भारत की पारंपरिक चाय-कॉफी को बार टेबिल पर परोसने के रूप में क्रियान्वित हुआ। सतना के रहने वाले ये दोनों दोस्त इन्दौर में पढ़ाई के बाद स्टार्टअप से जुड़े। तनुतेजस सारस्वत ने बताया कि वे शॉप किराना से पंद्रह सौ लोगों की टीम के साथ 15 शहर में करीब एक लाख छोटी दुकानें संचालित कर रहे हैं। इसी तरह नरेन्द्र सेन रैक बैंक के माध्यम से आईटी क्षेत्र में सेवाएँ दे रहे हैं। मुस्कान ड्रीम के माध्यम से अभिषेक एक लाख बच्चों के बीच काम कर रहे हैं। वे स्कूली बच्चों को डिजिटली ज्ञान देने के साथ ही शिक्षकों को भी डिजिटली साक्षर बनाने का कार्य कर रहे हैं। सुपर सोर्सिंग देशभर में स्टार्टअप कंपनियों के लिए टेक कर्मचारियों को हायर करने का प्रमुख प्लेटफार्म बन गया है। इसी तरह किमिरिका की शुरुआत करने वाले रजत और मोहित ने भारत के बड़े होटलों में उपयोग किए जाने वाले सामानों के निर्माता और सप्लायर की पहचान बनाई है। ये सभी युवा 20-22 साल से लेकर 30-32 साल की उम्र के हैं।

युवा उद्यमियों ने दिए अभिनव सुझाव

मुख्यमंत्री श्री चौहान से चर्चा में स्टार्टअप से जुड़े युवाओं ने अभिनव सुझाव दिए। युवाओं ने बताया कि वे प्रवासी भारतीय दिवस कार्यक्रम और जीआईएस में भागीदारी करेंगे। इन आयोजनों से युवाओं में उत्साह का वातावरण बना है। युवाओं में उद्यमिता का विकास आवश्यक है। इसके लिए अलग विश्वविद्यालय होना चाहिए। चण्डीगढ़ इस तरह की यूनिवर्सिटी है। सफल युवा उद्यमियों का मानना है कि कॉलेज स्तर पर ऐसे विषय हों, जो उद्यमिता की भावना बढ़ाएँ। छात्राओं को भी आवश्यक मार्गदर्शन मिले। छोटे नगरों और कस्बों से आने वाली छात्राओं को इन्दौर जैसी अधो-संरचना उपलब्ध करवाई जा सकती है। इन्क्यूबेशन सेंटर शहरों तक सीमित न हों, ग्रामों में भी बनें। ग्रामीण युवाओं को इन्टर्नशिप से जोड़ा जाए। कक्षा 11वीं और 12वीं के अध्ययन के दौरान अभिरूचि के अनुरूप स्टार्टअप के चयन के लिए भी विद्यार्थियों को मार्गदर्शन दिया जाए। वे अध्ययन के दौरान स्थानीय व्यवसायियों और उद्यमियों के साथ भी भेंट और चर्चा करें। युवाओं को फाइनेंशियल स्तर पर बातचीत और व्यवहार करने के संबंध में दक्ष किया जाना चाहिए। युवा उद्यमियों ने कहा कि यह आवश्यक है कि स्किल पार्क भोपाल के अलावा अन्य स्थानों पर भी खोले जाएँ। हैदराबाद और बैंगलुरु में मध्यप्रदेश के बहुत से युवा कार्य कर रहे हैं। मध्यप्रदेश में उन्हें अनुकूल वातावरण मिले तो वे यहाँ रहना चाहेंगे। औद्योगिक स्थानों में बच्चों को प्रशिक्षण देने का कार्य किया जाए। सीएम राइज विद्यालय की अवधारणा प्रशंसनीय है। सामाजिक क्षेत्र में उद्यमिता के विकास के लिए कार्य होना चाहिए। देश की मूलभूत समस्याओं के समाधान के लिए युवाओं का मार्गदर्शन लिया जाए। यह भी सुझाव सामने आया कि ब्रांड एमपी का झोला घर-घर पहुँचना चाहिए। किराना की दुकानों पर किसानों के लिए उपयोगी समान बेचने की पहल की गई है। ऐसे प्रयासों से सफलता मिली है। आर्गेनिक फूड की बढ़ती माँग के मद्देनजर प्रदेश में उपलब्ध इसकी संभावनाओं का दोहन किया जा सकता है। युवाओं से चर्चा में अटल बिहारी वाजपेयी सुशासन एवं नीति विश्लेषण संस्थान के अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री लोकेश शर्मा उपस्थित थे।

छेरछेरा पर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने गली-गली घूमकर मांगा दान

छेरछेरा पर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने गली-गली घूमकर मांगा दान

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल

मुख्यमंत्री को देख मठपारा के बच्चों, महिलाओं, बुजुर्गों ने घर से निकलकर बढ़-चढ़ कर दिया दान

छेरछेरा पुन्नी मेला में दूधाधारी मठ जाकर मुख्यमंत्री ने किए भगवान के दर्शन

छेरछेरा पुन्नी मेला

दूधाधारी मठ जाकर मुख्यमंत्री ने किए भगवान के दर्शन

रायपुर के मठपारा की सड़कों पर शुक्रवार को अलग नजारा देखने को मिला, जब मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल हाथ में झोला लिए गली-गली दान मांगते नजर आए, मौका था छेरछेरा त्यौहार का। मुख्यमंत्री ने करीब आधे घंटे तक गलियों में घूम-घूम कर सभी से दान लिया। मुख्यमंत्री श्री बघेल को देखकर मठपारा के निवासी घरों से निकलकर बाहर आए और उनके झोले में अनाज, सब्जी आदि दान स्वरूप डाली। दान देने वालों में छोटे-छोटे बच्चे, महिलाएं, बुजुर्ग बड़े उत्साह से शामिल हुए। इस दौरान मुख्यमंत्री ने भी वहां मौजूद बच्चों को दान स्वरूप राशि भेंट की ।

श्री भूपेश बघेल हाथ में झोला लिए गली-गली दान मांगते नजर आए

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार को छेरछेरा पर्व के अवसर पर दूधाधारी मठ पहुंचकर भगवान के दर्शन किए और पूजा-अर्चना कर प्रदेशवासियों के लिए सुख समृद्धि की कामना की। इस अवसर पर श्री बघेल ने सभी को छेरछेरा की बधाई देते हुए कहा कि छेरछेरा का पर्व हमें बड़ा संदेश देता है क्योंकि इस दिन दान दिया जाता है और दान लिया भी जाता है। दान देना उदारता और दान लेना अहंकार को नष्ट करने का प्रतीक है। छेरछेरा में दान की राशि जनकल्याण में खर्च की जाती है।

छेरछेरा का पर्व हमें बड़ा संदेश देता है

छत्तीसगढ़ के अन्य तीज-त्यौहारों को हर्षोल्लास

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि हमारी सरकार ने सभी तीज त्योहारों पर छुट्टी दी। हम मुख्यमंत्री निवास में सभी त्योहारों को मनाते हैं, जैसे तीजा, पोरा, हरेली और छत्तीसगढ़ के अन्य तीज-त्यौहारों को हर्षोल्लास के साथ मनाया जाने लगा है। उन्होंने कहा कि किसान खेत में फसल की पैदावार और सभी के लिए भोजन की व्यवस्था करते हैं। अन्नदाता किसान समेत सभी वर्ग अनाज को दान करते है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भगवान बालाजी की कृपा से इस साल बहुत अच्छी पैदावार हुई है, अब तक 85 लाख मीट्रिक टन धान खरीदा जा चुका, और एक भी किसान की शिकायत नहीं आयी। सभी किसानों को तत्काल भुगतान भी हुआ। कार्यक्रम के पहले मुख्यमंत्री को धान से तौला भी गया। उल्लेखनीय है कि हर साल की तरह इस बार भी दूधाधारी मठ परिसर में छेरछेरा, पुन्नी मेला का आयोजन किया गया, जिसमें भारी संख्या में लोग दान देने और लेने के लिए उपस्थित रहे। कार्यक्रम में गौसेवा आयोग के अध्यक्ष राजेश्री महंत रामसुंदर दास, विधानसभा के उपाध्यक्ष श्री संतराम नेताम, विधायक श्री बृहस्पत सिंह, मुख्यमंत्री के सलाहकार श्री प्रदीप शर्मा, मेयर श्री एजाज ढेबर, सभापति श्री प्रमोद दुबे उपस्थित रहे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान करेंगे तेंदूपत्ता संग्राहकों को सामग्री का वितरण

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान प्रदेश के विभिन्न जनजातीय बहुल क्षेत्रों में तेंदूपत्ता संग्रहण से जुड़े लोगों को चरण पादुका, वस्त्र और अन्य सामग्री का वितरण करेंगे। हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय वन मेले के शुभारंभ पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस संबंध में घोषणा की थी। प्रदेश के विंध्य और महाकौशल अंचल के साथ अन्य स्थानों पर ये कार्यक्रम किए जाएंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वन मंत्री डॉ. कुंवर विजय शाह, अपर मुख्य सचिव वन श्री जे.एन. कंसोटिया और वन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर इस संबंध में विचार-विमर्श किया। सामग्री वितरण के साथ ही महिला स्व-सहायता समूह द्वारा लोक-नृत्य, अन्य स्पर्धाओं में भागीदारी के कार्यक्रम की रूपरेखा और आगामी अप्रैल माह में प्रस्तावित वन महोत्सव पर भी चर्चा हुई।

वन्य-प्राणी संरक्षण प्राथमिकता

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में वन्य-प्राणियों के संरक्षण के साथ मनुष्य और पशुओं के अस्तित्व के संतुलन को भी सदैव ध्यान में रखा जा रहा है। वन्य- प्राणियों का शिकार करने वाले आपराधिक तत्वों पर पूरी तरह अंकुश रहे। इस संबंध में वन विभाग का अमला हमेशा सजग रहे। वन्य-प्राणियों के शिकार के दोषियों के विरूद्ध कठोरतम कार्रवाई की जाए।

मुख्यमंत्री से छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय अधिवक्ता संघ के प्रतिनिधिमंडल ने की सौजन्य मुलाकात

मुख्यमंत्री से छत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल से आज शाम यहां उनके निवास कार्यालय में महाधिवक्ता श्री सतीश चंद्र वर्मा के नेतृत्व में आए छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय अधिवक्ता संघ के प्रतिनिधिमंडल ने सौजन्य मुलाकात की ।मुख्यमंत्री को प्रतिनिधिमंडल ने नववर्ष 2023 की बधाई देते हुए उन्हें छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय अधिवक्ता संघ का वर्ष 2023 का कैलेंडर भेंट किया। उन्होंने मुख्यमंत्री से उच्च न्यायालय के अधिवक्ताओं के हित से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय अधिवक्ता संघ के पदाधिकारियों को नववर्ष की बधाई देते हुए नवीन वर्ष में  न्यायालयीन दायित्वों के कुशलता पूर्वक निर्वहन के लिए शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर श्री रजनीश बघेल, श्री अब्दुल वहाब, श्री अरविंद दुबे, सुश्री दीपाली पांडेय, श्री शशांक ठाकुर, श्री नितांश जयसवाल, श्री मनोज वर्मा सहित छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय अधिवक्ता संघ के अनेक सदस्यगण उपस्थित थे।

The Vaccine War: विवेक अग्निहोत्री की फिल्म द वैक्सीन वॉर में नजर आएंगे रियल कोविड़ वॉरियर्स

The Vaccine War: विवेक अग्निहोत्री की फिल्म द वैक्सीन वॉर में नजर आएंगे रियल कोविड़ वॉरियर्स
विवेक रंजन अग्निहोत्री की फिल्म द वैक्सीन वॉर की शूटिंग शुरू हो चुकी है। अब जानकारी आ रही हैं कि उनकी इस फिल्म में महामारी के दौरान काम करने वाले रियल कोरोना वॉरियर्स नजर आ सकते हैं। The Vaccine War: देश के अनकहे गंभीर मुद्दों को बड़े पर्दे पर बेहतरीन ढंग से सिल्वर स्क्रीन पर पेश करने वाले फिल्म निर्माता विवेक अग्निहोत्री जल्द ही एक और सच्ची कहानी से प्रेरित फिल्म लेकर आने वाले हैं। बीते साल उन्होंने कोरोना महामारी के दौरान देश में तैयार हुई वैक्सीन अनोखी कहानी पर बेस्ड फिल्म द वैक्सीन वार फिल्म का एलान किया था और अब जानकारी आ रही है कि उनकी इस फिल्म में रियल कोविड़ वॉरियर्स को दिखाया जा सकता है।
अंग्रेजी समाचार वेबसाइट ईटाइम्स की खबर के अनुसार, विवेक रंजन अग्निहोत्री अपनी इस फिल्म में रियल कोविड़ वॉरियर्स नजर आ सकते हैं, जिन्होंने खुद को जोखिम में डालकर कोरोना से मृत लोगों का अंतिम संस्कार में मदद की थी। इसी रिपोर्ट में आगे दावा करते हुए जानकारी देते हुए बताया कि द वैक्सीन वॉर सच्ची घटना पर आधारित हैं और निर्माता सच में उस दौरान काम करने वाले लोगों ज्यादा कास्ट करना चाहते हैं।

ऐसी होगी द वैक्सीन वॉर की कहानी?

