भाजपा विधायक की जीभ काटने वाले को दूंगा 5 लाख रुपये – कांग्रेस नेता


लड़कियों को भगाने में मदद करने का बयान देकर चौरतफा आलोचना से घिरे बीजेपी विधायक राम कदम के लिए अब कांग्रेस नेता ने भड़काऊ बयान दिया है।

महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता सुबोध सावजी ने राम कदम की जुबान पर 5 लाख रुपये के इनाम की घोषणा कर डाली

सुबोध सावजी ने कहा, ‘ऐसा शर्मनाक बयान एक बीजेपी विधायक को शोभा नहीं देता। मैं उनके लड़कियां भगाने वाले बयान की कड़ी निंदा करता हूं और महाराष्ट्र की जनता के सामने ऐलान करता हूं कि जिस जुबान से उन्होंने ऐसा शर्मनाक बयान दिया है, उस गंदी जुबान को जो काटकर लाएगा उसे मैं 5 लाख रुपये की नकद राशि दूंगा।’

बता दें कि बीजेपी विधायक राम कदम ने पिछले दिनों दही-हांडी उत्सव के दौरान मंच से युवाओं को लड़की भगाने में मदद करने का ऑफर दिया था।

उन्होंने इस दौरान कहा था, ‘किसी भी काम से मुझसे मिल सकते हो। साहब, मैंने उसे प्रपोज किया है लेकिन वह इनकार कर रही है, प्लीज मदद करो। सौ प्रतिशत मदद करूंगा। अपने माता-पिता को लेकर मेरे पास आओ, अगर उन्होंने कहा कि लड़की पसंद है तो लड़की को भगाकर लाकर तुम्हें दूंगा। लड़की को भगाने में तुम्हारी मदद करूंगा। मेरा फोन नंबर लो और मुझसे संपर्क करो।’

सुले के निशाने पर मुख्यमंत्री

एनसीपी की वरिष्ठ नेता सांसद सुप्रिया ने राम कदम के खिलाफ कोई कार्रवाई न करने को लेकर सीधे मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को जमकर खरीखोटी सुनाई है।

उन्होंने बारामती के पास एक सार्वजनिक सभा में कहा, ‘राम कदम के आपत्तिजनक वक्तव्य का सार्वजनिक रूप से मुख्यमंत्री को निषेध करना चाहिए था। अगर मुख्यमंत्री निषेध व्यक्त नहीं करना चाहते, तो उन्हें राम कदम के खिलाफ ऐक्शन लेना चाहिए। उनके खिलाफ गुनाह दर्ज कराना चाहिए। अगर वह मामले को नहीं संभाल पा रहे, तो उन्हें मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।’

एबीवीपी ने किया प्रदर्शन

महाराष्ट्र समेत देश भर में महिलाओं द्वारा राम कदम के खिलाफ तीखी प्रतिक्रियाएं व्यक्त करने के बाद बीजेपी और उसके अनुषांगिक संगठन भी कदम के खिलाफ सड़क पर उतर रहे हैं।

गुरुवार को स्टूडेंट यूनियन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने घाटकोपर स्टेशन के बाहर राम कदम के खिलाफ प्रदर्शन किया और कदम के फोटो पर कालिख पोत कर अपना रोष व्यक्त किया। एबीवीपी की सहमंत्री स्वाति चौधरी ने मुख्यमंत्री से मांग की कि कदम के खिलाफ शीघ्र कार्रवाई करें।