संजय निरुपम बोले, कांग्रेस की जमानत जब्त होगी, बर्बाद हो जाएगी

File-Pic

मुंबई : महाराष्ट्र चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस के भीतर की कलह खुलकर सतह पर आ गई है। मुंबई कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम ने पार्टी पर बड़ा हमला बोला है। संजय निरुपम ने कहा कि दिल्ली से उनके खिलाफ साजिश रची जा रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के अंदर सिस्टमैटिक फॉल्ट हो गया है। उन्होंने अपने साथ-साथ पार्टी के अंदर पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ साजिश की ओर इशारा किया। उनका आरोप है कि पार्टी में राहुल गांधी से जुड़े लोगों को किनारे लगाने की कोशिश की जा रही है। संजय निरुपम चुनाव नतीजों को लेकर भी दावा करते हुए कहा कि 3-4 जगहों को छोड़ दें तो ज्यादातर सीटों पर पार्टी की जमानत जब्त होनी तय है। उन्होंने कांग्रेस के सीनियर नेता मल्लिकार्जुन खड़गे पर भी निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि खड़गे ने उनके सुझाए हुए उम्मीदवारों से बात तक नहीं की। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि इसे जल्द से जल्द ठीक नहीं किया गया तो पार्टी और बर्बाद हो जाएगी, तबाह हो जाएगी।

संजय निरुपम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कांग्रेस पर ताबड़तोड़ हमले किए। संजय निरुपम ने कहा, ‘कांग्रेस के अंदर सिस्टमैटिक फॉल्ट हो गया है। अगर इससे नहीं निकले तो पार्टी और तबाह हो जाएगी और बर्बाद होगी। यह मैं आज ही कहे देता हूं।’ उन्होंने आगे कहा, ‘मैं जिस सीट का जिक्र कर रहा हूं, मेरा मानना है कि पूरे मुंबई में एक मुस्लिम उम्मीदवार होना चाहिए। इसकी वजह है कि ये (मुस्लिम) लोग आपको एकमुश्त वोट देते हैं। लेकिन मेरी एक न सुनी गई। किसी जिले में तीन-तीन मुस्लिम उम्मीदवार हैं और कहीं एक भी नहीं।’

संजय निरुपम ने आगे कहा, ‘इस विश्लेषण को दिल्ली में बैठे लोग समझ नहीं पा रहे हैं। कोई विचार नहीं। जिसको टिकट दिया गया है वह 77 साल के हैं। मेरे सीनियर हैं। ठीक से चल-फिर भी नहीं पाते हैं। उन्हें टिकट देने से पहले मुझसे पूछना चाहिए था।’ उन्होंने आगे कहा, ‘अगर संजय निरुपम से जुड़े व्यक्ति को या राहुल गांधी से जुड़े व्यक्ति को टिकट नहीं दिया जाएगा और बगैर किसी सर्वे के, बगैर किसी ग्राउंड वर्क के काम किया जाएगा, तो मैं यह समझता हूं कि लंबे समय तक मैं कांग्रेस में नहीं रह पाऊंगा।’

संजय निरुपम ने दावा किया कि मुंबई में 3-4 सीटों के अलावा बाकी सब जगह उम्मीदवारो की जमानत जब्त हो जाएगी। संजय निरुपम ने पार्टी के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे पर आरोप लगाते हुए कहा, ‘मैंने उनसे वर्सोवा, गोरेगांव समेत 4 सीटों पर अपने उम्मीदवारों की सिफारिश की थी, मैंने दिल्ली जाकर उम्मीदवारों को उनसे मिलवाया भी लेकिन खड़गे ने किसी से बात भी नहीं की और आज एक भी सीट उनमें से किसी को नहीं दी गई। पूरी साजिश हो रही है मेरे खिलाफ। यह एक सोची-समझी राजनीति है।’

संजय निरुपम ने कहा, ‘हर पार्टी में फीडबैक लेने का सिस्टम होता है लेकिन कांग्रेस में ऐसा कुछ नहीं है।’ उन्होंने आगे कहा, ‘जितना मैं मुंबई को समझता हूं उतना किसी कांग्रेस के वर्कर को ज्ञान नहीं होगा। मैं सीट वार बता सकता हूं कि कौन सा कैंडिडेट कहां के लिए उचित है।’ पार्टी छोड़ने की बात पर संजय निरुपम ने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि अभी पार्टी छोड़नी चाहिए। लेकिन अगर यह लंबे वक्त तक चलता रहा तो मुझे नहीं लगता कि मैं पार्टी में रह पाऊंगा।’ बता दें कि निरुपम मुंबई में वर्सोवा सीट से रईस लश्कारिया के लिए टिकट चाहते थे। हालांकि, पार्टी ने उनकी इस मांग को खारिज कर दिया।