आपको बता दें कि विवेक रंजन अग्निहोत्री की इस फिल्म की कहानी देश के लिए महामारी की वैक्सीन तैयार करने वाले लोगों पर आधारित होगी। इस फिल्म का एलान उन्होंने एक वीडियो शेयर कर किया है, जिसमें उन्होंने ‘द वैक्सीन वॉर’ के पीछे का कारण बताया है। निर्देशक ने कहा, ‘जब कोविड और लॉकडाउन की वजह से कश्मीर फाइल्स में बहुत देरी हो रही थी, तो हम लोग बहुत परेशान थे तो मैंने कोविड पर बहुत रिसर्च किया और पूरी टीम को लगा दिया, लेकिन किसी को यह नहीं पता कि वैक्सीन बनाई किसने है। सब बड़े-बड़े नाम ले रहे थे। लेकिन यह वैक्सीन बनाई है बहुत ही सिंपल साइंटिस्ट लोगों ने खासकर महिलाओं ने बनाई है।

IND vs SL T20 Pitch, Weather Report: भारत-श्रीलंका के बीच तीसरे टी20 में जानें कैसी होगी पिच और मौसम

भारत-श्रीलंका के बीच आज सीरीज का अंतिम मुकाबला खेला जाएगा। भारत ने पहला मैच 2 रन से जीता और फिर श्रीलंका ने जबर्दस्‍त वापसी करके दूसरा मुकाबला 16 रन से जीतकर सीरीज 1-1 से बराबर की। जानें इस मैच की पिच रिपोर्ट और मौसम का हाल।

भारत और श्रीलंका के बीच आज तीसरा व अंतिम टी20 इंटरनेशनल मैच राजकोट के सौराष्‍ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्‍टेडियम में खेला जाएगा। भारत और श्रीलंका मौजूदा सीरीज में 1-1 की बराबरी पर हैं। दोनों ही टीमें सीरीज जीतने के लिए आज अपना पूरा जोर लगाते हुए नजर आएंगी। हार्दिक पांड्या के नेतृत्‍व वाली भारतीय टीम ने पहले टी20 को 2 रन के करीबी अंतर से जीता था।

इसके बाद दासुन शनाका के नेतृत्‍व वाली श्रीलंका ने जबर्दस्‍त वापसी करके 16 रन से जीत दर्ज की और सीरीज बराबर की। मेहमान टीम ने पुणे में खेले गए दूसरे टी20 में पहले बल्‍लेबाजी करके निर्धारित 20 ओवर में 6 विकेट खोकर 206 रन बनाए। जवाब में भारतीय टीम 8 विकेट पर 190 रन बना सकी। दोनों टीमों के बीच सीरीज का आखिरी मुकाबला बेहद रोमांचक होने की उम्‍मीद है। चलिए जानते हैं कि राजकोट की पिच से किसे मदद मिलेगी और मौसम क्‍या बयां कर रहा है।

कैसी होगी राजकोट के एससीए स्‍टेडियम की पिच (IND vs SL, SCA Stadium Pitch Report)

राजकोट की पिच को हाईवे भी कहा जाता है। यानी यहां की पिच सपाट है, जिस पर बल्‍लेबाजों की मौज रहने वाली है। सौराष्‍ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्‍टेडियम की पिच बल्‍लेबाजों के लिए मददगार होगी और यहां फैंस को हाई स्‍कोरिंग मैच देखने को मिलेगा। इस पिच पर पहली पारी का औसतन स्‍कोर 175 रन है। यहां स्पिनर्स भी अपना कमाल दिखा सकते हैं क्‍योंकि गेंद धीमी गति की हो तो आसानी से बल्‍ले पर नहीं आती है। मगर सपाट पिच और दोनों टीमों के खिलाड़‍ियों को देखते हुए कहना गलत नहीं होगा कि यहां बड़ा स्‍कोर बनता दिखेगा।

कैसा रहेगा राजकोट का मौसम (IND vs SL, Rajkot Weather forecast)

राजकोट का मौसम एकदम साफ रहने वाला है। यहां शाम के समय 17 डिग्री सेलसियस तक तापमान रहने की उम्‍मीद है, जिससे कि खिलाड़‍ियों को मैच खेलने में कोई परेशानी नहीं होगी। यहां नमी 42 प्रतिशत रहेगी जबकि हवा 13 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने की उम्‍मीद है। राजकोट में बारिश की कोई संभावना नहीं है तो फैंस को मैच का पूरा रोमांच देखने को मिलेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने तृतीय अंतर्राष्ट्रीय रामायण कान्फ्रेंस को किया वर्चुअली संबोधित

भारतीय चिंतन में समाहित है अनेक समस्याओं का समाधान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि भारतीय चिंतन में अनेक समस्याओं का समाधान समाहित है। विश्व के राष्ट्र, भारत की पुरातन आध्यात्मिक संपदा को स्वीकारते हैं। रामायण अद्भुत ग्रंथ है। आज भी गाँव-गाँव में इसे गाया और सुनाया जाता है। महत्वपूर्ण शिक्षाओं के साथ ही विश्व शांति का संदेश देने में भारतीय धर्म ग्रंथ सहायक हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज तृतीय अंतर्राष्ट्रीय रामायण कान्फ्रेंस को वर्चुअली संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रेम, शांति, प्रसन्नता, एकता और भाई-चारे का संदेश देने वाले इस आयोजन में शोध-पत्र प्रस्तुत करने आए विद्वानों का मध्यप्रदेश में स्वागत है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कांफ्रेंस की सफलता के लिए शुभकामनाएँ दी।

जबलपुर में हो रही कॉन्फ्रेंस में सांसद श्री राकेश सिंह, आयोजन समिति के अध्यक्ष पूर्व मंत्री श्री अजय विश्नोई, डॉक्टर गुमास्ता, श्री जी.डी. बक्शी, श्री गोविंद सिंह आदि उपस्थित हुए। कान्फ्रेंस में अनेक देश के प्रतिनिधि उपस्थित हुए हैं। “रामायण की सौम्य शक्ति” विषय पर कॉन्फ्रेंस में महत्वपूर्ण शोध-पत्र प्रस्तुत किए गए हैं।

प्रतिस्पर्धा के इस दौर में मीडिया का अपने दायित्व और लक्ष्य पर कायम रहना एक चुनौती: मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल

मुख्यमंत्री ने मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ के नए सैटेलाईट चैनल टीव्ही-24 का किया शुभारंभ

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि प्रतिस्पर्धा के वर्तमान दौर में अपने लक्ष्य से न भटकना सही और सच्ची खबरें जनता तक पहुंचाना मीडिया के लिए एक चुनौती है। आज कई मीडिया समूह लोगों का का माइंड सेट करने का काम कर रहे है। नफरत का जहर फैलाया जा रहा है। ऐसी स्थिति में निष्पक्ष रह कर सही, सकारात्मक और सुकून देने वाली खबरें जिससे जीवन की उम्मीद बनी रहे, बेहद जरूरी है। मुख्यमंत्री श्री भूपेष बघेल आज रायपुर के एक निजी होटल में टीव्ही-24 के शुभारंभ कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उक्त बाते कहीं। मुख्यमंत्री ने टीव्ही-24 समूह के पदाधिकारियों को शुभकामना देते हुए कहा कि लोगों की भावनाएं इस चैनल के माध्यम से सरकार तक पहुंचे और सरकार की योजनाएं जनता तक पहुंचे, यही अपेक्षा है। उन्होंने कहा कि चैनल के माध्यम से ऐसी खबरे और कार्यक्रम प्रसारित होने चाहिए, जिससे तनाव भरी जिंदगी में उम्मीद बढ़े और जीवन में नया रास्ता मिले।

इस अवसर पर स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर, खाद्य एवं संस्कृति मंत्री श्री अमरजीत भगत, हाउसिंग बोर्ड के चेयरमेन श्री कुलदीप जुनेजा सहित अन्य जनप्रतिनिधि, पटकथा लेखक श्री अशोक मिश्रा, सिने अभिनेत्री शशि शर्मा, आयुर्वेदाचार्य श्री प्रकाश जी, श्री कृष्णादास मानिकपुरी, टीव्ही-24 की मैनेजिंग डॉयरेक्टर श्रीमती ममता शर्मा, चेयर पर्सन श्री मोहित साहू सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

इस अवसर पर प्रसिद्ध पटकथा लेखक श्री अशोक शर्मा के आग्रह पर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने प्रसिद्ध नाट्य निर्देशक स्वर्गीय श्री हबीब तनवीर के स्मृति को अक्षुण्य बनाये रखने के लिए रायपुर के एक चौक/सड़क का नामकरण स्वर्गीय श्री हबीब तनवीर के नाम पर किए जाने की घोषणा की। कार्यक्रम को संस्कृति मंत्री श्री अमरजीत भगत ने भी सम्बोधित किया और अपनी शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ का यह नया चैनल टीव्ही-24 आम जनता की समस्याओं के सामने लाने और समाधान में मद्दगार साबित होगा। छत्तीसगढ़ की कला, संस्कृति और यहां के गौरव को आगे बढ़ाएगा।

Gold Price Today: रिकॉर्ड बना रही सोने की कीमत, इस हफ्ते रेट में आया ताबड़तोड़ उछाल

Gold Silver Price भारत में सोने की कीमतें अगले कुछ सत्रों में 54500 रुपये से ऊपर रहने पर एक नया शिखर छू सकती हैं। शादियों के सीजन से पहले यह एक बड़ा झटका है। इस बीच सर्राफा बाजार में कुछ शहरों में सोना सस्ता भी हुआ है।

Gold Silver Price: दिसंबर में अमेरिका में नौकरी की वृद्धि धीमी रहने के बाद आज सोने की कीमत में फिर से आग लगी है। 2022 में लगभग 14.30 प्रतिशत की वृद्धि के बाद सोना की कीमत लगातार 10वें सप्ताह तेजी से बढ़ी है।

