20.2 C
Indore
Saturday, October 16, 2021

बोले मोहन भागवत- ‘राष्ट्रवाद’ में नाजी-हिटलर की झलक, देश की एकता ही असली ताकत

भागवत ने कहा कि दुनिया के सामने इस वक्त ISIS, कट्टरपंथ और जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दे बड़ी चुनौती हैं, दुनिया के सामने जो बड़ी समस्याएं हैं, उनसे सिर्फ भारत ही निजात दिलवा सकता है ऐसे में हिंदुस्तान को दुनिया का नेतृत्व करने की सोचना चाहिए, देश की एकता ही असली ताकत है, इसका आधार अलग हो सकता है लेकिन लक्ष्य एक ही है।
रांची:राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने ‘राष्ट्रवाद’ के मसले पर बड़ा बयान दिया है, उन्होंने कहा कि राष्ट्रवाद जैसे शब्द में ‘नाजी’ और ‘हिटलर’ की झलक दिखाई पड़ती है इसलिए ‘राष्ट्रवाद’ की जगह राष्ट्र या राष्ट्रीय जैसे शब्दों को ही प्रमुखता से इस्तेमाल करना चाहिए, झारखंड की राजधानी रांची एक कार्यक्रम में संघ प्रमुख ने कहा कि भारत को बनाने में हिंदुओं की जवाबदेही सबसे ज्‍यादा है, हिंदू अपने राष्‍ट्र के प्रति और जिम्‍मेवार बनें और भारत को विश्‍वगुरु बनाना सबका ध्‍येय होना चाहिए।

भागवत ने कहा कि दुनिया के सामने इस वक्त ISIS, कट्टरपंथ और जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दे बड़ी चुनौती हैं, दुनिया के सामने जो बड़ी समस्याएं हैं, उनसे सिर्फ भारत ही निजात दिलवा सकता है ऐसे में हिंदुस्तान को दुनिया का नेतृत्व करने की सोचना चाहिए, देश की एकता ही असली ताकत है, इसका आधार अलग हो सकता है लेकिन लक्ष्य एक ही है।

साथ ही मोहन भागवत ने ये भी कहा कि हिंदुओं को संघ की शाखा में जरूर आना चाहिए, इससे उनका आत्‍मबल बढ़ेगा। वे शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत बनेंगे, उन्‍होंने चेताया कि शाखा में टिकट पाने की लालसा से आने वाले इससे दूर रहें, यहां कोई लोभ-लालच सिद्ध नहीं होगा। किसी पद की चाह में संघ से जुड़ने वालों के लिए आरएसएस में कोई जगह नहीं है।

गौरतलब है कि संघ प्रमुख मोहन भागवत पांच दिनों के दौरे पर बुधवार शाम ही राजधानी रांची पहुंचे थे, जहां हवाई अड्डे पर क्षेत्र प्रचारक रामदत्त चक्रधर, सह प्रांत प्रचारक दिलीप कुमार, सह प्रांत कार्यवाह राकेश लाल, प्रांत संपर्क प्रमुख राजीव कमल बिट्टू और सह विभाग संघचालक विवेक भसीन ने उनका स्वागत किया था, राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ की ओर से आयोजित संघ समागम में वे हिस्‍सा लेंगे।

इससे पहले दिल्ली में एक कार्यक्रम में दिल्ली चुनावों में बीजेपी की हार पर मोहन भागवत ने कहा था कि चुनावों में भारतीय जनता पार्टी की हार को हिंदुत्व की हार के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए, हिंदुत्व का मतलब उन लोगों को शिक्षित करना है जिन्होंने झूठे प्रचार के जरिए हिंदू धर्म को बदनाम किया है, भागवत ने भाजपा की चुनावी राजनीति और हिंदुत्व के बीच अंतर कर देखने की बात की थी, उन्होंने कहा कि सरकारें आएंगी और जाएंगी लेकिन सबका ध्यान समाज के बदलाव पर होना चाहिए।

Related Articles

छत्तीसगढ़ में हादसा: मूर्ति विसर्जन के लिए जा रहे लोगों को गाड़ी ने कुचला, एक की मौत, 16 घायल

जशपुर : छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में एक भीषण हादसे की जानकारी सामने आई है। यहां दुर्गा विसर्जन के लिए जा रहे कुछ लोगों...

