Home > India > बॉर्डर पर किसानों की सुरक्षा के साथ फसल भी कटवा रहे आर्मी जवान

बॉर्डर पर किसानों की सुरक्षा के साथ फसल भी कटवा रहे आर्मी जवान

bsf_protection_formers_on-borderफाजिल्का- पंजाब के फाजिल्का में जय जवान जय किसान का नारा हुआ बुलंद भारत सरकार ने सरहद के पार  तारबंदी के नजदीक खेती करने वाले किसानों की बढ़ाई सुरक्षा जहां भारतीय फौज के जवानों द्वारा किसानों की सुरक्षा को लेकर कंधे से कंधा मिलाकर उनकी पके हुए धान की फसल कटवाई जा रही है ! व्ही किसान भी अपनी फसलों को बेखौफ होकर कर काट रहे हैं।

भारत और पाक में युद्ध के आसार को लेकर जहाँ पंजाब के बॉर्डर पर बसे 6 जिलों में 10 किलोमीटर के अंदर सरहद के साथ लगती सभी गांव को खाली करवा लिया गया है। वही इन गांव में बसते किसानों की धान की फसल पक कर तैयार हो चुकी है और किसानों की ज्यादातर जमीने बॉर्डर की तारबन्दी के पार है जहाँ उस तारबन्दी के पार पर भी किसानों द्वारा खेती की गई है।

सरकार द्वारा  सख्ती के चलते बीएसऍफ़ द्वारा तारबन्दी के नजदीक जाने से रोका गया था। जिससे इन किसानों को अपनी फसलों को जंगली जानवरों और लगने वाली बीमारियों डर सत्ता रहा था और इन किसानों को अपनी फसलों को काटकर मंडी में ले जाने में दिक्कत आ रही थी। जिसपर सरकार द्वारा इनकी पकी हुई फ़सल को देखते हुए इन किसानों को आर्थिक नुकसान से बचाने के लिये वहाँ जाने की इजाजत दे दी गई है।

इजाजत मिलने के बाद बीएसएफ के जवान हमारे किसानों की सुरक्षा हेतु उनकी फसले कटवाने में कंधे से कंधा मिलाकर बैठे हुए हैं। फाजिल्का की सरहद पर बसे गांव पक्का चिश्ती आसब वाला मुहार जमशेर के किसानों की जमीने एल ओ सी के उस पार भी है। जहां यह किसान अपनी पकी हुई फसल को लेकर चिंतित थे। तभी हमारे बीऐसऍफ़ के जांबाज़ जवानों ने किसानों का हौसला बढ़ाते हुए उनके साथ अपनी सुरक्षा के अधीन फसलें काटने का इरादा बनाया और अब यह जवानों के साथ मिलकर सरहद के उस पार निकल पड़े हैं।

सरहद के साथ लगते किसानों की फसल काटते हुए कवरेज करने गए तो वहां पर बीएसएफ के जवान भी पूरे अलर्ट होकर किसानो के साथ कंधे से कंधा मिलाकर उनकी सुरक्षा में खड़े नजर आए और किसान भी बेखौफ होकर अपनी फसल काटने में मशरूफ थे और हमारे बी ऐस ऍफ़ के जवान उनकी सुरक्षा में तैनात थे।

फसल काटने वाले किसानों ने बताया कि हमारी जमीन सरहद के इस पार है और भारत और पाक में चल रहे तनाव के कारण  हम लोगों को बॉर्डर के साथ लगते 10 किलोमीटर के एरिया को खाली करने के लिए बोला गया था लेकिन जैसे हमारी बी एस एफ के जवानों ने हमें सुरक्षा प्रदान की है। हम उनके आभारी हैं और अगर भारत-पाक में युद्ध छेड़ता है तो हम पीछे भागने की बजाए अपने जवानों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर दुश्मन के साथ लड़ेंगे और इनको खाने पीने का सामान पहुंचाएंगे।

इस बारे में सरहद की साधकी चौकी बीऐसऍफ़ के सीओ एम्पी सिंह ने बताया कि डरने वाली कोई बात नहीं है हम अपने देश की रक्षा के लिए जाग रहे हैं आप लोग बेखौफ होकर सोइए और हम किसानों और आम नागरिकों की रक्षा के लिए हर वक्त तैयार हैं।

जहाँ आज जय जवान जय किसान का नारा हुआ बुलंद करते हुए भारत के इन किसानों और जवानों ने सरहद पर ऐसी कमान संभाली है अगर ऐसे ही हर हिन्दुस्तानी भारत की फ़ौज के साथ खड़ा हो जाए तो किसी भी दुशमन देश के हौसले पस्त हो जाएं।
रिपोर्ट- @इन्द्रजीत सिंह




Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com