बीते सप्ताह में, मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX) पर फरवरी 2023 के सोने के वायदा अनुबंध में 1.38 प्रतिशत साप्ताहिक बढ़त दर्ज की गई और यह 55,730 प्रति 10 ग्राम के स्तर पर कारोबार कर रही थी। हालांकि, अंतरराष्ट्रीय बाजार में बीते सप्ताह सोने की कीमतें करीब 2.36 फीसदी बढ़ी और 1,865 डॉलर प्रति औंस के स्तर पर बंद हुई।

क्यों बढ़ी सोने की कीमत

कमोडिटी बाजार के विशेषज्ञों के अनुसार चीन में कोविड के बढ़ते मामलों, यूएस फेड की टिप्पणी के बाद वैश्विक आर्थिक मंदी का डर और डॉलर की दर में नरमी के कारण सोने की दरों में तेजी आ रही है। प्रमुख वैश्विक मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर में रिकवरी की संभावना कम है क्योंकि अमेरिकी नौकरी की वृद्धि धीमी हो गई है और इसलिए मंदी के डर के मद्देनजर यूएस फेड की ब्याज दर में बढ़ोतरी का शायद बहुत असर देखने को नहीं मिले। आने वाले सप्ताह में सोना निवेशकों के लिए ‘स्वर्ग’ के रूप में उभर सकता है और इसलिए, सोने की कीमतों में किसी भी गिरावट को निवेशकों द्वारा खरीदारी के अवसर के रूप में देखा जाना चाहिए।

Budget 2023: वेतनभोगी लोगों को बड़ी उम्मीदें, जानें किन चीजों पर सरकार दे सकती है राहत

Budget 2023-24 से वेतनभोगी लोग क्या उम्मीद लगा सकते हैं। इसके लिए हमने मुंबई में टैक्स कन्सलटेंट राजेंद्र सबरवाल से बात की हैं जिन्होंने बताया है कि क्या राहत मिल सकती है जिसके बारे में हम अपनी इस रिपोर्ट में बताने जा रहे हैं।

वित्त वर्ष 2023-24 के बजट आने में करीब तीन हफ्ते का समय बचा हुआ है। बजट को लेकर चर्चा हर ओर हो रही है। वहीं, महंगाई और ब्याज दरों में बढ़ोतरी के वेतन पाने वाले लोगों को भी इस बार के बजट से काफी अपेक्षाएं हैं, जिसमें कैपिटल गेन टैक्स, होम लोन के लिए छूट की सीमा में बढ़ोतरी के साथ कई अन्य तरह की राहत शामिल हैं।

बता दें, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की ओर से एक फरवरी को बजट पेश किया जाना है। इस बार का बजट काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है, क्योंकि ये मोदी सरकार के दूसरा कार्यकाल का आखिरी पूर्ण बजट होने वाला है। इसके लिए हमने मुंबई में टैक्स कन्सलटेंट, राजेंद्र सबरवाल से बात की हैं। आइए जानते हैं अपनी इस रिपोर्ट में वेतन पाने वाले लोगों को बजट से क्या उम्मीद है।

टैक्स स्लैब में छूट

मौजूदा समय में देश में टैक्स भरने वाले लोगों आयकर भरने के लिए दो कर प्राणालियों के विकल्प दिए जाते हैं। ये लोगों में काफी भ्रम पैदा करता है। इस बार इसके समाप्त होने की संभावना है। इसके साथ ही टैक्स स्लैब में बदलाव होने से भी लोगों को राहत मिलने की संभावना है। मौजूदा समय में एक वित्त वर्ष में 2.50 लाख रुपये तक की आय वाले लोगों को आयकर की छूट के दायरे में रखा गया है। इस बार इसके 5 लाख रुपये होने की संभावना है।


घर खरीदारों को छूट

इस बार आरबीआई की ओर से ब्याज दर बढ़ने के की इस बात की पूरी संभावना है कि घर खरीदारों के लिए छूट के दायरे को बढ़ा सकती है। वर्तमान में होम लोन पर दी गई 2 लाख रुपये तक ब्याज पर करदाता को आयकर में छूट मिलती है। वहीं,80सी का दायर बढ़ने की भी उम्मीद है।
पर्सनल लोन पर छूट

भारत में कुल दिए जाने वाले लोन में पर्सनल लोन और एजुकेशन लोन की हिस्सेदारी 35 प्रतिशत है। एजुकेशन लोन पर आयकर अधिनियम की धारा 80ई के तहत छूट मिलती है, लेकिन पर्सनल लोन के लिए ऐसा कोई भी प्रावधान नहीं है, जिस पर इस बार के बजट में विचार हो सकता है।

Sushant Singh Rajput: सुशांत सिंह की मौत के ढाई साल बाद घर को मिला नया किराएदार

Sushant Singh Rajput: सुशांत सिंह की मौत के ढाई साल बाद घर को मिला नया किराएदार

मीडिया को मिली जानकारी के मुताबिक नए किराएदार को इस फ्लैट के लिए हर महीने लगभग 5 लाख रुपये किराया देना होगा।

Sushant Singh Rajput: बाॅलीवुड एक्ट्रेस सुशांत सिंह राजपूत को इस दुनिया को अलविदा कहे ढाई साल से ज्यादा का समय हो चुका है। अभी तक सुशांत का डेथ केस सॉल्व नहीं हो सका है। आज भी सुशांत के फैंस इस केस के सॉल्व होने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। हाल ही में दिवंगत एक्टर सुशांत के मामले में पोस्टमार्टम करने वाली टीम के एक मेंबर ने उनकी मौत को मर्डर बताया था। जिसे सुनने के बाद हर कोई हैरान रह गया था। अब सुशांत से जुड़ा एक और अपडेट सामने आया है। सुशांत जिस फ्लैट में रहते थे, उस फ्लैट में ढाई सालों के बाद किराएदार आ चुका है।

सुशांत के फ्लैट तो मिला किराएदार

बता दें कि हाल ही में सुशांत के पोस्टमार्टम करने वाली टीम के एक मेंबर रूप कुमार ने बड़ा खुलासा किया था। जिसमें उन्होंने ये दावा किया था कि पोस्टमार्टम के समय उनकी बात को अनसुना कर दिया गया। उन्हें यह कहा गया था कि जल्द से जल्द उनकी बॉडी का पोस्टमार्टम करें और पुलिस को बॉडी सौंप दें। वहीं अब एक बार फिर सुशांत से जुड़ी बड़ी अपडेट सामने आ रही है। नई जानकारी के अनुसार सुशांत के बांद्रा वाले फ्लैट पर नया किराएदार रहने आने वाला है। सुशांत आज भी अपने फैंस के दिलों में जिंदा हैं। दरअसल जिस फ्लैट में सुशांत रहते थे, उसके ओनर काफी लंबे समय से फ्लैट के लिए किराएदार

ढूंढ रहे थे।

इतना ज्यादा है किराया

सुशांत के फ्लैट को कोई लेने के लिए तैयार नहीं था। हालांकि अब आखिरकार किराएदार मिल ही गया है। कहा जा रहा है कि ओनर इस फ्लैट को लेकर बात कर रहे हैं और जल्द ही नए किराएदार इस फ्लैट में शिफ्ट हो सकते हैं। बता दें कि अभी तक इसकी कोई पुख्ता जानकारी सामने नहीं आई है। मीडिया को मिली जानकारी के मुताबिक नए किराएदार को इस फ्लैट के लिए हर महीने लगभग 5 लाख रुपये किराया देना होगा। इतना ही नहीं फ्लैट मालिक को 30 लाख रुपए सिक्योरिटी डिपॉजिट भी देना होगा। सुशांत इस फ्लैट का एक महीने का 4.5 लाख रुपये किराया देते थे। अब इस फ्लैट के ओनर ने किराया बढ़ाकर 5 लाख रुपये कर दिया है। ये फ्लैट 3600 स्क्वाॅयर फुट के एरिया में बना हुआ है। इसमें 4 बेडरूम है, जिसके साथ छत भी अटैच है। सुशांत इस फ्लैट में साल 2019 में शिफ्ट हुए थे।

Tunisha Sharma: तुनिषा के बर्थडे पर शीजान की बहन ने शेयर किया इमोशनल पोस्ट

लिखीं ये बातेंशीजान खान की बहन और एक्ट्रेस फलक नाज ने तुनिषा के जन्मदिन पर सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर कर उन्हें विश किया है।
Tunisha Sharma: तुनिषा शर्मा अब इस दुनिया में नहीं हैं। तुनिषा ने 24 दिसंबर की दोपहर अपने टीवी शो के सेट पर फांसी लगाकर अपनी जान दे दी थी। तुनिषा की मां ने अपनी बेटी की मौत का आरोप तुनिषा के एक्स बॉयफ्रेंड शीजान खान पर लगाया है। फिलहाल शीजान पुलिस की हिरासत में हैं। बीते 10 दिनों से पुलिस शीजान से इस केस को लेकर सवाल जवाब कर रही है। इसी बीच शीजान खान की बहन और एक्ट्रेस फलक नाज ने तुनिषा के जन्मदिन पर सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर कर उन्हें विश किया है। फलक का ये पोस्ट काफी इमोशनल है।

टीवी एक्ट्रेस फलक ने अपने इंस्टाग्राम पर तुनिषा और अपनी कुछ अनसीन फोटोज शेयर कर एक इमोशनल कैप्शन लिखा है। उन्होंने लिखा टुन्नु मेरा बच्चा..कभी नहीं सोचा था कि ऐसे विश करूंगी। तू जानती थी कि अप्पी ने प्लान किया था तेरे लिए सरप्राइज। मैं तुम्हें प्रिंसेस ड्रेस में देखना चाहती थी। मैं तुझे तैयार करती…तेरा केक बनवाती। तेरा नो सरप्राइज्ड चेहरा देखना था मुझे। तू जानती है अच्छे से टुन्नु तू मेरे लिए क्या मायने रखती है। दिल टूटा हुआ है मेरा बहुत। इतनी तकलीफ कभी महसूस नहीं हुई, जितनी तेरे जाने के बाद से है। कभी-कभी समझ नहीं आता कि किसके लिए दुआ करें।

फलक का इमोशनल पोस्ट

इसके आगे फलक ने लिखा तेरी रूह के सुकून के लिए दुआ करें या हमारी (अम्मा, शीजान और मेरी)। जिंदगी के मुश्किल इम्तिहान, बेचैन रातें, अनदेखें आंसू, तू सब देख रही है। मुझे पता है कि तू मेरे आसपास ही है। मैं तुझे महसूस कर सकती हूं। हम तुझे हर दिन याद करते हैं टुन्नू। तुम हमारे दिलों में हमेशा रहोगी। उम्मीद है कि तेरी सुकून वाली तलाश खत्म हो गई हो। हैप्पी बर्थडे मेरा बच्चा, मेरी नन्ही सी जान। वहीं हाल ही में शीजान की दोनों बहनों और मां ने मीडिया में एक प्रेस कांफ्रेंस रखी थी। जिसमे उन्होंने खुलासा किया था कि हम सबने और तुनिषा समेत एक्ट्रेस के दोस्त ने उनके लिए सरप्राइज पार्टी प्लान की थी।

US Firing News: अमेरिका में फिर फायरिंग, यूटा में एक ही घर में 5 बच्चों सहित 8 लोगों के शव मिले

US Utah Firing यूटा के ग्रामीण इलाके में एक घर के भीतर 8 लोगों के शव बरामद किए गए हैं। इन सभी की गोली मारकर
US Utah Firing । अमेरिका में एक फिर फिर फायरिंग की घटना ने लोगों को दहला दिया है। अमेरिका के यूटा राज्य में गोलीबारी में 5 बच्चों सहित 8 लोगों की मौत हो गई है। अमेरिकी जांच अधिकारियों ने शूटिंग को लेकर फिलहाल ज्यादा जानकारी नहीं दी है। पुलिस के मुताबिक, यूटा के 8000 की आबादी वाले कस्बे में यह वारदात हुई है। गोलीबारी किसने की और क्यों चलाई, इस बारे में पुलिस अभी जांच कर रही है।

