Home > Crime > नमाज पढ़कर लौट रहे युवक को जय श्रीराम नहीं बोलने पर पीटा

नमाज पढ़कर लौट रहे युवक को जय श्रीराम नहीं बोलने पर पीटा

सदर बाजार स्थित जामा मस्जिद में शनिवार रात नमाज पढ़कर आ रहे एक युवक को रोककर नशे में धुत शरारती तत्वों ने उसके टोपी पहनने पर टिप्पणी की और कथित तौर पर भारत माता और जय श्रीराम के नारे लगाने के लिए कहा।

मना करने पर उससे मारपीट की और टोपी फेंक दी। शोरशराबा सुनकर बड़ी संख्या में लोग मौके पर एकत्रित हुए तो आरोपी मौके से फरार हो गए।

माहौल गरमाता देख पुलिस के आला अधिकारियों ने मौके पर पहुंच लोगों को शांत किया। फिलहाल अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपियों की पहचान में जुटी है।

पुलिस के अनुसार मूलरूप से बिहार के बेगुसराय निवासी बरकत आलम (25) रात 10 बजे नमाज पढ़कर अपने कमरे पर जा रहा था। सदर बाजार में बाइक सवार चार युवक व पैदल जा रहे दो युवकों ने उसका रास्ता रोका।

युवकों ने शराब पी रखी थी। वे बरकत के टोपी पहनने पर टिप्पणी करने लगे। उसने विरोध किया तो नारे लगाने के लिए जबरदस्ती करने लगे।

उसके मना करने पर पैदल चल रहे युवकों ने उसके साथ मारपीट करते हुए टोपी गिरा दी और जान से मारने की धमकी देने लगे।

शोरशराबा सुनकर जब लोग एकत्रित होने लगे तो आरोपी उसके पैर पर डंडे से मारकर फरार हो गए। सूचना के बाद बड़ी संख्या में समुदाय विशेष के लोग एकत्रित हो गए और हंगामा शुरू कर दिया।

पुलिस ने पीड़ित को नागरिक अस्पताल में दाखिल कराया, जहां से प्राथमिक उपाचर के बाद घर भेज दिया।

सिटी थाना पुलिस ने देर रात पीड़ित का बयान दर्ज कर अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। इस पूरे प्रकरण में पुलिस एक ही आरोपी के होने की बात कह रही है।

पीड़ित बोला, मैं शनिवार रात करीब 10 बजे नमाज पढ़कर कमरे पर जा रहा था। एक युवक ने मेरा रास्ता रोका। मुझसे बोला कि तुमने ये टोपी क्यों पहन रखी है? तुम्हें पता नहीं है क्या, इसे उतारो तुरंत और बोलो- भारत माता की जय, जय श्रीराम।

मैंने कहा कि भारत मां की जय बोलता हूं, लेकिन बाकी बोलना जरूरी नहीं है। इस पर उसने मुझे थप्पड़ मारकर मेरी टोपी पटक दी। पास में पड़ी एक लकड़ी से मेरे पैर में मारी।

मेरे शोर मचाने पर आरोपी फरार हो गए। यह बातें पीड़ित युवक बरकत आलम (25) ने रोते हुए पुलिस को बताई। पुलिस अधिकारियों ने उसे जांच और कार्रवाई का भरोसा दिया।

युवक ने बताया कि वह 15 दिन पहले बिहार के बेगुसराय से गुरुग्राम आने के बाद जैकबपुरा में रहकर सिलाई सीख रहा है।

उन लड़कों से उसकी कोई जान-पहचान नहीं थी, न ही उन्हें कुछ बोला, फिर भी उन्होंने रास्ता जबरदस्ती रोककर मारपीट की। घटना के बाद शोरशराबा सुनकर जामा मस्जिद के आसपास लोग एकत्रित हो गए।

पुलिस भी मौके पर पहुंच गई लेकिन लड़के तब तक फरार हो गए थे। उसने बताया कि वह उन लड़कों को पहचानता भी नहीं है।

सदर बाजार स्थित श्याम स्वीट्स समेत आसपास के दुकानदारों ने बताया कि बाजार में दुकानें 8.30 बजे के बाद बंद होनी शुरू हो जाती हैं।

जिस वक्त घटना हुई उस वक्त पूरा बाजार बंद हो गया था। रविवार सुबह बाजार में आने के बाद दुकानदारों को इसकी सूचना मिली। दुकानदारों ने भी कहा कि इस तरीके की घटना निंदनीय है।

वहीं एसीपी सिटी राजीव ने बताया कि इस पूरी घटना में सीसीटीवी फुटेज बरामद हुए है जिससे आरोपी की पहचान की जा रही है। पास में ही शराब का ठेका भी था।

आशंका जताई जा रही है कि शराब के नशे में युवक ने इस तरीके की वारदात की। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com