Home > India > अजमेर : मुख्यमंत्री राजे की ओर से चादर पेश

अजमेर : मुख्यमंत्री राजे की ओर से चादर पेश

Chaadar Sent by Rajasthan Chief Minister Vasundhra Raje Offered at Ajmer Sharif Dargah

अजमेर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे की ओर से प्रसिद्ध सूफी संत ख्वाजा मोईनुद्दीन हसन चिश्ती की मजार शरीफ पर सालाना उर्स के दौरान चादर पेश की। सार्वजनिक निर्माण विभाग मंत्री युनूस खान ने शुक्रवार सुबह गरीब नवाज की मजार पर शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी, महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिता भदेल, पूर्व केन्द्रीय मंत्री शाहनवाज हुसैन एवं अजमेर जिले के विभिन्न विधायक व जनप्रतिनिधियों के साथ चादर चढ़ाकर गरीब नवाज से राज्य व देश में खुशहाली, अमनचैन, भाई-चारे की दुआ मांगी।

युनूस खान के साथ किशनगढ़ के विधायक भागीरथ चौधरी, पुष्कर के विधायक सुरेश सिंह रावत, नागौर के विधायक हबीबुर्रहमान, अमीन पठान सहित अनेक जनप्रतिनिधियों ने भी दरगाह के गुम्बद शरीफ में पहुंचकर मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे की ओर से चादर चढ़ायी और अपनी अकीदत के फूल पेश किए।

मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे की ओर से चादर के साथ भेजे गये संदेश को सार्वजनिक निर्माण विभाग मंत्री युनूस खान ने पढ़कर सुनाया। संदेश में राजे ने कहा ‘‘महान सूफी सन्त ख्वाजा मोईनुद्दीन हसन चिश्ती का 803 वां सालाना उर्स अजमेर में पूरी शिद्दत एवं श्रद्धा के साथ मनाया जा रहा है। ख्वाजा गरीब नवाज देश व दुनिया की अजीम शख्सियत थे। उन्होंने पूरी दुनिया को प्यार, मोहब्बत, अमन, इंसानियत एवं भाई-चारे का पैगाम दिया। इसी कारण पूरे विश्व के कौने-कौनेसे अकीदतमंद ख्वाजा साहब के दरबार में हाजिरी देने आते हैं।

इनका दरबार सर्वधर्म सद्भाव एवं राष्ट्रीय एकता का प्रतीक है। मुझे विश्वास है कि उर्स के दौरान देश-विदेश से आने वाले लाखों अकीदतमंद ख्वाजा साहब की प्रेम, इंसानियत एवं भाईचारे की तालीम से सराबोर होकर लौटेंगे। उर्स के मुबारक मौके पर मैं गरीब नवाज के आस्ताने पर खिराजे अकीदत पेश करती हूं।

इस मौके पर नगर परिषद के पूर्व सभापति सुरेन्द्र सिंह शेखावत, प्रोफेसर बी.पी. सारस्वत, पूर्व जिला प्रमुख सरिता गैना, सलावत खान सहित विभिन्न निगम व बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष व अन्य जनप्रतिनिधि भी मौजूद थे। खादिम सैयद अफसान चिश्ती ने चादर पेश कराई और सभी की दस्तारबंदी कर तबर्रूक भेंट किया। अंजुमन व दरगाह कमेटी की ओर से युनूस खान की दस्ताबंदी की गई। इस मौके पर दरगाह में जिला कलक्टर डॉ. आरूषी मलिक, पुलिस अधीक्षक महेन्द्र सिंह चौधरी सहित जिला व पुलिस प्रशासन के सभी अधिकारी मौजूद थे।

रिपोर्ट – सुमीत कलसी
फोटो:किशोर सोलंकी

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com