स्थानीय अधिकारियों ने बताया कि यूटा के ग्रामीण इलाके में एक घर के भीतर 8 लोगों के शव बरामद किए गए हैं। इन सभी की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। मरने वालों में 5 बच्चे शामिल है और यह वारदात बुधवार को हुई है।

मंगलवार को भी हुई थी फायरिंग

इससे पहले अमेरिका के वाशिंगटन डीसी में मंगलवार रात हुई गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और 1 बच्चा घायल हो गया था। पुलिस इस मामले में 3 संदिग्धों की तलाश कर रही है। मेट्रोपोलिटन पुलिस प्रमुख रॉबर्ट कॉन्टी ने कहा कि फिलहाल घटना के बारे में जांच की जा रही है और गोलीबारी करने वाले हमलावरों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Russia-Ukraine Ceasefire: पुतिन ने यूक्रेन में युद्धविराम का किया ऐलान

Russia-Ukraine ceasefire: यूक्रेन के लोगों को अगले दो दिनों तक बमों और मिसाइलों से राहत मिलने वाली है।

Russia-Ukraine ceasefire: रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने बड़ा फैसला लेते हुए यूक्रेन में एकतरफा युद्धविराम का आदेश दिया है। वैसे ये युद्धविराम केवल दो दिनों के लिए है। दरअसल 6 और 7 जनवरी को ऑर्थोडॉक्स क्रिसमस मनाया जाएगा। रूस और यूक्रेन, दोनों ही देशों के लोग इस त्योहार को मनाते हैं। इसे देखते हुए रूसी धर्मगुरु पैट्रियार्क किरिल (Patriarch Kirill) ने राष्ट्रपति पुतिन से आग्रह किया था कि इस दौरान हमले ना किये जाएं, ताकि दोनों देशों के लोग त्योहार मना सकें। राष्ट्रपति पुतिन ने इसे स्वीकार करते हुए सेना को दो दिनों के लिए युद्धविराम का आदेश दिया है। यानी इस दो दिनों में यूक्रेन के किसी शहर में गोलाबारी नहीं होगी और लोग चैन की सांस ले सकेंगे। आपको बता दें धर्मगुरु किरिल, राष्ट्रपति पुतिन के कट्टर समर्थक हैं और राष्ट्रपति पुतिन भी इनको काफी महत्व देते हैं।

13 दिनों बाद मनेगा क्रिसमस

गौरतलब है कि रुस का आर्थोडॉक्स चर्च पुराने जूलियन कैलेंडर का इस्तेमाल करता है, इसलिए सात जनवरी को क्रिसमस का त्योहार मनाता है, जो ग्रेगोरियन कैलेंडर से 13 दिनों बाद पड़ता है। बता दें, रूसी चर्च के इस प्रस्ताव को यूक्रेन के अधिकारियों ने पहले खारिज कर दिया था। यूक्रेन के राष्ट्रपति के सलाहकार मिखाइलो पदोल्याक ने इस प्रस्ताव को खारिज करते हुए कहा था कि ‘यह जाल और दुष्प्रचार का हिस्सा है।’

Delhi Mayor Election LIVE: दिल्ली एमसीडी मेयर चुनाव आज, AAP vs BJP के बीच मुकाबला

Delhi MCD Mayor Election Today: गुप्त मतदान होगा। कोई भी पार्षद अपनी पसंद के किसी भी उम्मीदवार के लिए मतदान कर सकता है।

Delhi Mayor Election LIVE Update: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली पर आज पूरे देेश की नजर है। यहां पिछले दिनों हुए एमसीडी (दिल्ली महानगर पालिका) चुनाव के बाद आज मेयर का चुनाव किया जाएगा। 15 साल बाद यहां भाजपा को हार का सामना करना पड़ा है। हालांकि ऐतिहासिक जीत के बाद भी आम आदमी पार्टी के लिए अपने मेयर को जीतना आसान नहीं है। उपराज्यपाल यानी एलजी वीके सक्सेना की भूमिका बहुत अहम होने जा रही है। यहां जानिए एमसीडी मेयर चुनाव से जुड़ी अपडेट और हर गणित

Aam Aadmi Party vs Delhi Lieutenant Governor VK Saxena

10 साल के अंतराल के बाद दिल्ली में सिंगल मेयर होगा। आम आदमी पार्टी ने दो, तो भाजपा ने एक उम्मीदवार को मैदान में उतारा है। 250 सदस्यीय एमसीडी में आम आदमी पार्टी ने 134 सीट जीती है। मेयर पद के लिए तीन नाम दौड़ में हैं- शैली ओबेरॉय (AAP), आशु ठाकुर (AAP) और भाजपा से रेखा गुप्ता।

शुक्रवार को पार्षदों के शपथ ग्रहण और मेयर के चुनाव के अलावा डिप्टी मेयर का भी चुनाव होगा। डिप्टी मेयर पद के लिए आले मोहम्मद इकबाल (आप), जलज कुमार (आप) और कमल बागरी (भाजपा) उम्मीदवार हैं।

आम आदमी पार्टी को झटका देते हुए दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने एमसीडी मेयर चुनाव से पहले कार्यवाहक अध्यक्ष (प्रोटेम स्पीकर) के पद पर भाजपा के सत्या शर्मा को नियुक्त कर दिया।

दिल्ली में महापौर का कार्यकाल पांच साल का होता है, लेकिन यहां रोटेशन पद्धति लागू है। पहला वर्ष महिलाओं के लिए आरक्षित है, दूसरा खुले वर्ग के लिए, तीसरा आरक्षित वर्ग के लिए है।

कैसे होता है दिल्ली मेयर का चुनाव

दिल्ली में मेयर का चुनाव सिर्फ सिर्फ पार्षद ही नहीं करते हैं, बल्कि दिल्ली के 14 विधायक, सात लोकसभा सांसद और दिल्ली के तीन राज्यसभा सांसद भी मेयर चुनाव में मतदान करते हैं। गुप्त मतदान होगा। कोई भी पार्षद अपनी पसंद के किसी भी उम्मीदवार के लिए मतदान कर सकता है और इस मामले में दलबदल विरोधी कानून लागू नहीं होता है क्योंकि यह पता लगाना असंभव है कि गुप्त मतदान में किसने किसे वोट दिया था।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने केन्द्रीय मंत्री श्री शेखावत का मुख्यमंत्री निवास आगमन पर पुष्प-गुच्छ से स्वागत किया।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश ने जल जीवन मिशन के कार्यों को पूरा करने में प्राथमिकता से कार्य किया है। नल-जल योजनाओं के संचालन और संधारण में भी ग्रामीण युवाओं की प्रतिभा का उपयोग किया जा रहा है। मध्यप्रदेश प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेंट, गोबर धन संयंत्रों की शुरूआत और स्वच्छ भारत मिशन कार्यों में भी अग्रणी बना है। केंद्र सरकार से प्राप्त सहयोग से मध्यप्रदेश इन क्षेत्रों में बेहतर परिणाम देगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज शाम भोपाल प्रवास पर आए केंद्रीय जल शक्ति मंत्री श्री गजेंद्र सिंह शेखावत के साथ समत्व भवन के मंथन सभाकक्ष में जल जीवन मिशन और स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के कार्यों के संबंध में चर्चा कर रहे थे। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्य मंत्री श्री बृजेन्द्र सिंह यादव भी बैठक में उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने केन्द्रीय मंत्री श्री शेखावत का मुख्यमंत्री निवास आगमन पर पुष्प-गुच्छ से स्वागत किया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि हर घर जल पहुँचाने के लिए मध्यप्रदेश में तेजी से कार्य हो रहा है। जहाँ वर्ष 2019 में सिर्फ 138 ग्राम तक यह सुविधा पहुँची थी, वहीं अब तक 7 हजार से अधिक ग्रामों में हर घर तक टोंटी द्वारा जल पहुँच रहा है। प्रदेश के 119. 87 लाख परिवार को नल कनेक्शन देने के लक्ष्य के मुकाबले 55 लाख से अधिक परिवारों को यह सुविधा पहुँचाई जा चुकी है। इस वित्त वर्ष के अंत तक यह संख्या 70 लाख परिवार हो जाएगी। समूह योजनाओं के कार्य भी पूरे हो रहे हैं। हर घर तक जल पहुँचाने के कार्य में बुरहानपुर जिला देश में प्रथम आया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि उन्होंने जल जीवन मिशन के कार्यों की निरंतर समीक्षा की है। वे जिलों पर केंद्रित प्रात: कालीन बैठकों में भी हर घर जल पहुँचाने के कार्यों की समीक्षा करते हैं। मध्यप्रदेश में स्व-सहायता समूह की महिलाएँ भी मिशन के कार्यों में सहयोगी बनी हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जल जीवन मिशन और स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के साथ ही अन्य विषयों पर भी केन्द्रीय मंत्री श्री शेखावत के साथ चर्चा की।

केंद्रीय जल शक्ति मंत्री श्री शेखावत ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की कल्पना के अनुसार जल जीवन मिशन के कार्यों का मध्यप्रदेश में बेहतर क्रियान्वयन हो रहा है। केंद्र सरकार से आए वरिष्ठ अधिकारियों ने भी मध्यप्रदेश के प्रदर्शन को श्रेष्ठ बताया। केंद्रीय मंत्री श्री शेखावत ने कहा कि अब देश में ऐसे ग्रामों को लक्ष्य कर कार्य किया जा रहा है जहाँ पानी का एक भी स्रोत नहीं है। पुनर्भरण और अन्य प्रयासों से प्रत्येक ग्राम को लाभान्वित किया जाएगा। जल जीवन सर्वेक्षण भी इस कार्य में मददगार बनेगा। ग्रामों में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था होने की शुरूआत उत्सव के रूप में करने की पहल की गई है। इस कार्य में भी मध्यप्रदेश अच्छा प्रदर्शन कर रहा है। आगामी 31 जुलाई तक सभी विद्यालयों और आँगनवाड़ी केंद्रों को पेयजल सुविधा उपलब्ध करवाने का लक्ष्य है। केन्द्र सरकार द्वारा जल जीवन मिशन और स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के संबंध में आवश्यक वित्तीय सहयोग राज्यों को प्रदान किया जा रहा है। मध्यप्रदेश को भी कार्यों के लिए आवश्यक धनराशि मिलती रहेगी।

स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के कार्यों को भी मिलेगी पहचान

बैठक में बताया गया कि प्रदेश के सभी ग्रामों को इस वर्ष के अंत तक विभिन्न श्रेणियों में ओडीएफ प्लस घोषित किये जाने का लक्ष्य है। प्रदेश में गोबर धन परियोजनाओं की संख्या 52 है। इनमें से 32 परियोजना पूर्ण हो गई हैं। जिलों में गो-संवर्धन बोर्ड, समुदाय बायोगैस संयंत्र स्थापित कर रहा है। सीधी जिले में गो-अभयारण्य परिसर में पीपीपी मोड पर प्लांट लगाने की कार्यवाही की जा रही है। अन्य क्षेत्रों की तरह मध्यप्रदेश में हो रहे स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के कार्यों को भी पहचान मिलेगी। केन्द्र सरकार के अधिकारियों ने अच्छे कार्यों के लिए विभिन्न पुरस्कार योजनाओं की जानकारी दी।