सात नई रक्षा कंपनियों को पीएम मोदी ने किया राष्ट्र को समर्पित, भारत में बनेंगे पिस्टल से लेकर फाइटर प्लेन

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को सात नई रक्षा कंपनियों को राष्ट्र को समर्पित किया। उन्होंने कहा कि यह शुभ संकेत हैं...

दशहरे में रामचरित मानस की चौपाई के जरिए राहुल गांधी का मोदी सरकार पर निशाना, इस अंदाज में दी बधाई

नई दिल्लीः देशभर में दशहरा का त्यौहार मनाया जाएगा। इस अवसर पर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने रामचरित मानस की चौपाई ट्वीट कर एक...

भागवत : ‘जिनकी मंदिरों में आस्था नहीं, उनपर भी खर्च हो रहा मंदिरों का धन’, 

नई दिल्ली: दशहरा के मौके पर संघ प्रमुख मोहन भागवत ने नागपुर स्थित संघ मुख्यालय में लोगों को संबोधित किया। मोहन भागवत ने ने...

वैचारिक भ्रम का शिकार:वरुण गांधी

भारतवर्ष में आपातकाल की घोषणा से पूर्व जब स्वर्गीय संजय गांधी अपनी मां प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी को राजनीति में सहयोग देने के मक़सद से...

जम्मू-कश्मीर: पुंछ में एक बार फिर शुरू हुई सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़

जम्मू: जम्मू संभाग में पुंछ जिले के मेंढर सब-डिवीजन के भाटादूड़ियां इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच एक बार फिर मुठभेड़ शुरू हो...

हरियाणा: कुंडली बॉर्डर पर युवक की हत्या, पिटाई के बाद हाथ काट बैरिकेड से लटकाया

चंडीगढ़ : हरियाणा के सोनीपत में कुंडली बॉर्डर पर युवक की बर्बर तरीके से हत्या कर दी गई। तीन कृषि कानूनों को रद्द कराने...

CM Kejriwal: उपराज्यपाल को लिखा पत्र- दिल्ली में बेहतर है कोरोना की स्थिति, मिलनी चाहिए छठ पूजा की अनुमति

नई दिल्लीः राजधानी दिल्ली में महापर्व छठ को लेकर असमंजस बरकरार है। दिल्ली सरकार ने इस बाबत गाइडलाइंस जारी करने के लिए केंद्र सरकार...

सावरकर हिंदुत्व को मानते थे, लेकिन वह हिंदूवादी नहीं थे – रक्षामंत्री

उन्होंने कहा कि हिंदुत्व को लेकर सावरकर की एक सोच थी जो भारत की भौगोलिक स्थिति और संस्कृति से जुड़ी थी। उनके लिए हिन्दू शब्द...

Stay Connected

5,577FansLike
13,774,980FollowersFollow
122,000SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

छत्तीसगढ़ में हादसा: मूर्ति विसर्जन के लिए जा रहे लोगों को गाड़ी ने कुचला, एक की मौत, 16 घायल

जशपुर : छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में एक भीषण हादसे की जानकारी सामने आई है। यहां दुर्गा विसर्जन के लिए जा रहे कुछ लोगों...

सात नई रक्षा कंपनियों को पीएम मोदी ने किया राष्ट्र को समर्पित, भारत में बनेंगे पिस्टल से लेकर फाइटर प्लेन

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को सात नई रक्षा कंपनियों को राष्ट्र को समर्पित किया। उन्होंने कहा कि यह शुभ संकेत हैं...

दशहरे में रामचरित मानस की चौपाई के जरिए राहुल गांधी का मोदी सरकार पर निशाना, इस अंदाज में दी बधाई

नई दिल्लीः देशभर में दशहरा का त्यौहार मनाया जाएगा। इस अवसर पर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने रामचरित मानस की चौपाई ट्वीट कर एक...

भागवत : ‘जिनकी मंदिरों में आस्था नहीं, उनपर भी खर्च हो रहा मंदिरों का धन’, 

नई दिल्ली: दशहरा के मौके पर संघ प्रमुख मोहन भागवत ने नागपुर स्थित संघ मुख्यालय में लोगों को संबोधित किया। मोहन भागवत ने ने...

वैचारिक भ्रम का शिकार:वरुण गांधी

भारतवर्ष में आपातकाल की घोषणा से पूर्व जब स्वर्गीय संजय गांधी अपनी मां प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी को राजनीति में सहयोग देने के मक़सद से...