Home > India > दादरी कांड: अख़लाक़ के परिवार की गिरफ़्तारी पर रोक

दादरी कांड: अख़लाक़ के परिवार की गिरफ़्तारी पर रोक

Allahabad High Courtइलाहाबाद- इलाहाबाद हाई कोर्ट ने शुक्रवार को गौहत्या मामले में अख़लाक़ के परिजनों को बड़ी राहत देते हुए उनके गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। हालांकि कोर्ट ने अख़लाक़ के भाई जान मोहम्मद को कोई राहत नहीं दी।

बता दें गौतमबुद्धनगर की जिला कोर्ट ने मथुरा फॉरेंसिक लैब रिपोर्ट में गौमांस की पुष्टि होने के बाद अख़लाक़ के परिजनों के के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया था। कोर्ट ने अखलाक(मृतक) के भाई-जान मोहम्मद, मां-असगरी, पत्नी-इकरामन, बेटे-दानिश बेटी-शाईस्ता और रिश्‍तेदार-सोनी के खिलाफ केस दर्ज करने का आदेश दिया था। जिसके बाद परिजनों ने इसे साजिश करार देते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट से गिरफ्तारी पर रोक लगाने की गुहार लगाई थी।

File-Pic

File-Pic – Dadri lynching  Mohammad Akhlaq family

अखलाक के परिवार ने दादरी और मथुरा में हुई मांस की फोरेंसिक जांच के दौरान नमूनों में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए उसकी रिपोर्ट में गौमांस होने का दावा किये जाने के बाद अपने खिलाफ दर्ज गोवध के मुकदमे में गिरफ्तारी पर रोक के लिये अदालत का दरवाजा खटखटाने का फैसला किया था।

मालूम हो कि पिछले साल 28 सितम्बर को दादरी के बिसाहड़ा गांव में गोहत्या करके मांस को घर में रखने का आरोप लगाते हुए घर में घुसी भीड़ ने अखलाक की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी और उसके बेटे दानिश को गम्भीर रूप से घायल कर दिया था।

इस मामले में कुछ स्थानीय लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके जांच की गयी थी। इस मामले में गौतमबुद्धनगर की एक अदालत में हाल में दाखिल फोरेंसिक रिपोर्ट में नमूने के कहा गया था कि अखलाक के घर से बरामद मांस गोमांस ही था।




Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com