Home > Business > Automobile > टाटा संस टेलिकॉम कंपनी कर्मचारियों को निकालने के लिए प्लान तैयार

टाटा संस टेलिकॉम कंपनी कर्मचारियों को निकालने के लिए प्लान तैयार

टाटा संस की टेलिकॉम यूनिट बंद होने की कगार पर है। कंपनी की इस यूनिट के लिए कोई खरीदार मिल नहीं रहा है। अब टाटा टेलिसर्विसेज अपने 5,000 कर्मचारियों को निकालने की तैयारी कर रही है। इसके लिए उन्होंने एक प्लान तैयार किया है। इस प्लान के तहत

कंपनी के एग्जिक्यूटिव्स और इंडस्ट्री सूत्रों का कहना है कि कर्ज में दबी टेलिकॉम कंपनी जल्द कारोबार बंद करने जा रही है। उसने पिछले महीने ही सभी सर्किल हेड्स को 31 मार्च 2018 से पहले कंपनी छोड़ देने के लिए कहा था।

कंपनी के एक सीनियर एग्जिक्यूटिव ने बताया कि टाटा ग्रुप हमेशा अपने लोगों का ध्यान रखता है। लेकिन ग्रुप की दूसरी कंपनियों में बहुत कम लोग खपाए जा सकते हैं। टीटीएसएल के एंप्लॉयीज का बोझ टाटा की दूसरी कंपनियों पर डालना ठीक नहीं होगा। कर्मचारियों का ट्रांसफर तभी हो पाएगा, जब दूसरी कंपनियों में ऐसे खास स्किल्स की जरूरत होगी, जो टेलिकॉम यूनिट के एंप्लॉयीज के पास होती हैं।

कंपनी की तरफ से तय उम्र से ज्यादा के सीनियर एंप्लॉयीज के लिए वॉलेंटरी रिटायरमेंट स्कीम लाई जाएगी। टाटा ग्रुप के एक सीनियर अफसर ने कहा कि यह स्कीम अगले कुछ महीनों में पेश की जा सकती है। टाटा संस की टेलिकॉम कंपनी के ज्यादातर एंप्लॉयी को तीन से छह महीने तक का नोटिस ऑफर किया जाएगा। जो लोग कंपनी से जाना चाहेंगे, वे सेवरेंस पैकेज ले सकते हैं।

बता दें कि कंपनी की हाल ही में जारी हुई एन्युअल रिपोर्ट के मुताबिक 31 मार्च 2017 तक कंपनी के पे-रोल पर 5,101 कर्मचारी थे। टाटा ग्रुप ने अपनी टेलिकॉम कंपनी बंद करने की योजना के बारे में सरकार को बता दिया है और वह इसकी प्रक्रिया महीने भर में शुरू कर देगी। टेलिकॉम सेक्टर से टैलंट एक्सेस करने वाली सर्च फर्म्स को कंपनी छोड़ने के इच्छुक सर्किल हेड्स से रेज्यूमे मिले हैं।

सर्च फर्म हेडहंटर्स इंडिया के चेयरमैन क्रिस लक्ष्मीकांत ने कहा कि टाटा टेलिसर्विसेज के सर्किल हेड, जिनका रेज्यूमे हम कंपनियों के पास भेज रहे हैं, उन्हें 31 मार्च 2018 तक का वक्त दिया गया है। उनको इसके बारे में कंपनी ने सितंबर में ही बता दिया था। अगर वे अभी कंपनी छोड़ते हैं तो उन्हें इस फाइनेंशल ईयर में बचे हुए महीनों की सैलरी दी जाएगी। एक सर्किल हेड की एक करोड़ रुपये तक सैलरी है।

क्या – क्या करना होगा

कर्मचारियों को 3 से 6 महीने का नोटिस देना होगा।
नौकरी छोड़ने को तैयार लोगों के लिए सेवरेंस पैकेज है।
सीनियर्स के लिए वॉलेंटरी रिटायरमेंट स्कीम शामिल है।
कुछ एंप्लॉयीज को ग्रुप की दूसरी कंपनियों में भी शिफ्ट करने के ऑप्शन पर भी विचार कर रही है।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com