13 प्वाइंट रोस्टर को लेकर विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा किए गये भारत बंद का असर बिहार में दिखने लगा है।

बंद समर्थकों ने कहीं ट्रेन रोकी है तो कहीं सड़क यातायात को भी बाधित किया है। आरा में ट्रेन रोक रहे 10 से ज्यादा आइसा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया।

बंद समर्थक रेलवे स्टेशन पहुंचे थे जहां जीआरपी और आरपीएफ ने उन्हें हिरासत में ले लिया। आइसा कार्यकर्ताओं ने अहमदाबाद-पटना ट्रेन के परिचालन को बाधित किया था।

नवादा में भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं के द्वारा पटना-रांची एनएच 31 को जाम कर जमकर प्रदर्शन किया गया।

प्रदर्शन के कारण एनएच 31 पर दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई। सद्भावना चौक को पूरी तरह से ठप्प कर दिया गया जिसके कारण गया, पटना, रांची आने जाने वाले सभी वाहन जाम में फंसे रह गए।

बंद कार्यकर्ता सुबह से ही शहर के प्रमुख मार्गों पर स्थित दुकानों को भी बंद करा रहे हैं। इस दौरान समर्थकों ने सरकार के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की एवं सरकार को दलित विरोधी बताया।

समर्थकों का कहना है कि जबतक इस 13 रोस्टर पॉइंट को वापस नही ले लिया जाता आंदोलन जारी रहेगा।

जहानाबाद में राजद कार्यकर्ताओं ने पटना-गया रेलखंड पर जहानाबाद स्टेशन के निकट रेलवे ट्रैक पर आगजनी कर पटना से रांची जा रही जनशताब्दी एक्सप्रेस को रोक दिया।

सुबह से ही बंद को लेकर राजद कार्यकर्ताओं ने स्टेशन गेट के निकट एनएच 83 को भी रोक कर आवागमन ठप कर दिया और सरकार के विरोध जमकर नारेबाजी की प्रदर्शन कर रहे हैं।

राजद कार्यकर्ताओं ने कहा कि 13 प्वाइंट रोस्टर के कारण गरीब के बच्चों को नौकरी से वंचित किया जा रहा है। उसी के विरोध में यह बन्द आयोजित किया जा रहा है।

बन्द समर्थकों ने बताया कि इस रोस्टर को वापस लिए जाने की मांग को लेकर यह आंदोलन किया जा रहा है और सभी बाजार और सड़क मार्ग को बन्द किया जा रहा है।

अरवल में भी बंद समर्थकों द्वारा सड़क जाम और आगजनी करने की सूचना मिल रही है। बंद को लेकर राजधानी पटना में भी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

बंद समर्थकों से निपटने के लिए भारी संख्या में सड़कों पर पुलिस बल की तैनाती की गई है।