31.1 C
Indore
Wednesday, June 29, 2022

प्राकृतिक रंगीन कपास से होगा पर्यावरणीय समस्याओं का समाधान – डॉ मंडलोई

vidyakunj international school khandwaखंडवा : ग्लोबल वार्मिंग के विश्वव्यापी संकट से निपटने की दिशा में प्राकृतिक रंगीन कपास का व्यावसायिक उत्पादन कर कई तरह की पर्यावरणीय समस्याओं का समाधान किया जा सकता है। वस्त्र उद्योग में सर्वाधिक प्रदुषण वस्त्रों की रंगाई के कारण होता है जिससे बड़ी तादाद में जल स्त्रोत प्रदूषित होते है। वस्त्रों की रंगाई को केमिकल प्रोसेस से बचाकर लोगो को एलर्जी का शिकार होने से भी बचाया जा सकता है।

प्राकृतिक रंगीन कपास को पहली बार प्रयोगशाला से बाहर लाकर किसानो के खेतों तक पहुँचाने वाले देश के ख्यात कृषि वैज्ञानिक डॉ के सी मंडलोई ने विद्याकुंज इन्टरनेशनल स्कूल के विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए यह बात कही। मूलतः खण्डवा में रहकर अनेक कृषि अनुसन्धान करने वाले डॉ मंडलोई सेवानिवृति के बाद मुंबई में निवासरत है , वे लगभग एक दशक बाद अपनी कर्मभूमि खण्डवा आये। यहाँ उन्होंने काफी वक्त विद्याकुंज के विद्यार्थियों के साथ बिताया और उन्हें ना केवल प्राकृतिक रंगीन कपास के अनुसन्धान की पूरी कहानी बताई बल्कि इसकी मौजूदा वक्त में प्रासंगिकता भी रेखांकित की।

डॉ मंडलोई ने बताया कि सामान्यतः लोग कपास को सिर्फ सफ़ेद रंग का ही मानते है जबकि प्रकृति के खजाने में इसके अनेक रंग मौजूद है। गुलाबी ,हरा,पीला,भूरा, और कई रंगों का कपास कपास के जेनेटिक बैंक में संरक्षित है. चूँकि सफ़ेद कपास का व्यावसायिक उत्पादन ही ज्यादा होता है इसके लिए कृषि वैज्ञानिको ने भी अनुसन्धान इसी की गुणवत्ता विकसित करने पर दिया। जब दुनिया में लोगो को त्वचा की एलर्जी के चलते कॉटन के वस्त्रों की मांग बढ़ी तब कुछ शिकायते लोगों को कॉटन वस्त्र के केमिकल युक्त रंग के कारण भी आई। ऐसे में यह विचार आया कि क्यों ना खेतो से ही रंगीन कपास का उत्पादन हो जिसे रंगने की जरूरत ही ना पड़े और उसके सीधे वस्त्र बन सके।

इसी चुनौती को उन्होंने स्वीकारा और वस्त्र बनाने के लिए उपयुक्त प्राकृतिक रंगीन कपास का अनेक रंगों और शेड्स में उन्होंने उत्पादन किया। प्रयोग के बतौर निमाड़ के विभिन्न हिस्सों में किसानो को भी इसके बीज उपलब्ध कराये गए। किसानो में भी इसके उत्पादन को लेकर खासा उत्साह रहा लेकिन व्यावसायिक रूप से यह कार्य आगे नहीं बढ़ पाया। इसका उत्पादन यदि जारी रहता तो तो किसानो को इससे खासा लाभ मिलता ,चूँकि सफ़ेद कपास की तुलना में वैश्विक बाज़ार में इसकी कीमत करीब तिगुनी-चौगुनी है।

डॉ मंडलोई सपत्निक स्कूल के कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने विद्याकुंज स्कूल की अत्याधुनिक शिक्षण पद्धति ,स्मार्ट क्लास के साथ ही समस्त सुविधाओं को देखा और इसकी मुक्तकंठ सराहना भी की। उन्हने कहा कि खण्डवा जैसे छोटे शहरों में महानगरो जैसी शिक्षा व्यवस्था उपलब्ध होना काफी महत्वपूर्ण है।

उन्होंने बच्चो को भी प्रेरित करते हुए कहा कि वे पूरी मेहनत और लगन से किसी भी लक्ष्य को हासिल कर सकते है। डॉ मंडलोई ने बच्चों के सवालों के बड़े ही सरल तरीके से जवाब भी दिए। कार्यक्रम के आरम्भ में विद्याकुंज के डायरेक्टर जय नागड़ा ने स्वागत उदबोधन में डॉ मंडलोई की महत्वपूर्ण उपलब्धियों से विद्यार्थियों को परिचित कराया।

Related Articles

महाराष्ट्र में सरकार बनाने की और BJP , केंद्रीय मंत्री दानवे बोले- विपक्ष में हम बस 2-3 दिन और

मुंबई : महाराष्ट्र में जारी सियासी संग्राम के बीच BJP ने महाराष्ट्र में सरकार बनाने के संकेत दिए हैं। केंद्र सरकार के मंत्री रावसाहेब...

