चौहान ने कहा कि त्वरित गति और बड़ी संख्या में कोविड-19 की जांच करने के लिए रैपिड एंटीजन जांच को भी मध्यप्रदेश में बढ़ावा दिया जाए।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को अधिकारियों से कहा कि प्रदेश में कोरोना वायरस की भावी रणनीति ऐसी बनाई जाए जिसमें बिना लॉकडाउन किए कोरोना वायरस पर प्रभावी नियंत्रण किया जा सके।

पिछले चार दिनों से यहां चिरायु अस्पताल में कोविड-19 का उपचार करवा रहे चौहान ने कहा, ‘‘प्रदेश में कोरोना वायरस की भावी रणनीति ‘लॉकडाउन माइनस’ होना चाहिए अर्थात ऐसी रणनीति बनाई जाए जिसमें बिना लॉकडाउन किए कोरोना वायरस पर प्रभावी नियंत्रण किया जा सके।’’

उन्होंने कहा कि हमें प्रदेश की अर्थव्यवस्था को गतिमान भी करना है। इसके लिए पूरी तरह जनता को कोविड-19 के संबंध में जागरूक करना होगा तथा सर्वोत्तम उपचार व्यवस्था सुनिश्चित करनी होगी।

चौहान ने कहा कि प्रदेश में जनता की स्वास्थ्य रक्षा के लिए हम हर संभव कदम उठाएंगे। वित्तीय संकट के चलते दूसरे मदों में बजट की कुछ कमी की जा सकती है, लेकिन कोरोना वायरस से बचाव एवं उपचार के लिए बजट की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी।

वह चिरायु अस्पताल से प्रदेश में कोरोना वायरस की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से समीक्षा कर रहे थे।

इस समीक्षा बैठक में प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, प्रदेश के मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान तथा सभी संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

चौहान ने कहा कि त्वरित गति और बड़ी संख्या में कोविड-19 की जांच करने के लिए रैपिड एंटीजन जांच को भी मध्यप्रदेश में बढ़ावा दिया जाए।

बताया गया कि इसके माध्यम से कोराना वायरस की रिपोर्ट 20 मिनट में ही मिल जाती है। विशेष रूप से बिना लक्षण वाले व्यक्तियों की जांच के लिए यह अत्यंत उपयोगी है।

भोपाल में पिछले कुछ दिनों से तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस संक्रमण के मरीजों की देखते हुए नागरिकों के हित के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने भोपाल नगर निगम इलाके में 24 जुलाई की रात चार अगस्त सुबह आठ बजे तक 10 दिन का लॉकडाउन लगा रखा है।

इसके अलावा, प्रदेश के कुछ अन्य जिलों में भी सप्ताह में एक या दो दिन लॉकडाउन किया जाता है। मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस से अब तक संक्रमित पाये गये लोगों की कुल संख्या 30,134 तक पहुंच गयी है, जिनमें से 844 लोगों की मौत हो चुकी है।

प्रदेश में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में अब तक के सर्वाधिक 917 नए मामले सामने आए हैं।