अपर मुख्य सचिव जल संसाधन श्री एस.एन. मिश्रा, अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास श्री मलय श्रीवास्तव और अन्य अधिकारी उपस्थित थे। प्रमुख सचिव लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी श्री संजय कुमार शुक्ला ने प्रेजेंटेशन दिया।

जल को सहयोग और समन्वय का विषय बनाना प्रत्येक राज्य की जिम्मेदारी : प्रधानमंत्री श्री मोदी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की पहल पर देश में पहली बार जल-संरक्षण पर राज्यों के मंत्रियों का प्रथम अखिल भारतीय वार्षिक सम्मेलन कुशाभाऊ ठाकरे इन्टरनेशनल कन्वेशन सेंटर भोपाल में आरंभ हुआ। प्रधानमंत्री श्री मोदी के वर्चुअली दिए गए वीडियो संदेश से कार्यक्रम प्रारंभ हुआ। कुशाभाऊ ठाकरे सभागार में कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान और केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने अपने विचार रखे। केन्द्रीय जलशक्ति और खाद्य प्र-संस्‍करण उद्योग राज्य मंत्री श्री प्रहलाद सिंह पटेल उपस्थित थे। वाटर विजन@2047 में सभी राज्य एवं केन्द्र शासित प्रदेशों के जल संसाधन, लोक स्वास्थ्य अभियांत्रिकी और सिंचाई मंत्री तथा संबंधित विभागों के अधिकारी सम्मिलित हुए। छह जनवरी तक चलने वाले इस दो दिवसीय सम्मेलन में जल समस्याओं के समाधान का रोडमैप तैयार किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कार्यक्रम स्थल पर प्रदर्शनी का शुभारंभ भी किया।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने अपने वीडियो संदेश में कहा कि हमारी संवैधानिक व्यवस्था में पानी का विषय राज्यों के नियंत्रण में आता है। जल-संरक्षण के लिए देश को समन्वित प्रयास की आवश्यकता है। जल को सहयोग और समन्वय का विषय बनाना प्रत्येक राज्य की जिम्मेदारी है। जल प्रबंधन में सरकार के प्रयासों के साथ जन-भागीदारी बढ़ाने के लिए सार्वजनिक पहल और सामाजिक संगठनों को जोड़ना आवश्यक है। जन-भागीदारी का लाभ यह होता है कि जनता को भी उस कार्य की गंभीरता और उसमें लगाए गए संसाधनों की जानकारी मिलती है और जनता उस गतिविधि के प्रति सेंस ऑफ ओनरशिप का अनुभव भी करती है। स्वच्छ भारत अभियान इसका श्रेष्ठ उदाहरण है। श्री मोदी ने कहा कि हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हमारी कोई भी नदी या जल संरचना बाहरी कारकों से प्रदूषित न हो। इसके लिए वाटर मेनेजमेंट तथा सीवेज ट्रीटमेंट के क्षेत्र में संवेदनशीलता और सक्रियता से काम करने की आवश्यकता है। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने वाटर ट्रीटमेंट और वाटर री-साइकिलिंग की आवश्यकता पर भी बल दिया। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि नमामि गंगे मिशन के आधार पर अन्य राज्य भी नदियों के संरक्षण के लिए अभियान आरंभ कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान तथा केन्द्रीय मंत्री श्री शेखावत और केन्द्रीय राज्य मंत्री श्री प्रहलाद सिंह पटेल ने कुशाभाऊ ठाकरे सभागार में जल-संरक्षण और संचय के प्रतीक स्वरूप छोटे घड़ों से एक बड़े घड़े में जल अर्पित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम में नेशनल फ्रेमवर्क ऑन रियूज ऑफ ट्रीटे़ड वेस्ट वॉटर, नेशनल फ्रेमवर्क फॉर सेडीमेन्टेशन मेनेजमेंट और जल इतिहास सब पोर्टल की ई-लांचिंग की गई। साथ ही जल शक्ति अभियान ‘कैच द रेन’ पर लघु फिल्म का प्रदर्शन भी हुआ।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वाटर विजन @2047 जैसे महत्वपूर्ण विषय पर विचार-विमर्श के लिए भोपाल का चयन करने पर केंद्र शासन का आभार मानते हुए कहा कि भोपाल, जल-प्रबंधन का ऐतिहासिक रूप से अनूठा उदाहरण रहा है। राजा भोज द्वारा 10वीं शताब्दी में बनाई गई बड़ी झील आज भी भोपाल की एक तिहाई जनता को पेयजल की आपूर्ति कर रही है। प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र में 2 हजार जल संरचनाएँ विद्यमान हैं। यह हम सब का सौभाग्य है कि प्रधानमंत्री श्री मोदी का नेतृत्व हमें प्राप्त हुआ और जल-संरक्षण एवं प्रबंधन के लिए भी हमें उनका मार्गदर्शन प्राप्त हो रहा है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में जल-संरक्षण और उसके मितव्ययी उपयोग के लिए संवेदनशीलता के साथ गतिविधियाँ संचालित की जा रही हैं। प्रदेश में वर्ष 2003-04 तक सिंचाई क्षमता 7 लाख 50 हजार हेक्टेयर थी, जो अब बढ़ कर 43 लाख हेक्टेयर हो गई है। हमारा लक्ष्य 65 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई क्षमता का है। जल के मितव्ययी उपयोग के लिए पाइप लाइन और स्प्रिंकलर सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। प्रदेश में वर्ष 2007 में जलाभिषेक अभियान आरंभ किया गया। जल प्रबंधन में जन-भागीदारी को प्रोत्साहित करने के लिए सभी जिलों में जल संसद, जल सम्मेलन और गाँव में जल यात्राएँ हुई। जलाभिषेक अभियान में बड़ी संख्या में बोरी बंधान, चेक डैम, स्टॉप डैम का निर्माण हुआ। प्रदेश में नदी पुनर्जीवन के कार्य को भी प्रोत्साहित किया जा रहा है। नर्मदा सेवा यात्रा में नदी के दोनों ओर वृक्षारोपण को अभियान के रूप में लिया गया। प्रदेश में जल-जीवन मिशन में 50 हजार करोड़ रूपए के कार्य चल रहे हैं, इससे 46% घरों को नल से जल उपलब्ध कराना संभव होगा। सभी पहलुओं को सम्मिलित करते हुए प्रदेश में अगले एक-दो माह में जल नीति लाई जाएगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि बलराम ताल योजना में खेत में तालाब बनाने को प्रोत्साहित किया गया। साथ ही स्टॉप डैम निर्माण से प्रदेश के कई क्षेत्रों में कुओं को रिचार्ज करने में मदद मिली है। प्रदेश में कम पानी में होने वाली फसलें लेने के लिए किसानों को प्रोत्साहित किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वाटर विजन@2047 में आए केंद्र शासन तथा विभिन्न राज्यों के मंत्री गण को बताया कि प्रदेश में वृक्षारोपण, ऊर्जा-साक्षरता, पानी बचाने, स्वच्छता और महिला सशक्तिकरण के लिए विशेष अभियान संचालित किए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पेड़ और पानी का चोली दामन का साथ है। मैंने स्वयं प्रतिदिन पौधे लगाने का संकल्प लिया है। इस संकल्प के अनुसार मैं प्रतिदिन तीन पौधे लगाता हूँ। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वाटर विजन@2047 में आए सभी प्रतिभागियों को 6 जनवरी को पौध-रोपण के लिए आमंत्रित किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह पौध-रोपण पूरे देश को जल-संरक्षण का संदेश देगा और वाटर विजन@2047 की स्मृतियों को अक्षुण्ण रखेगा।

केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने भोपाल में वाटर विजन@2047 के आयोजन की सहमति देने और सहयोग उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्री श्री चौहान का आभार माना। मंत्री श्री शेखावत ने कहा कि भारत दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थ-व्यवस्था है। हमारा देश विकसित देश बनने की ओर अग्रसर है। तेजी से बढ़ते शहरीकरण और प्रदूषण की चुनौती को देखते हुए माइक्रो स्तर पर समग्र जल-प्रबंधन के लिए कार्य योजनाएँ बनाना आवश्यक है। देश में जल की भण्डारण क्षमता को बढ़ाना भी आवश्यक है। यह छोटी संरचनाओं के निर्माण को प्रोत्साहित करने और भू-गर्भीय जल-संरक्षण से संभव होगा।

दो दिवसीय आयोजन में पाँच विषयों – जल की कमी- जल की अधिकता और पहाड़ी इलाकों में जल-संरक्षण, पानी का दोबारा इस्तेमाल, जल सुशासन, जलवायु परिवर्तन की चुनौती का सामना करने में सक्षम जल अधो-संरचना और जल गुणवत्ता पर सत्र होंगे।

मुख्यमंत्री से आईएमए रायपुर सहित पांच संगठनों के प्रतिनिधि मण्डल ने की मुलाकात

 

मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल से आज यहां उनके निवास कार्यालय में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन रायपुर, नर्सिंग ऑफिसर्स एसोसिएशन छत्तीसगढ़, फार्मेसिस्ट एसोसिएशन, जूनियर डॉक्टर्स एसोसिएशन मेडिकल कॉलेज रायपुर, एम्बुलेंस एसोसिएशन के प्रतिनिधि मण्डल ने मुलाकात कर उन्हें अपनी विभिन्न मांगों के संबंध में ज्ञापन सौंपा। मुख्यमंत्री ने इन संगठनों की मांगों पर आवश्यक पहल का आश्वासन दिया। प्रतिनिधि मण्डल में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन रायपुर के अध्यक्ष डॉ. राकेश गुप्ता, डॉ. महेन्द्र सिंह, डॉ. अनिल जैन, डॉ. विकास अग्रवाल, डॉ. दिग्विजय सिंह, डॉ. गौरव सिंह परिहार सहित डॉ.रीना राजपूत, श्री हीरा शंकर साहू और श्री अजय राजपूत भी शामिल थे।

India vs Sri Lanka: अक्षर पटेल की फिफ्टी बेकार, श्रीलंका ने भारत को 16 रनों से दी मात

India vs Sri Lanka: श्रीलंका ने दूसरे टी20 मैच में भारत को 16 रन से हरा दिया। साथ ही तीन मैचों की सीरीज 1-1 की बराबरी पर आ गई है। 207 रन के टारगेट का पीछा करते हुए टीम इंडिया 20 ओवर में 8 विकेट पर 190 रन बना सकी। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंका ने 6 विकेट पर 206 रन बनाए। दासुन शनाका ने 22 बॉल पर 56* रनों पारी खेली। जिसमें 6 छक्के और 2 चौके शामिल हैं। वहीं, कुसल मेंडिस ने 52 और चरित असलंका ने 37 रन बनाए। भारत की ओर से उमरान मलिक 3, अक्षर पटेल 2 और चहल को 1 सफलता मिली। भारत की ओर से अक्षर पटेल ने 31 गेंदों पर 65 रन बनाए। जिसमें 6 छक्के और 3 चौके शामिल रहे। वहीं सूर्यकुमार यादव ने 3 छक्के और तीन चौके की मदद से 53 रन बनाए।

T20 IND Vs SL Live Score ODI 2nd Match updates

श्रीलंका ने 16 रन से जीता मैच

भारत को दूसरे मुकाबले में 16 रनों से हार का सामना करना पड़ा है। 207 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम इंडिया 8 विकेट पर 190 रन बना पाई।

Rishabh Pant Health Update: मुंबई शिफ्ट किये गये ऋषभ पंत, कोकिला बेन अस्पताल में होगा आगे का इलाज

 

Rishabh Pant Health Update: ऋषभ पंत के लिगामेंट टियर के इलाज के लिए BCCI ने उन्हें मुंबई शिफ्ट करने का फैसला किया है।)

