नौकरी पाने से पहले बताइए आप वर्जिन हैं कि नहीं! - Tez News
Home > State > Bihar > नौकरी पाने से पहले बताइए आप वर्जिन हैं कि नहीं!

नौकरी पाने से पहले बताइए आप वर्जिन हैं कि नहीं!

पटना: बिहार के इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस द्वारा जारी किए गए फार्म में वर्जिन शब्द के उपयोग पर बवाल मच गया है। इसके बाद फार्म से इस शब्द को हटाकर नए फार्म जारी किए गए हैं। बता दें कि अस्पताल ने कर्मचारियों के लिए गए मैरिटल स्टेटस डिक्लरेशन फॉर्म जारी किया था जिसमें उनकी पत्नियों की संख्या के अलावा यह भी पूछा गया था कि क्या कर्मचारी वर्जिन हैं।

फार्म का विरोध होने के बाद राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा है, वर्जिन का मतलब होता है अविवाहित….

मंगल पांडे का कहना है कि वर्जिन का अविवाहिता से होता है और मुझे नहीं लगता कि फॉर्म में कुछ भी आपत्तिजनक है। न्यूज एजेंसी एएनआई के ने इस फॉर्म की तस्वीर भी ट्वीट की थी और अब मंगल पांडे का बयान भी ट्वीट किया है।

एएनआई के मुताबिक, स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि चूंकि यह मसला उठाया गया तो मैंने इस पर इंस्टीट्यूट से बात की जिनका कहना है कि यह तो एम्स का फॉर्मेट है और 1983 से इस्तेमाल होता आ रहा है। उन्होंने कहा कि यह पूरे देश में इस्तेमाल किया जाता रहा है और इसमें गलत क्या है?

बता दें कि फार्म में जो प्रश्न पूछे गए वो एेसे हैं जिसे लेकर कर्मचारी शर्म भी महसूस कर रहे हैं तो वहीं उन्हें ये समझ नहीं पा रहे कि क्या जवाब दें। डॉक्टर, नर्स और अन्य स्टाफ से फॉर्म में पूछा गया है कि क्या आप virgin हैं? वहीं हॉस्पिटल ने पुरुष स्टाफ से पूछा है कि वे बताएं कि क्या उनकी एक से अधिक पत्नियां हैं?

फार्म को पूरा भरकर देना है जरूरी

इंदिरा गांधी इंस्टीच्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (आइजीआइएमएस) में नौकरी करना चाह रहे हैं तो आपको बताना होगा कि आप वर्जिन हैं या नहीं। नियुक्ति पत्र में इसके लिए कॉलम बना है। इसे भर कर देना जरूरी है। आप महिला हों या पुरुष, कोई फर्क नहीं पड़ता।

इस बाबत संस्थान के एक महिला चिकित्सक ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि इसको लेकर कई बार लोगों ने सवाल उठाया। लेकिन किसी की नहीं सुनी गई।

बस सभी ने यही कहा कि यह प्रपत्र पूर्व निर्धारित हैं, इसमें किसी प्रकार का परिवर्तन संभव नहीं है। इस बाबत संस्थान अपर चिकित्सा अधीक्षक डॉ. मनीष मंडल ने बताया कि यह केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से ही निर्धारित किया गया है। ऐसे में इस कॉलम को नहीं हटाया जा सकता है।

मैरिटल स्टेटस डिक्लरेशन फॉर्म में पूछे गए हैं प्रश्न

दरअसल, इंदिरा गांधी इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, आइजीआइएमएस पटना ने अपने कर्मचारियों से अपना मैरिटल स्टेटस डिक्लेयर करने को कहा है। मैरिटल स्टेटस डिक्लेयर करने के लिए जारी किए गए फॉर्म में कुछ ऐसी पर्सनल बातें पूछी गईं हैं, जिससे विवाद शुरू हो गया है।

फॉर्म में पूछा गया है कि क्या आप वर्जिन हैं। अगर शादी हो गई है तो बताएं कि कितनी पत्नियां हैं और भी बहुत कुछ है जिसपर डॉक्टरों ने अापत्ति जताई है।

मैं -वर्जिन, बैचलर या विधुर हूं

मै-विवाहित हूं और मेरी सिर्फ एक पत्नी है।

मैंने जिस व्यक्ति से शादी की है उसकी कोई और पत्नी नहीं है।

मैं विवाहित हूं और मेरी एक से अधिक पत्नियां हैं।

मैंने ऐसे व्यक्ति से शादी की है, जिसकी दूसरी पत्नी जीवित है।

loading...
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com