Home > Crime > इंडोनेशिया से भारत लाया जा रहा है डॉन छोटा राजन !

इंडोनेशिया से भारत लाया जा रहा है डॉन छोटा राजन !

chhota rajan

नई दिल्ली- डॉन छोटा राजन को भारत लाने की प्रॉसेस आखिरी दौर में है। सोमवार को सीबीआई और मुंबई पुलिस की टीम उसे बाली की जेल से एयरपोर्ट ले जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उसे भारत लाने की तैयारी है। बताया जा रहा है कि उसे स्पेशल प्लेन से भारत लाया जा सकता है।

बता दें कि इससे पहले यह टीम रविवार को ही इंडोनेशिया पहुंच गई थी। इस ज्वाइंट टीम में सीबीआई, मुंबई पुलिस और इंडियन एंबेसी के अाला अफसर शामिल हैं। इससे पहले, रविवार को जकार्ता स्थित इंडियन एंबेसी के फर्स्ट सेक्रेटरी संजीव अग्रवाल जेल पहुंचे और राजन से मिले। राजन को वापस लाने की प्रॉसेस भी सोमवार को शुरू हो जाएगी।

स्नाइपर्स की सुरक्षा में भारत लाया जाएगा छोटा राजन
>इंडोनेशिया में गिरफ्तार किए गए अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन को स्नाइपर कमांडो की सुरक्षा में भारत लाया जाएगा। इन शूटर्स का निशाना अचूक होता है। सूत्रों के मुताबिक, राजन को भारत लाने के लिए इंडोनेशिया पहुंची टीम में तीन स्नाइपर्स शामिल हैं। टीम में सीबीआई पुलिस के अफसर और कुछ अन्य कमांडोज भी हैं। माफिया डॉन दाऊद के गुर्गों से राजन को खतरा है। इसीलिए सुरक्षा का सख्त इंतजाम किया गया है।

>इंडोनेशिया में भारतीय दूतावास के फर्स्ट सेक्रेटरी संजीव अग्रवाल ने रविवार को राजन से जकार्ता की जेल में मुलाकात की। उन्होंने कहा कि भारत सरकार का मकसद राजन को सलाहकार मुहैया कराना है। उनकी मुलाकात का मकसद यही है। इंडोनेशिया पुलिस ने दो दिन पहले एक रिपोर्ट भारतीय दूतावास को सौंपी थी। इसके बाद यह मुलाकात हुई। पिछले रविवार को ऑस्ट्रेलिया से इंडोनेशिया आने पर 55 साल के छोटा राजन को बाली एयरपोर्ट पर गिरफ्तार किया गया था।

मुंबई में पैदा हुए छोटा राजन का पूरा नाम राजेंद्र सदाशिव निखलजे है। शुरू में वह दाऊद का करीबी रहा। लेकिन मुंबई में 1993 के सीरियल बम ब्लास्ट के बाद दाऊद से अलग हो गया। उस पर मुंबई में हत्या, स्मगलिंग, वसूली और ड्रग तस्करी सहित 75 आपराधिक मामले दर्ज हैं। करीब दो दशक से कानून को चकमा दे रहे राजन को इंटरपोल के रेड कॉर्नर नोटिस के आधार पर पकड़ा गया। फिलहाल, वह इंडोनेशिया पुलिस की हिरासत में है।

इंडोनेशिया में भारतीय राजदूत गुरजीत सिंह ने बताया कि राजन के डिपोर्टेशन की प्रॉसेस शुरू हो गई है। भारत ने इंडोनेशिया के साथ इसी साल 11 मई को प्रत्यर्पण संधि पर दस्तखत किए थे। इस संधि को लागू करने के लिए इसकी मंजूरी जरूरी है। इसके लिए दोनों देशों के बीच जरूरी कागजात की अदला-बदली उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी की मौजूदगी में सोमवार को होगी। अंसारी पांच दिन की यात्रा पर इंडोनेशिया पहुंचे हैं।

छोटा राजन को डी. कपंनी के शार्प शूटर्स इंडोनेशिया में ही निशाना बना सकते हैं। अंडरवर्ल्ड के सूत्रों के मुताबिक, छोटा शकील ने अपने शूटर्स को हॉस्पिटल, कोर्ट, जेल यहां तक कि भारत ले जाते समय भी राजन पर हमला करने का खुला फरमान दे दिया है। बताया जा रहा है कि इंडोनेशिया के लोकल गुर्गे राजन के मूवमेंट के बारे में जानकारी जुटा रहे हैं। ये गुर्गे डी कंपनी के लिए काम करते हैं।

सूत्रों ने बताया कि राजन के अरेस्ट होने के बाद से ही छोटा शकील ने इंडोनेशिया में अपने गुर्गों को राजन पर लगातार नजर रखने को कहा है। इंडोनेशिया के डेनपसार के जिस पुलिस स्टेशन में राजन को पहले रखा गया था, वहां तीन अलग-अलग सेल में इंडोनेशिया के ही 43 छोटे क्रिमिनल बंद थे। सूत्रों का कहना है कि लोकल क्रिमिनलों ने राजन को परेशान किया था। इसी वजह से राजन को दूसरे सेल में ले जाया गया है।एजेंसी

 

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com