#Budget_2020 : नई शिक्षा नीति जल्द , शिक्षा के लिए 99,300 करोड़ के बजट

वित्त मंत्री ने कहा कि नई शिक्षा नीति जल्द ही घोषित की जाएगी। वित्त मंत्री ने शिक्षा के लिए 99,300 करोड़ के बजट का ऐलान किया वित्त मंत्री ने कहा कि अस्पतालों में मेडिकल कॉलेज बनाने की योजना शुरू की जाएगी, युवा इंजीनियर्स को इंटर्नशिप की सुविधा मिलेगी।नई दिल्ली: देश में बढ़ती बेरोजगारी की वजह से मोदी सरकार लगातार विपक्ष के निशाने पर रहती है। विपक्ष केंद्र पर बिना रोजगार का विकास करने का आरोप लगाता आया है। बेरोजगारी की समस्य से निपटने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज आम बजट में बड़ा एलान किया है। निर्मला सीतारमण ने गैर राजपत्रित पदों के लिए अलग से राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी यानि नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी के गठन का एलान किया है। निर्मला सीतारमण ने कहा कि यह एजेंसी भर्ती प्रक्रिया में अहम भूमिका निभाएगी।

नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी युवाओं को रोजगार देने में अहम भूमिका निभाएगा। वित्त मंत्री ने बताया कि युवाओं को रोजगार पाने के लिए एक टेस्ट देना होगा। यह टेस्ट कंप्यूटर आधारित होगा जिसके जरिए आवेदकों की अर्हता का परीक्षण किया जाएगा। यह टेस्ट कॉमन इलिजिबिलिटी टेस्ट यानि सामान्य योग्यता टेस्ट होगा, जिसके जरिए आवेदकों की भर्ती गैर राजपत्रित पदों के लिए की जाएगी। वित्त मंत्री ने कहा कि इस एनआरए के जरिए हम कुशल और योग्य लोगों को आकर्षित करने की कोशिश करेंगे।

इसके साथ ही वित्त मंत्री ने कहा कि नई शिक्षा नीति जल्द ही घोषित की जाएगी। वित्त मंत्री ने शिक्षा के लिए 99,300 करोड़ के बजट का ऐलान किया वित्त मंत्री ने कहा कि अस्पतालों में मेडिकल कॉलेज बनाने की योजना शुरू की जाएगी, युवा इंजीनियर्स को इंटर्नशिप की सुविधा मिलेगी। ब्रिज प्रोग्राम के तहत प्रैक्टिस करने वाले डॉक्टरों को प्रोफेशनल बातों के बारे में सिखाया जाएगा। वित्त मंत्री ने कहा कि हर जिले में एक्सपोर्ट हब बनाने के लिए योजना शुरू की जाएगी, निर्विक योजना के तहत लोगों को लोन दिया जाएगा और अगले पांच साल में 100 लाख करोड़ रुपए के निवेश का लक्ष्य

गौरतलब है कि देश में बेरोजगारी की समस्या को लेकर कांग्रेस ने नया अभियान शुरू करने का फैसला लिया है। पार्टी देशभर में बढ़ती बेरोजगारी की समस्या को उठाने के लिए नेशनल रजिस्टर ऑफ अनइम्प्लॉयमेंट को तैयार करेगी। पार्टी की ओर से एनआरसी के विरोध के तौर पर इस मुहिम की शुरुआत की जा रही है। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने गुरुवार को जयपुर में युवा जन आक्रोश रैली को संबोधित करते हुए इस बात का एलान किया। अभी तक पांच लाख युवाओं ने खुद को इसके तहत रजिस्टर किया है।