Maharashtra Political Crisis राज ठाकरे की मनसे में शामिल हो सकता है शिंदे गुट !

मुंबई : महाराष्ट्र में पिछले एक सप्ताह से चल रहे सियासी ड्रामे के बीच नए समीकरण बनते दिख रहे हैं। अब खबर है कि...

द्रौपदी मुर्मू ने राष्ट्रपति पद के लिए नॉमिनेशन भरा, देश को मिल सकता है पहला आदिवासी प्रेजिडेंट

नई दिल्लीः झारखंड की पूर्व राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने आज NDA की ओर से राष्ट्रपति पद के लिए अपना नामांकन दाखिल कर दिया है।...

तो क्या बंद होने वाली हैं केंद्र सरकार की मुफ्त राशन वितरण वाली योजना ?

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में भाजपा की जीत का एक बड़ा कारण राज्य में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) के...

Maharashtra Political Crisis : मुंबई आकर बात करें तो छोड़ देंगे एमवीए : संजय राउत

मुंबई : महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी सरकार पर गहराए राजनीतिक संकट के बीच शिवसेना नेता संजय राउत ने गुरुवार को बड़ा बयान दिया है।...

Maharashtra Political Crisis : शिवसेना की मीटिंग में पहुंचे 12 विधायक, एनसीपी ने बुलाई अहम बैठक

मुंबई : महाराष्ट्र के राजनीतिक संग्राम के बीच शिवसेना में बगावत बढ़ती जा रही है। बता दें कि शिवसेना के नेता एकनाथ शिंदे की...

खरगोन में जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई, लाखों रुपये का तेल जप्त

खरगोन : मध्यप्रदेश के खरगोन में जिला प्रशासन की टीम ने कार्रवाई करते हुए एक व्यपारिक प्रतिष्ठान से लाखों रुपए कीमत का तेल जब्त...

सिर्फ नोटिस देकर चलाया गया जावेद के घर पर बुलडोजर, हाईकोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस बोले- यह पूरी तरह गैरकानूनी

लखनऊ : रविवार को उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कथित तौर पर प्रयागराज हिंसा के मास्टरमाइंड मोहम्मद जावेद उर्फ जावेद पंप का घर...

43 घंटे से 11 वर्षीय बच्चे को बोरवेल से बाहर निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

रायपुर : छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा जिले में बोरवेल में गिरे बच्चे को 43 घंटे बाद भी निकाला नहीं जा सका है। अधिकारियों का कहना...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Stay Connected

5,577FansLike
13,774,980FollowersFollow
126,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

महाराष्ट्र में सरकार बनाने की और BJP , केंद्रीय मंत्री दानवे बोले- विपक्ष में हम बस 2-3 दिन और

मुंबई : महाराष्ट्र में जारी सियासी संग्राम के बीच BJP ने महाराष्ट्र में सरकार बनाने के संकेत दिए हैं। केंद्र सरकार के मंत्री रावसाहेब...

Maharashtra Political Crisis राज ठाकरे की मनसे में शामिल हो सकता है शिंदे गुट !

मुंबई : महाराष्ट्र में पिछले एक सप्ताह से चल रहे सियासी ड्रामे के बीच नए समीकरण बनते दिख रहे हैं। अब खबर है कि...

द्रौपदी मुर्मू ने राष्ट्रपति पद के लिए नॉमिनेशन भरा, देश को मिल सकता है पहला आदिवासी प्रेजिडेंट

नई दिल्लीः झारखंड की पूर्व राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने आज NDA की ओर से राष्ट्रपति पद के लिए अपना नामांकन दाखिल कर दिया है।...

तो क्या बंद होने वाली हैं केंद्र सरकार की मुफ्त राशन वितरण वाली योजना ?

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में भाजपा की जीत का एक बड़ा कारण राज्य में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) के...

Maharashtra Political Crisis : मुंबई आकर बात करें तो छोड़ देंगे एमवीए : संजय राउत

मुंबई : महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी सरकार पर गहराए राजनीतिक संकट के बीच शिवसेना नेता संजय राउत ने गुरुवार को बड़ा बयान दिया है।...