Home > India > ABVP छात्र संघ चुनाव को दे रही साम्प्रदायिकता का रंग : NSUI

ABVP छात्र संघ चुनाव को दे रही साम्प्रदायिकता का रंग : NSUI

खंडवा : शहर के एसएन कॉलेज में छात्र संघ चुनाव के पहले ही दिन पुलिस और कांग्रेसियों का विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा कि पुलिस ने दो पूर्व छात्र नेताओं को उठा लिया। थाने में लाने के बाद बड़ी संख्या में कांग्रेसी भी पहुंचे। यहां विरोध दर्ज कराने के बाद पुलिस को एनएसयूआई के छात्र नेताओं को छोडऩा पड़ा। कांग्रेस नेताओं ने पुलिस पर आरोप लगाया की पुलिस सत्ता पक्ष के दबाव में काम कर रही हैं।वही एनएसयूआई के छात्रों ने आरोप लगाया की एबीवीपी छात्र संघ चुनाव को साम्प्रदायिकता के रंग में रंगना चाहती हैं।

उधर पुलिस ने बताया कि इनके पास कोई परिचय पत्र नहीं था। जिस कारण उन्हें उठाया गया। एनएसयूआई के छात्र होने के कारण कांग्रेस के नेता भी छात्रों के समर्थन में आ गए। उनका आरोप था कि भाजपा के कुछ नेता भी घूम रहे थे लेकिन पुलिस वालों ने नहीं पकड़ा। एकतरफा कार्रवाई करते हुए केवल कांग्रेस से जुड़े छात्रों को ही पकड़ा है।

एनएसयूआई के छात्र नेता अंकित पाठक ने आरोप लगाया कि अखिल भारतीय छात्र संघ गंदी राजनीति के तहत कार्य कर रही हैं। एबीवीपी के छात्रों ने पुलिस को गलत सुचना देकर कार्यवाही का दबाव बनवाया। श्री पाठक ने कहा की एबीवीपी छात्र संघ चुनाव में भी साम्प्रदायिक हथकंडे अपना रही पर इस से उन्हें फायदा नहीं होगा। उन्होंने कहा की पांच लोगों को छात्र संघ चुनाव संचालन करने के लिए अधिकृत रूप से नियुक्त किया हैं जिसके तहत ही इमरान गौरी और दिव्यांशु ओझा अधिसूचना की जानकारी लेने गए थे पर पुलिस उन्हें जबरन पकड़ कर थाने ले आई।

कांग्रेस अध्यक्ष इंदु पंवार ने तेज़ न्यूज़ को बताया की छात्र संघ चुनाव में कांग्रेस का कोई भी नेता प्रचार प्रसार करने कॉलेज नहीं जा रहा हैं। अगर इस तरह की वारदात फिर से होगी तो कांग्रेस इसके खिलाफ आंदोलन करेगी अगर बात नहीं मानी गई तो छात्र संघ चुनाव का बहिस्कार किया जायगा।

पुलिस की कार्रवाई के विरोध में कांग्रेस अध्यक्ष इंदल सिंह पंवार, परमजीत सिंह, नारायण पटेल ,राजू संगत, अंकित वर्मा, अब्दुल कदर,विशाल जैन , अमित मिश्रा ,शहजाद पंवार,असफाक सिंघाड, प्रवीण हल्दे , सहित अन्य कार्यकर्ताओं के साथ कोतवाली पहुंचे। पुलिस विरोध के बाद दोनों छात्रों को बिना कार्रवाई के छोड़ दिया। हालांकि पुलिस ने इमरान गौरी के बयान दर्ज किए हैं।

आप को बताते चले की पिछले दिनों भी चुनाव संबधी जानकारी लेने के लिए एनएसयूआई कार्यकर्त्ता एस एन कॉलेज पहुंचे थे तब भी एबीवीपी के छत्रों ने हूटिंग की थी।

30 अक्टूबर से छात्र संघ चुनाव की आचार संहिता लागू हुई है जिले के 5 कॉलेजों में ये चुनाव होने जा रहा है। आज मतदाता पुनरीक्षण का कार्य चल रहा है जो शाम तक हो जाएगा कल दावे-आपत्ति मंगाई जाएगी। जबकि इस छात्र संघ का चुनाव 30 अक्टूबर को संपन्न होगा। शाम तक मतगणना भी हो जाएगी, लम्बे आरसे बाद हो रहे चुनाव को लेकर पूर्व छात्र नेताओं से लेकर नए छात्रों में उत्साह है सुरक्षा को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने सभी कॉलेजो में पुलिस बल की तैनाती कर दी है।

 

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com