मुसलमान रमजान मनाएं, उन्हें कौन रोक रहा है :सीएम योगी

0
52

लखनऊ: लोकसभा चुनाव 2019 का शंखनाद होते ही राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज हो गई है। सभी राजनीतिक पार्टियां एक दूसरे पर हमलावर हो रही है। इसी बीच यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने सपा-बसपा गठबंधन को लेकर ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है कि, ‘बुआ और बबुआ का गठबंधन भ्रष्ट है। जीरो से गुणा करने पर जीरो ही आती है। इसी तरह सपा के पांच को बसपा के जीरो से गुणा करने पर जीरो ही आएगा।’

भारतीय निर्वाचन आयोग ने रविवार को लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया। तारीखों के ऐलान के बाद एक नया विवाद उठा खड़ा हुआ है। विवाद चुनाव की तारीख और रमजान के महीने को लेकर है। जिसके बाद चुनाव आयोग की तरफ से सफाई आ चुकी है। वहीं, सीएम योगी ने भी इस पर ट्वीट कर लिया है कि, ‘मुसलमान रमजान मनाएं, उन्हें रमजान मनाने से कौन रोक रहा है। पर्व और त्यौहार तो भारत के संवैधानिक परंपरा के हिस्से हैं। चुनाव प्रचार आप दिन भर कर सकते हैं, चुनाव के दिन मतदान कर सकते हैं। इसमें कहां से पर्व और त्यौहार आड़े आते हैं।’

साथ ही उन्होंने ने कहा कि एक तरफ मोदी के नेतृत्व में विकास, सुशासन और सुरक्षा के मुद्दे पर भाजपा गठबंधन है। वहीं, दूसरी तरफ स्वार्थ, लूट-खसोट, अराजकता और आतंकवाद को प्रेरित और पोषित करने वाला महा मिलावटी विपक्ष है। विपक्ष देश में राजनैतिक अस्थिरता और अराजकता का वातावरण पैदा करने के लिए देश के प्रधानमंत्री को निशाना बनाकर कुत्सित बयानबाजी कर रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि ‘बुआ और बबुआ का गठबंधन भ्रष्ट है। जीरो से गुणा करने पर जीरो ही आती है। इसी तरह सपा के पांच को बसपा के जीरो से गुणा करने पर जीरो ही आएगा।’

उन्होंने कहा कि इसमें किसी को कोई संदेह नहीं होना चाहिए कि भाजपा गठबंधन मोदी के नेतृत्व में इस चुनाव में प्रचंड बहुमत से जीतेगा। उत्तर प्रदेश 74 प्लस के लक्ष्य को लेकर आगे बढ़ेगा, अमेठी और आजमगढ़ को भी भाजपा ही जीतेगी। मोदी के नेतृत्व में देश ने कामयाबियों की जो सीढ़ी चढ़ी है वह कांग्रेस, सपा, बसपा, और आरजेडी जैसे दलों के लिए असंभव व नामुमकिन था। जिसे मोदी के चमत्कारी नेतृत्व ने मुमकिन बना दिया है। क्योंकि मोदी जी हैं तो मुमकिन है।

बता दें कि लोकसभा चुनाव सात चरणों में संपन्न होंगा। भारत के मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने रविवार को चुनाव कार्यक्रम की घोषणा की। उन्होंने बताया कि आम चुनाव का कार्यक्रम घोषित होने के साथ ही देश में चुनाव आचार संहिता तत्काल प्रभाव से लागू हो गयी है। 11 अप्रैल को पहले चरण के लिए वोट डाले जाएंगे, दूसरे चरण का मतदान 18 अप्रैल, तीसरे चरण का मतदान 23 अप्रैल, चौथे चरण का मतदान 29 अप्रैल, पांचवें चरण का मतदान छह मई, छठवें चरण का मतदान 12 मई और 19 मई को सातवें और आखिर फेज के लिए वोटिंग होगी। मतों की गिनती 23 मई को होगी।