Coronavirus: भस्मारती में श्रद्घालुओं के प्रवेश पर रोक, महाराष्ट्र का सिद्धि विनायक मंदिर भी बंद

कोरोना वायरस के संभावित संक्रमण को रोकने के लिए उज्जैन के ज्योतिर्लिंग महाकाल में भस्मारती दर्शन व मंगलनाथ में भातपूजा पर रोक लगा दी है। ऐसा पहली बार हुआ है, जब प्रशासन व मंदिर समितियों ने जनस्वास्थ्य को देखते हुए उक्त निर्णय लिया है। इसी तरह महाराष्ट्र का सिद्धि विनायक मंदिर भी हुआ बंद हो गया है राज्य में 37 मरीजों में कोरोना की पुष्टि के बाद हुआ। कलेक्टर शशांक मिश्र ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया महाकाल मंदिर में तड़के 4 बजे होने वाली भस्मारती में भक्तों का प्रवेश पूर्णत: बंद रहेगा। मंदिर की परंपरा के अनुसार पुजारी भगवान महाकाल की आरती करेंगे। मिली जानकारी के अनुसार महाकाल मंदिर स्थित भस्मारती बुकिंग काउंटर बंद कर दिए गए हैं। ऑनलाइन अनुमतियां भी निरस्त कर दी गई है।

मंदिर समिति की महाकाल व हरसिद्धि धर्मशाला में देश विदेश के श्रद्धालुओं द्वारा कराई गई कमरों की बुकिंग भी रद्द कर दी गई है। इधर मंगलनाथ मंदिर में प्रतिदिन होने वाली भातपूजा पर रोक लगा दी गई है। प्रशासक नरेंद्रसिंह राठौर ने बताया आगामी आदेश तक मंदिर में केवल पूजन आरती होगी, भक्त भातपूजा नहीं करा सकेंगे।

महाराष्ट्र का सिद्धि विनायक मंदिर – महाराष्ट्र के मुंबई में स्थित प्रसिद्ध सिद्धि विनायक मंंदिर को भी कोरोना वायरस के चलते कुछ दिनों के लिए बंद कर दिया गया है। बता दें कि महाराष्ट्र में अब तक कोरोना वायरस के शिकार 37 मरीजों की पुष्टि हो चुकी है।

सुप्रीम कोर्ट ने सभी मुख्य सचिवों और जेल अधीक्षकों को नोटिस जारी करते हुए पूछा है कि अब तक Covid19 से निपटने के लिए आदेश जारी क्यों नहीं किए गए हैं। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जेल में बड़ी संख्या में कैदी हैं, हम जानना चाहते हैं कि वहां की वर्तमान स्थिति क्या है?