Rishabh Pant Health Update: देश के जाने-माने क्रिकेटर ऋषभ पंत को एयरलिफ्ट कर मुंबई ले जाया गया। BCCI के दूसरे मेडिकल अपडेट के मुताबिक ऋषभ पंत के लिगामेंट टियर के इलाज के लिए उन्हें मुंबई ले जाया जाएगा और कोकिला बेन धीरुभाई अंबानी अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा। वहां पंत सेंटर फॉर स्पोर्ट्स मेडिसिन के प्रमुख डॉ दिनशॉ पारदीवाला और निदेशक, आर्थोस्कोपी एंड शोल्डर सर्विस की सीधी निगरानी में रहेंगे।
इससे पहले BCCI ने ऋषभ पंत को लेकर दूसरा मेडिकल अपडेट जारी किया, जिसमें ये जानकारी दी गई थी। दरअसल बोर्ड ने ऋषभ पंत की पूरी रिकवरी के लिए अपना प्लान बनाया है और उसी हिसाब से उनका इलाज आगे बढ़ेगा। इस दौरान बीसीसीआई उनके प्रोग्रेस पर नजर रखेगी।

मनुआभान टेकरी पर रानी पद्मावती की भव्य प्रतिमा का निर्माण किया जाएगा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया भूमि-पूजन

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज भोपाल की मनुआभान टेकरी पर साहस की प्रतिमूर्ति और भारतीय इतिहास की नायिका रानी पद्मावती की प्रतिमा की स्थापना के लिए भूमि-पूजन किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज ही मुख्यमंत्री निवास पर राजपूत समाज के सम्मेलन में यह घोषणा की थी और तत्काल इस पर अमल करते हुए भूमि-पूजन भी किया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि रानी पद्मावती के योगदान से नई पीढ़ी को अवगत और प्रेरित करवाने में प्रतिमा महत्वपूर्ण माध्यम बनेगी। भूमि-पूजन में सहकारिता मंत्री डॉ. अरविंद सिंह भदौरिया, औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री श्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, परिवहन और राजस्व मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत, संस्कृति मंत्री सुश्री उषा ठाकुर, भोपाल की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर, विधायक श्री रामेश्वर शर्मा, श्री रामपाल सिंह और जन-प्रतिनिधियों के साथ राजपूत समाज के पदाधिकारी और सदस्य उपस्थित थे।

जब वयोवृद्ध सेवाभावी सिंधु ताई से मिलने मुख्यमंत्री स्वयं पहुंचे

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेलमुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज भिलाई के बीएम शाह हॉस्पिटल में 90 साल की वयोवृद्ध सिंधु ताई से मुलाकात की। सिंधु ताई 30 साल पहले इस हॉस्पिटल से रिटायर हुईं थीं। सिंधु ताई के अस्पताल से जुड़ाव और उनके सेवाभाव के बारे में जानकर मुख्यमंत्री काफी प्रभावित हुए और उनके पास जाकर मुलाकात की। श्री बघेल ने उनके समर्पण की सराहना करते उनके दीर्घायु होने की कामना की। सिंधु ताई ने मुख्यमंत्री को दादा बनने पर बधाई दी।

Gold-Silver Rates: सोने-चांदी के रेट हुए धड़ाम

Gold-Silver Rates, 5 January 2023: चांदी का रेट 67,678 रुपये प्रति किलोग्राम के स्तर पर बंद हुआ है।गोल्ड में 161 रुपये की गिरावट दर्ज हुई।
इंडिया बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन के अनुसार, 24 कैरेट सोने की कीमत आज (गुरुवार) शाम को 55,796 रुपे प्रति 10 ग्राम के स्तर पर बंद हुई। वहीं सुबह भाव 55,957 रुपये प्रति ग्राम था। इस प्रकार गोल्ड में 161 रुपये की गिरावट दर्ज हुई। इससे पहले, पिछले कारोबारी दिवस पर सोना 56,142 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर बंद हुआ था।

वहीं चांदी का रेट 67,678 रुपये प्रति किलोग्राम के स्तर पर बंद हुआ है। यह रेट गुरुवार सुबह 68,200 रुपये प्रति किलो के स्तर पर खुला था। सिल्वर के रेट में 522 रुपये की गिरावट दर्ज की गई है। पिछले कारोबारी दिवस पर रेट 69,371 रुपये प्रति किलो था। इस प्रकार चांदी के रेट में बुधवार की तुलना में 1,693 रुपये प्रति किलो की तेजी देखी गई।

कितना नीचे है गोल्ड का रेट

गोल्ड अपने ऑलटाइम हाई से करीब 404 रुपये प्रति 10 ग्राम सस्ता है। सोने का ऑलटाइट हाई अगस्त 2020 में था। तब सोना 56,200 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर था। वहीं, सिल्वर अपने ऑलटाइम हाई से 7,322 रुपये नीचे है। चांदी ने अप्रैल 2011 में 75,000 रुपये का रिकॉर्ड बनाया था।

एमसीएक्स में किस रेट पर हो रहा कारोबार

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर गुरुवार शाम गोल्ड की फरवरी 2023 की फ्यूचर ट्रेड 193 रुपये की गिरावट के साथ 55,574.00 रुपये के स्तर पर रही। वहीं, चांदी मार्च 2023 की फ्यूचर ट्रेड 818 रुपये की गिरावट के साथ 68,500 रुपये के स्तर पर है।

Amazon Layoffs: अमेजन में हो सकती है छंटनी, 17 हजार कर्मचारियों की नौकरी संकट में

Amazon Layoffs अमेजन कंपनी की ओर से अभी तक इस बारे में कोई आधिकारिक जवाब नहीं आया है।
Amazon Layoffs। ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन आने वाले दिनों में बड़ी छंटनी की तैयारी कर रही है। एक अनुमान के मुताबिक कंपनी करीब 17,000 से अधिक कर्मचारियों को नौकरी से निकालने की तैयारी कर रही है। वॉल स्ट्रीट जर्नल ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि नवंबर से ही अमेजन में छंटनी की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और नवंबर माह में कंपनी 10 हजार से ज्यादा कर्मचारियों को निकालने की तैयारी कर रही थी, लेकिन अब जनवरी तक इस संख्या में बढ़ोतरी हो सकती है और कंपनी अब 7 हजार और कर्मचारियों को निकालने पर विचार कर रही है।

अमेजन कंपनी ने साधी चुप्पी

अमेजन कंपनी की ओर से अभी तक इस बारे में कोई आधिकारिक जवाब नहीं आया है। वहीं सेल्सफोर्स इंक ने बुधवार को जानकारी दी कि वह भी कटौती करने की योजना बना रही है।

अमेजन की तेजी में आई गिरावट

गौरतलब है कि बीते कुछ माह में अमेजन कंपनी की तेजी से हो रही वृद्धि में गिरावट आई है, जिसका खामियाजा हजारों कर्मचारियों को भुगतना पड़ सकता है।

अमेजन में हर साल होती है 16 लाख भर्तियां

रिपोर्ट में भी दावा किया गया था कि 10 हजार से ज्यादा कर्मचारियों को कंपनी निकालने की सोच रही है। अमेजन कंपनी पूरे विश्व में हर साल 16 लाख से ज्यादा लोगों की भर्ती करती है। अमेजन में ताजा छंटनी डिवाइस यूनिट पर केंद्रित होगी, जिसमें वॉयस-असिस्टेंट एलेक्सा और इसके रिटेल और मानव संसाधन डिवीजन शामिल हैं।

महाराणा प्रताप की जयंती पर होगा अवकाश

मनुआभान की टेकरी पर स्थापित होगी महारानी पद्मावती की प्रतिमा, आज ही हुआ भूमि-पूजन

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया क्षत्रिय समागम को संबोधित

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि महाराणा प्रताप ने कभी भी स्वतंत्रता से समझौता नहीं किया। वे हमारी शक्ति, सामर्थ्य और प्रेरणा के स्रोत हैं। पृथ्वीराज चौहान ने 18 बार विदेशी अक्रांताओं को परास्त किया था। राणा सांगा, बप्पा रावल, रानी पद्मावती, कुंवर सिंह, राणा बख्तावर सिंह, कुंवर चैन सिंह एक नहीं अनेक ऐसे शूरवीर और क्रांतिकारी भारत भूमि में हुए, जिन्होंने भारत माता की रक्षा के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर कर दुश्मन को नेस्तनाबूद कर दिया। देश की सीमाओं की रक्षा हो या दीन-हीन और कमजोरों की अत्याचार से रक्षा, क्षत्रिय समाज ने कभी अपनी जान की परवाह नहीं की। ऐसे भाई-बहनों को मैं प्रणाम करता हूँ। मुख्यमंत्री श्री चौहान निवास परिसर में क्षत्रिय समागम को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि देश के लिए जीने मरने वालों और धर्म संस्कृति की रक्षा करने वालों की छवि धूमिल करने का किसी को अधिकार नहीं है। राज्य सरकार सबके साथ-सबके विकास में विश्वास रखती है। सरकार की ओर से समाज के मान-सम्मान और प्रतिष्ठा को अक्षुण्ण रखने तथा उसमें वृद्धि के लिए हर संभव सहयोग प्रदान किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने क्षत्रिय समागम में प्रस्तुत 21 सूत्रीय मांग पत्र के परिप्रेक्ष्य में मांगे स्वीकार करते हुए महाराणा प्रताप की जयंती पर अवकाश स्वीकृत करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि फिल्म पद्मावती पर प्रतिबंध की मांग को लेकर हुए आंदोलनों संबंधी प्रकरण वापिस लिए जाएंगे। आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के विद्यार्थियों के लिए छात्रावास बनाने के संबंध में समाज के साथ मिल कर कार्य-योजना बनाई जाएगी। प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के बच्चों से कम परीक्षा शुल्क लिया जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ऐतिहासिक तथ्यों और परिवारों की वंशावली आदि से छेड़छाड़ करने वालों पर कानून कार्यवाही की जाएगी। पाठ्यक्रम समिति में एक प्रतिनिधि राजपूत समाज का होगा, इतिहास को सही संदर्भ में लिखा जाएगा और पाठ्यक्रमों की गड़बड़ियों को ठीक किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सामान्य वर्ग के गरीब विद्यार्थियों को विशेष सहयोग देने की व्यवस्था की जाएगी। सवर्ण आयोग में एक राजपूत क्षत्रिय प्रतिनिधि आवश्यक रूप से सम्मिलित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सीडीएस स्व. श्री विपिन रावत की प्रतिमा लगाने के लिए राज्य सरकार द्वारा भूमि उपलब्ध कराई जाएगी और स्थानीय निकाय की सहायता से प्रतिमा स्थापित की जाएगी। उन्होंने कहा कि राजपूत क्षत्रिय समाज के युवाओं को जरूरत पड़ने पर आर्थिक सहयोग के लिए सहकारिता विभाग द्वारा केस क्रेडिट सोसाइटी बनाई जाएगी और राज्य शासन उसमें सहयोग करेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के लिए आरक्षण में आय सीमा 8 लाख रूपये तक होगी और एमपीपीएससी की भर्ती में आर्थिक रूप से कमजोर अभ्यर्थियों के लिए आरक्षण की व्यवस्था होगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गौशालाओं को अनुदान उपलब्ध कराया जाएगा तथा गाय के गोबर व गौमूत्र खरीदने एवं बेचने की पारदर्शी व्यवस्था उपलब्ध की जाएगी। महापुरुषों की मूर्तियाँ स्थापित करने के लिए चर्चा कर कदम उठाए जायेंगे। भोपाल स्थित मनुआभान की टेकरी पर रानी पद्मावती की मूर्ति स्थापित करने के लिए आज ही भूमि-पूजन किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मंच से ही भूमि-पूजन की घोषणा के बाद कहा कि हम सब यहाँ से मनुआभान की टेकरी पर भूमि-पूजन के लिए प्रस्थान करेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा घोषणा के साथ ही निवास से रवाना होकर मनुआभान की टेकरी पर रानी पद्मावती की प्रतिमा की स्थापना के लिये भूमि-पूजन किया गया।

