नेहरू के कारण हुआ था बंटवारा, जिन्ना विद्वान व्यक्ति थे – भाजपा नेता

0
2

लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान एक बार फिर पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना राजनीतिक भाषण का हिस्सा बन गए हैं।

मध्य प्रदेश की रतलाम-झाबुआ सीट से बीजेपी के उम्मीदवार गुमान सिंह दामोर ने शनिवार को अपनी लोकसभा सीट पर प्रचार के दौरान एक विवादित टिप्पणी की है।

अपने संसदीय क्षेत्र में प्रचार के दौरान गुमान सिंह ने एक सभा को संबोधित करते हुए पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना को विद्वान बताया और कहा कि अगर आजादी के वक्त जवाहर लाल नेहरू की जिद के कारण ही देश का बंटवारा हुआ था।

अपने भाषण में गुमान सिंह ने भारत-पाकिस्तान के बंटवारे का जिक्र कहते हुए कहा,’आजादी के समय अगर नेहरू जिद्द का करने तो इस देश के दो टुकड़े नहीं होते। मोहम्मद जिन्ना, एक ऐडवोकेट और एक विद्वान व्यक्ति अगर उस वक्त फैसला लिया होता कि हमारा पीएम मोहम्मद जिन्ना बनेगा तो इस देश के टुकड़े नहीं होते।’

बता दें कि गुमान सिंह का यह बयान उस वक्त आया है, जबकि 12 मई को देश में सात राज्यों की 59 लोकसभा सीटों पर वोटिंग होनी है।

इससे पहले यूपी के विधानसभा चुनाव के दौरान भी अलीगढ़ मुस्लिम विवि में मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर पर छिड़ा विवाद सियासत का मुद्दा बना था।

12 मई को होगी 59 सीटों पर वोटिंग

12 मई को देश भर में जिन 59 सीटों पर मतदान होना है, उसमें मध्य प्रदेश की 8 लोकसभा सीटें भी शामिल हैं। इन सीटों पर चुनाव प्रचार का दौर शुक्रवार शाम ही समाप्त हो चुका है।

वहीं सातवें चरण के लिए 8 राज्यों की 59 सीटों पर चुनाव प्रचार का दौर अब भी जारी है और इन सीटों पर आखिरी चरण में 19 मई को वोटिंग कराई जानी है।