Home > Crime > ग्वालियर: दौड़ा-दौड़ा कर गोलियां मारी, स्टूडेंट की मौत

ग्वालियर: दौड़ा-दौड़ा कर गोलियां मारी, स्टूडेंट की मौत

firing-in-delhis-karkardoma-court-two-injuredग्वालियर– मध्य प्रदेश के ग्वालियर में कुछ युवकों द्वारा एक परिवार पर फायरिंग करने से एक स्टूडेंट की मौत हो गई वहीँ अन्य ने भागकर जान बचाई ! घटना ग्वालियर के गायत्री विहार कॉलोनी की है। हमलावरों ने लगभग आधा घंटे में 15-20 फायर कट्टे, पिस्टल, बंदूक से किए । ताबड़तोड़ फायरिंग के बाद पुलिस कंट्रोल रूम को भी सूचना दे दी गई थी। हमलावरों के तेवर देखते हुए लोग घरों में घुस गए।

घटना के बाद पुलिस ने दो हमलावरों को हिरासत में ले लिया। उनसे लूटी गई राइफल भी बरामद हो गई है। घटना के बाद से क्षेत्र में तनाव है और पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। पुलिस बाकी आरोपियों की तलाश कर रही है।

स्थानीय निवासी लाल सिंह और उनके परिवार पर अरेस्ट हुए आरोपी आशीष राठौर और सोनू राजावत ने अपने साथियों के साथ फायरिंग कर दी। हमले में 17 साल के स्टूडेंट शंकर सिंह की मौत हो गई, उसे दो गोलियां लगीं थी। बताया जा रहा है कि शंकर को हमलावरों ने दौड़ा-दौड़ा कर गोलियां मारी।

वहीं, लाल सिंह और उनके भाई मंगल सिंह ने भागकर जान बचाई। हमला होने के बाद लाल सिंह ने साथियों के साथ बदमाशों पर फायरिंग भी की। इस गैंगवार में लगभग एक घंटे तक गोलियां चलती रही।

आशीष राठौर, साेनू सिंह राजावत, देशराज गुर्जर, अजीत गुर्जर, रामू गुर्जर, दीपेन्द्र गुर्जर, सुनील गुर्जर तथा इनके साथियों ने उन्हें घेर लिया और मारपीट शुरू कर दी। पिता व बड़े भाई के साथ शादी में शामिल होने जा रहे छात्र की ताबड़तोड़ गोली बरसाकर हत्या कर दी गई। हमलावरों ने छात्र को पकड़कर गले में गोली मारी। वारदात रविवार शाम 6.30 बजे गायत्री विहार कॉलोनी पिंटो पार्क में हुई। हमलावर मृतक के पिता की बंदूक भी छीन ले गए हैं।

गोला का मंदिर थानाक्षेत्र स्थित पिंटो पार्क गायत्री विहार कॉलोनी निवासी लालसिंह सेंगर का दूध का व्यवसाय है। उनके दो बेटे मंगलसिंह सेंगर (21) व छोटा बेटा शंकर सिंह सेंगर (17) हैं। शंकर 12वीं का छात्र है। उसका क्षेत्र में ही रहने वाले आशीष राठौर, सोनू राजावत व अजीत गुर्जर, देशराज, दीपेन्द्र व विशाल से क्षेत्र में वर्चस्व को लेकर झगड़ा चल रहा था।

रविवार शाम लाल सिंह दोनों बेटे के साथ पिंटो पार्क पर ही किसी शादी में शामिल होने के निकले ही थे। लाल सिंह सुरक्षा के लिए 12 बोर की लाइसेंसी राइफल भी साथ लिए थे। अभी वह शिव मंदिर के पास तिराहे पर ही पहुंचे थे कि बाइक सवार 10 से 12 युवकों के साथ आशीष, सोनू व विशाल उनका पहले से ही इंतजार कर रहे थे। छात्र व उसके परिजन को देखते ही हमलावरों ने उन्हें घेर लिया।

हमलावरों ने पहले छात्र के पिता से राइफल छीनी और फिर फायरिंग शुरू कर दी। जान बचाने के लिए तीनों भागे, लेकिन हमलावरों ने छात्र शंकर को पकड़कर गले व पेट में गोली मार दी। इसके बाद वे गोलियां बरसाते हुए फरार हो गए। हमलावरों के भागने के बाद छात्र को क्षेत्रीय लोगों की मदद से बिड़ला अस्पताल पहुंचाया गया। जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया है। घटना की सूचना के बाद पुलिस ने तत्काल कार्रवाई की और दो हमलावरों सोनू व आशीष को पकड़ लिया है। उनसे लूटी गई बंदूक भी बरामद हो गई है।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com