दावा किया है जिसको लेकर अब लोगों में महामारी को लेकर डर और बढ़ गया है। शोधकर्ताओं का कहना है कि साल के अंत तक सर्दी का सामना करने वाले भारत और उत्तरी गोलार्ध के अन्य देशों में कोरोना के मामले अचानक तेजी से बढ़ सकते हैं।

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच महामारी को लेकर भारतीय वैज्ञानिकों ने एक चौंकाने वाला दावा किया है। भारत समेत पूरी दुनिया में कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है लेकिन आने वाली सर्दियों में यह और तेजी से फैलेगा। राजस्थान केंद्रीय विश्वविद्यालय और वाराणसी हिन्दू विश्वविद्यालय से जुड़े दो शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन में यह दावा किया है जिसको लेकर अब लोगों में महामारी को लेकर डर और बढ़ गया है। शोधकर्ताओं का कहना है कि साल के अंत तक सर्दी का सामना करने वाले भारत और उत्तरी गोलार्ध के अन्य देशों में कोरोना के मामले अचानक तेजी से बढ़ सकते हैं।

गौरतलब है कि महामारी के पूरी दुनिया में 1 करोड़ से अधिक मरीज हैं और भारत में संक्रमितों की संख्या 8 लाख के आंकड़े को भी पार कर गया है। महामारी का इलाज करने के लिए दुनियाभर के वैज्ञानिक वैक्सीन बनाने में लगे हुए हैं लेकिन अभी तक किसी ऐसी दवा को बनाने में कामयाबी नहीं मिली है जिससे कोरोना वायरस के रोगी को ठीक किया जा सके। इस बीच राजस्थान के केंद्रीय विश्वविद्यालय के बायोकेमिस्ट चंडी मंडल और बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के महावीर सिंह पंवार ने अपने दावे से देश की चिंता बढ़ा दी है।

चंडी मंडल और महावीर सिंह पंवार ने कोरोना वायरस के अध्ययन में विभिन्न देशों के औसत तापमान और सक्रिय मामलों के बीच तुलना की, उन्होंने अपने शोध में पाया वह चिंताजनक है। शोधकर्ताओं के मुताबिक उच्च अक्षांशों या ठंडे जलवायु वाले 35 देशों में कोरोना के 1000 से अधिक मामले थे। अध्ययन के मुताबिक गर्मी में वयारस से लड़ना अधिक आसान है लेकिन सर्दियों में यह तेजी से फैलता है। चंडी मंडल और महावीर सिंह का कहना है कि तापमान ज्यादा होने से संक्रमण को फैलने से रोकने में मदद मिलती है।

शोधकर्ताओं ने भारत सरकार को सुझाव दिया है कि वह कोरोना वायरस के खिलाफ नीति बनाते समय इलाके के तापमान का भी ध्यान रखें, अगले कुछ महीनों में सर्दियां आने वाली हैं और ऐसे में महामारी से लड़ना और चुनौतीभरा हो सकता है। बता दें कि हार्वर्ड विश्वविद्यालय महामारी के प्रसार पर तापमान और आर्द्रता के प्रभाव पर शोध करने वाला पहला संस्थान था। उन्होंने अपने निष्कर्ष में ये कहा था कि वायरस के फैलाव में मौसम का कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।

बता दें कि दुनियाभर में कोरोना वायरस से अब तक 1,25,07,849 लोग संक्रमित हो चुके हैं जबकि 5,60,460 लोगों की महामारी से मौत हो चुकी है। भारत की बात करें तो पूरे देश में कोरोना वायरस का कहर जारी है, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों की बात करें तो भारत में अब तक कोरोना के कुल केस 8,20,916 हो गए हैं। इसमें से 2,83,407 ऐक्टिव केस हैं जबकि 5,15,386 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। इस बीमारी से देश में अब तक 22,123 लोगों की मौत हुई है। जबकि बीते 24 घंटे में कोरोना के 27,114 नए केस सामने आए हैं और 519 लोगों की मौत हुई है।