कार्यक्रम में सहकारिता मंत्री डॉ. अरविंद सिंह भदौरिया, उद्योग नीति एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री श्री राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव, भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर, पूर्व मंत्री श्री रामपाल सिंह, श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री सुखदेव सिंह गोगामेड़ी तथा बड़ी संख्या में समाज बन्धु उपस्थित थे।

छत्तीसगढ़ में हर व्यक्ति का विकास हमारा मुख्य ध्येय – मुख्यमंत्री श्री बघेल

 

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ में हर व्यक्ति का विकास और उनमें समृद्धि लाना हमारा मुख्य ध्येय है। इसके लिए हमारी सरकार द्वारा हर वर्ग के लोगों की भलाई और उत्थान के लिए नवाचार का प्रयोग करते हुए नई-नई योजनाएं तथा कार्यक्रम लागू कर उनके बेहतर ढंग से क्रियान्वयन पर विशेष जोर दिया जा रहा है।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज शाम राजधानी के एक निजी होटल में जी-मीडिया समूह द्वारा आयोजित ‘जोहार छत्तीसगढ़’ कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने जी-मीडिया समूह से परिचर्चा के दौरान कहा कि छत्तीसगढ़ के समन्वित विकास के लिए गांव-गांव के विकास और उन्हें स्वावलंबी बनाने का कार्य किया जा रहा है। इसके लिए हमारी सरकार द्वारा राज्य में नवाचार का प्रयोग करते हुए ‘छत्तीसगढ़ के चार चिन्हारी- नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी’ का बेहतर ढंग से क्रियान्वयन किया जा रहा है। इसके फलस्वरूप ग्रामीणों को रोजगार सुगम अवसर उपलब्ध हुए हैं और उनकी आय में भी बढ़ोत्तरी हुई है।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने इस दौरान अवगत कराया कि छत्तीसगढ़ में ग्रामीण अंचल के साथ-साथ शहरी क्षेत्र के विकास पर भी पूरा ध्यान दिया जा रहा है। इस तरह हमारी सरकार द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी योजनाओं तथा कार्यक्रमों से हर अंचल तथा क्षेत्र के लोगों को आगे बढ़ने के लिए बेहतर मौका मिला है। उन्होंने इस दौरान जनहित में संचालित विभिन्न योजनाओं राजीव गांधी किसान न्याय योजना, गोधन न्याय योजना तथा राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना आदि कार्यक्रमों का जिक्र करते हुए कहा कि इनसे समाज के खासकर किसान, मजदूर, महिला, आदिवासी तथा युवा वर्ग और गरीब तथा कमजोर वर्ग सहित सभी वर्ग के लोगों की भलाई तथा उत्थान का कार्य हो रहा है।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने इस दौरान प्रदेश में स्वास्थ्य, शिक्षा तथा रोजगार आदि विभिन्न क्षेत्रों में चलाए जा रहे कार्यक्रमों का भी विशेष रूप से उल्लेख किया। उन्होंने इस तारतम्य में छत्तीसगढ़ में कुपोषण मुक्ति के लिए संचालित विशेष अभियान मुख्यमंत्री सुपोषण योजना के बारे में बताया कि आज के बच्चे कल के भविष्य हैं। यदि बच्चे कुपोषित होंगे तो उनके असामयिक बीमारी और मृत्यु की संभावना बनी रहेगी। बच्चे स्वस्थ होंगे तो सुनहरा भविष्य गढ़ेंगे। कुछ ऐसी ही सोच के साथ हमने प्रदेशव्यापी कुपोषण मुक्ति का अभियान शुरू किया है। इसके फलस्वरूप वजन त्यौहार के अनुसार प्रदेश में पिछले चार सालों में कुपोषण की दर में 5.61 प्रतिशत की कमी दिखाई दी है। वर्ष 2019 में बच्चों में कुपोषण की दर 23.37 प्रतिशत थी, वह 2022 में घटकर 17.76 प्रतिशत पर आ गई है। प्रदेश में इस महत्वपूर्ण अभियान के तहत लगभग 2 लाख 11 हजार बच्चे कुपोषण के चक्र से बाहर आ गए हैं।

Kanjhawala Death Case: छठवां आरोपी आशुतोष भी गिरफ्तार

Kanjhawala Death Case आरोपियों ने कार से उतरने के बाद तत्काल ऑटो में बैठकर फरार हो गए। ऑटो वहां पहले से खड़ा हुआ था।

Kanjhawala Death Case । दिल्ली पुलिस ने कंझावला केस के छठे आरोपी और कार मालिक आशुतोष को भी गिरफ्तार कर लिया है। मिली जानकारी के मुताबिक आशुतोष की कार के नीचे ही अंजली को घसीटा गया था। पुलिस को शुरुआती जांच में यह पता चला है कि सभी आरोपियों ने हादसे के तत्काल बाद कार मालिक आशुतोष को भी इस घटना के बारे में जानकारी दे दी थी। पुलिस को एक सीसीटीवी फुटेज भी मिला है, जिसमें देखा जा सकता है कि सभी आरोपी कार से उतरने के बाद ऑटो से भागे थे। आरोपियों ने कार से उतरने के बाद तत्काल ऑटो में बैठकर फरार हो गए। ऑटो वहां पहले से खड़ा हुआ था।

मनोज मित्तल ने कार की झुककर भी देखा था

पुलिस के मुताबिक कार से फरार होते समय पांचों आरोपियों में से एक मनोज मित्तल ने कार के पीछे की तरफ से झुक कर भी देखा था। इसके बावजूद वे सभी आशुतोष की कार को छोड़कर फरार हो गए।

अंकिता की सहेली बोले, मेरी सहेली को जानबूझकर घसीटा

इधर मृतका की सहेली और इस घटना की एकमात्र चश्मदीद गवाह ने पुलिस को बताया है कि कार में बैठे लोगों ने जानबूझकर अंकिता को मारा और घसीटा था। पुलिस को जो सीसीटीवी फुटेज बरामद हुआ है, उसमें सभी आरोपियों को देखा जा सकता है। फुटेज 1 जनवरी की सुबह 4.33 बजे का है। वीडियो में देखा जा सकता है कि सभी आरोपी बलेनो कार से उतरते हुए नजर आ रहे हैं। आरोपियों ने पूछताछ में बताया था कि गांव के पास कार से शव हटने के बाद सभी आरोपी रोहिणी सेक्टर-1 पहुंचे और यहां उन्होंने मालिक आशुतोष को कार सौंप दी थी।

Philippines में भारतीय कबड्डी कोच की गोली मारकर हत्या, नहीं हुई हमलावरों की पहचान

विदेशों में भारतीय प्रवासियों के खिलाफ घृणा अपराधों की रिपोर्ट में वृद्धि हुई है। ताजा मामला मनीला से सामने आया है जहां भारतीय कबड्डी कोच गुरप्रीत सिंह गिंद्रू की हत्या कर दी गई है। हमलावरों की पहचान नहीं की जा सकी है। Indian Kabaddi Coach Murder: फिलीपींस (Philippines) की राजधानी मनीला (Manila) में मंगलवार को भारतीय कबड्डी कोच गुरप्रीत सिंह गिंद्रू की गोली मारकर हत्या कर दी गई। पंजाब (Punjab) के मोगा जिला निवासी गुरप्रीत चार वर्ष पहले रोजगार के सिलसिले में फिलीपींस गए थे। मंगलवार को जब वह काम से लौटे, तब अज्ञात हमलावर उनके घर में घुस गए और उनके सिर में गोली मार कर जान ले ली।
नहीं हुई हमलावरों की पहचान

स्थानीय मीडिया ने मनीला पुलिस के हवाले से बताया कि अभी तक हमलावरों की पहचान नहीं की जा सकी है। यह भी पता चल नहीं पाया है कि हमलावरों ने गुरप्रीत की जान क्यों ली। विदेश में रह रहे भारतीयों पर हमले की घटनाएं बढ़ गई हैं।

हिंसा के शिकार हुए हैं भारतीय

एक अन्य घटना में कनाडा के ओंटारियो में पंजाब के एक व्यक्ति की मौत हो गई। मोहित शर्मा (28) एक सुनसान जगह पर कार की पिछली सीट पर मृत पाया गया। विशेष रूप से, विदेशों में भारतीय प्रवासियों के खिलाफ घृणा अपराधों की रिपोर्ट में वृद्धि हुई है। कनाडा के अलावा ब्रिटेन, अमेरिका में भी भारतीय समुदाय के लोग हिंसा के शिकार हुए हैं।

Nepal में भारतीय महिला की संदिग्ध हालात में मौत, रेलवे स्टेशन के पास मिला शव

शव मंगलवार को नेपाल के इनरुवा रेलवे स्टेशन के पश्चिमी बांध क्षेत्र में मिला था। पुलिस उपाधीक्षक दीपक राय ने कहा कि पुलिस को मृतक के बारे में जानकारी तब मिली जब उन्होंने महिला के बैग में एक नोट पर लिखे नंबर से संपर्क किया। नेपाल के मधेश प्रांत के धनुषा जिले में एक भारतीय महिला का शव मिला है। काठमांडू पोस्ट अखबार के अनुसार बिहार के रहने वाली मृतक का शव मंगलवार को इनरुवा रेलवे स्टेशन के पश्चिमी बांध क्षेत्र में मिला था। पुलिस उपाधीक्षक दीपक राय ने कहा कि पुलिस को मृतक के बारे में जानकारी तब मिली जब उन्होंने महिला के बैग में एक नोट पर लिखे नंबर से संपर्क किया। उन्होंने कहा कि महिला के परिवार को सूचित कर दिया गया है। राय ने कहा कि प्राथमिक जांच पूरी होने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए प्रांतीय अस्पताल भेज दिया गया है।

Kedar Jadhav Double Century: न कोहली ने जताया भरोसा, न रोहित ने दिया मौका, अब रणजी ट्रॉफी में जड़ा दोहरा शतक

Kedar Jadhav Double Century: न कोहली ने जताया भरोसा, न रोहित ने दिया मौका, अब रणजी ट्रॉफी में जड़ा दोहरा शतक
Kedar Jadhav भारतीय टीम के ऑलराउंडर बल्लेबाज केदार जाधव (Kedar Jadhav) काफी लंबे समय से टीम इंडिया से बाहर चल रहे हैं। उन्होंने भारत की तरफ से अपना आखिरी मुकाबला साल 2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था। जिसके बाद से उन्हें लगातार नजरअंदाज किया गया।
Kedar Jadhav। भारतीय टीम के ऑलराउंडर बल्लेबाज केदार जाधव (Kedar Jadhav) काफी लंबे समय से टीम इंडिया से बाहर चल रहे हैं। उन्होंने भारत की तरफ से अपना आखिरी मुकाबला साल 2017 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था। जिसके बाद से उन्हें लगातार नजरअंदाज किया गया।

लेकिन रणजी ट्रॉफी 2022-23 में असम टीम के खिलाफ केदार जाधव ने दोहरा शतक जड़कर सेलेक्टर्स को मुंहतोड़ जवाब दिया है। उन्होंने महाराष्ट्र टीम की तरफ से शानदार बल्लेबाजी करते हुए मैदान पर चौके और छक्कों की बरसात की और टीम इंडिया में वापसी का दावा ठोक दिया है।

Kedar Jadhav ने रणजी ट्रॉफी में जड़ा दोहरा शतक

बता दें कि भारतीय टीम के ऑलराउंडर खिलाड़ी केदार जाधव (Kedar Jadhav) घरेलू क्रिकेट में महाराष्ट्र टीम से खेलते है। उन्होंने हाल ही में रणजी ट्रॉफी 2022-23 में विस्फोटक बल्लेबाजी करते हुए असम के खिलाफ एक दमदार दोहरा शतक जड़ दिया है। दरअसल, महाराष्ट्र और असम के बीच खेले जा रहे मुकाबले में जाधव ने मैदान पर चौके-छक्कों की बौछार लगाई और 283 गेंदों का सामना करते हुए उन्होंने 283 रन ही बनाए, जिसमें 21 चौके और 12 छक्के शामिल रहे।

बता दें कि केदार जाधव को विराट कोहली (Virat Kohli) और नियिमत कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की कप्तानी में भारत के लिए खेलने के पर्याप्त मौके नहीं मिले। हालांकि महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में उन्हें कई बार भारतीय टीम की तरफ से खेलने का मौका मिला और उन्होंने उनके इस मौके को कई बार भुनाया। लेकिन लगातार नजरअंदाज किए जाने के बाद अब रणजी ट्रॉफी में अपना जलवा बिखेरकर उन्होंने सेलेक्टर्स के मुंह पर जोरदार तमाचा जड़ दिया है।

भारतीय टीम की तरफ से खेलते हुए ऐसा रहा केदार का प्रदर्शन

बता दें कि केदार ने भारतीय टीम के वनडे फॉर्मेट में साल 2014 में श्रीलंका के खिलाफ डेब्यू किया था। उन्होंने वनडे में अब तक 73 मैच खेले है, जिसमें उन्होंने 1389 रन बनाए। इस दौरान उनका औसत 42.09 का रहा है। वहीं जाधव ने टी-20 क्रिकेट में साल 2015 में जिम्बाब् के खिलाफ डेब्यू किया, लेकिन उन्हें इस फॉर्मेट में ज्यादा खेलने के मौके नहीं मिले। उन्होंने टी-20 में 9 मैच खेले है, जिसमें उन्होंने 122 रन ही बनाए है। इसके अलावा जाधव ने गेंदबाजी करते हुए वनडे में 73 मैचों में 27 विकेट चटकाए है।

PAK vs NZ: पाकिस्‍तान ने न्‍यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए किया टीम का ऐलान

PAK vs NZ: पाकिस्‍तान ने न्‍यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए किया टीम का ऐलान

पाकिस्‍तान ने गुरुवार को न्‍यूजीलैंड के खिलाफ तीन वनडे मैचों की सीरीज के लिए 16 सदस्‍यीय टीम की घोषणा कर दी है। पाकिस्‍तान और न्‍यूजीलैंड के बीच वनडे सीरीज की शुरुआत 9 जनवरी से होगी। सभी वनडे मैच कराची में खेले जाएंगे। पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड ने गुरुवार को न्‍यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज के लिए 16 सदस्‍यीय पाकिस्‍तानी टीम की घोषणा कर दी है। पाकिस्‍तान टीम में ओपनर फखर जमान और मिडिल ऑर्डर बल्‍लेबाज हैरिस सोहेल की वापसी हुई है। इसके अलावा 29 साल के मिडिल ऑर्डर बल्‍लेबाज तैयब ताहिर, लेग स्पिनर उस्‍मा मीर और मिडिल ऑर्डर बल्‍लेबाज कामरान गुलाम को भी मौका मिला है।

पीसीबी के अंतरिम चयन समिति प्रमुख शाहिद अफरीदी ने बताया कि लेग‍ स्पिनर शादाब खान की उंगली में चोट है और वो पूरी तरह फिट नहीं हैं। शादाब को बिग बैश लीग के दौरान चोट लगी थी। इसके अलावा अनुभवी तेज गेंदबाज हसन अली को भी टीम में जगह नहीं मिली है।

शाहिद अफरीदी ने प्रेस कांफ्रेंस में टीम की घोषणा करने के बाद कहा, ‘हमारे पास पिछले साल सीमित वनडे क्रिकेट था और इस साल एसीसी एशिया कप में खेलने से पहले हमें 11 वनडे खेलने हैं। फिर वर्ल्‍ड कप होना है, जिसकी परिस्थितियां हमारे अनुकूल है। हमारा लक्ष्‍य है कि इन 11 वनडे में उन्‍हें मौका दें जो निरंतर प्रदर्शन कर रहे हैं और इससे हमें दो महत्‍वपूर्ण टूर्नामेंट्स के लिए सर्वश्रेष्‍ठ उपलब्‍ध खिलाड़‍ियों का चयन करने में मदद मिले।’

शाहिद अफरीदी ने बताया कि कप्‍तान बाबर आजम और हेड कोच सकलैन मुश्‍ताक से बातचीत करने के बाद 16 खिलाड़‍ियों के नाम पर मुहर लगाई गई है। मोहम्‍मद रिजवान अपनी जगह बरकरार रखने में कामयाब हुए हैं। टीम में उनके अलावा और कोई विकेटकीपर नहीं हैं। पाकिस्‍तान कप फाइनल में प्‍लेयर ऑफ द मैच रहे ताहिर को शानदार प्रदर्शन का ईनाम मिला है। गुलाम ने भी घरेलू क्रिकेट में दमदार प्रदर्शन करके राष्‍ट्रीय टीम में अपनी जगह बनाई। उस्‍मा मीर ने पाकिस्‍तान कप में सबसे ज्‍यादा विकेट लिए थे, जिसकी वजह से उन्‍हें टीम में जगह मिली।
न्‍यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए पाकिस्‍तान की टीम इस प्रकार है:

बाबर आजम (कप्‍तान), फखर जमान, हैरिस रउफ, हैरिस सोहेल, इमाम उल हक, कामरान गुलाम, मोहम्‍मद हसनैन, मोहम्‍मद नवाज, मोहम्‍मद रिजवान, मोहम्‍मद वसीम जूनियर, नसीम शाह, सलमान आघा, शाहनवाज दहानी, शान मसूद, तैयब ताहिर और उस्‍मा मीर।

Urfi Javed ने कपड़ों को लेकर हुए विवाद के बीच फिर दिया विवादित बयान, कहा- मेरा नंगा नाच…

Uorfi Javed Dress Row उर्फी जावेद ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। उन्होंने एयरपोर्ट पर कहा है कि उनका कपड़ों को लेकर नंगा नाच जारी रहेगा। उर्फी जावेद अपनी ड्रेसिंग सेंस को लेकर खबरों में रही है। Uorfi Javed Dress Row: उर्फी जावेद को गुरुवार को मुंबई एयरपोर्ट पर स्पॉट किया गया है। इस अवसर पर उन्होंने ब्लू कलर की डेनिम से बनी एक रिवीलिंग ड्रेस पहन रखी थी। कपड़ों को लेकर हमेशा से खबरों में रहने वाली उर्फी जावेद ने अब एक विवादित बयान भी दिया है।
मेरा नंगा नाच जारी रहेगा- उर्फी जावेद
उर्फी जावेद से कैमरामैन पूछ रहा है, उर्फी जी, आप अपने फैंस को क्या कहना चाहोगे जो आपसे बहुत प्यार करते हैं।’ इस पर उर्फी जावेद कहती हैं, ‘प्यार का तो पता नहीं लेकिन मैं यह कहना चाहती हूं मेरा नंगा नाच जारी रहेगा।’ इसके बाद उर्फी जावेद कैमरे की ओर देखकर हंसती हुई नजर आ रही हैं।

उर्फी जावेद को इसे लेकर उन्हें ट्रोल भी किया जा रहा है

उर्फी जावेद की यह वीडियो इंस्टाग्राम पर फोटोग्राफर विरल भयानी ने शेयर की है। इसके साथ उन्होंने लिखा है, उर्फी जावेद ने यह क्या बोला।’ इसे लेकर उन्हें ट्रोल भी किया जा रहा है। एक यूजर ने लिखा है, ‘यूपी आओ कभी अच्छे से नंगा नाच करवाएंगे।’ वहीं, एक ने लिखा है, ‘लोग उर्फी से जलते हैं लेकिन अनन्या पांडे के पैर चाटने लगते हैं।’ कई लोगों का ध्यान उर्फी जावेद की ड्रेस पर भी गया है। उन्होंने एक जींस को उल्टे पहना है। एक ने लिखा है, ‘ये आउटफिट बहुत ही क्यूट है जींस ऑन टॉप।’

Akhanda Hindi Trailer: ‘पठान’ से पहले सिनेमाघरों में उतरेगा ‘अखंडा’, ट्रेलर

Akhanda Hindi Trailer And Release Date अखंडा 2021 में रिलीज हुई तेलुगु भाषा की फिल्म है जो बॉक्स ऑफिस पर सफल रही थी। इस फिल्म में नंदमुरी बालकृष्ण अघोरी जैसे गेटअप में नजर आएंगे जिसकी काफी चर्चा हुई थी। बॉक्स ऑफिस पर इसकी टक्कर पठान से होगी।
25 जनवरी को शाह रुख खान की फिल्म बहुप्रतीक्षित फिल्म पठान की रिलीज का बेसब्री से इंतजार किया जा रहा है। फैंस किंग खान को पठान के अंदाज में पर्दे पर देखने के लिए बेकरार हैं। पठान से ठीक पांच दिन पहले हिंदी सिनेमा के पर्दे पर एक ऐसा किरदार आ रहा है, जिसे देखकर सच में हिल जाएंगे।

यह है अखंड रूद्र सिकंदर अघोरा। तेलुगु भाषा में अखंड 2021 में रिलीज हो चुकी है और अब लगभग सालभर बाद फिल्म का हिंदी वर्जन सिनेमाघरों में उतारा जा रहा है। फिल्म में तेलुगु एक्टर नंदमुरी बालकृष्ण डबल रोल में नजर आएंगे। एक किरदार अखंड का है तो दूसरा मुरली कृष्ण का।

तेलुगु में हिट रही थी अखंडा

अखंडा एक हाइवोल्टेज एक्शन ड्रामा है, जिसका निर्देशक बोयापति श्रीनू ने किया है। डॉ. जयंतीलाल गडा और साजिद कुरैशी फिल्म को हिंदी में रिलीज कर रहे हैं। फिल्म की हाइलाइट नंदमुरी का अघोरी अंदाज में गेटअप है, जो इस एक्शन फिल्म का बेहद अहम हिस्सा है। अखंडा तेलुगु बॉक्स ऑफिस पर सफल रही थी और 120 करोड़ के आसपास कलेक्शन किया था। फिल्म में प्रज्ञा जायसवाल, जगपति बाबू और श्रीकांत अहम भूमिकाएं निभा रहे हैं। यह 2021 की दूसरी सबसे अधिक कमाई करने वाली तेलुगु फिल्म है। वहीं, बालकृष्ण के करियर की सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्म है।
कुत्ते और पठान के बीच अखंडा

जनवरी में सिर्फ दो चर्चित हिंदी फिल्में कुत्ते और पठान सिनेमाघरों में रिलीज की जा रही हैं, जो दर्शक खींच सकती हैं। कुत्ते 13 जनवरी और पठान 25 जनवरी को आ रही है। ऐसे में 20 जनवरी को आ रही अखंडा इस गैप को भरने का काम कर सकती है। पिछले कुछ महीनों से साउथ की फिल्मों ने हिंदी बेल्ट में जिस तरह से कमाई के रिकॉर्ड बनाये हैं, वो भी अखंडा के लिए फेवर में काम कर सकता है। वहीं, मल्टीप्लेक्स मालिक भी इसको लेकर उत्साहित हैं।