india-cows-Photoबलौदा बाजार-भाटापारा- विकासखण्ड पलारी के मुख्य मार्ग में स्थित ग्राम रसौटा के ग्र्रामीणों द्वारा ग्राम में उन्नत पशुओं की कमी होने की जानकारी पशुधन विकास विभाग को दी। जिस पर पशुधन विकास विभाग द्वारा शत् प्रतिशत अनुदान के तहत गौसंवर्धन योजना अंतर्गत साहिवाल नस्ल का सांड प्रदाय किया गया। नस्ल सुधार कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु पशु चिकित्सालय पलारी तथा पशु औषधालय कोसमंदी के द्वारा चरवाहों तथा ग्रामीणों के सहयोग से निकृष्ट नाटे बछडों का बधियाकरण अभियान चलाया गया।

जिसके फलस्वरूप उन्नत नस्ल के साहिवाल सांड द्वारा प्रजनन से ग्राम रसौटा में उन्नत नस्ल के बछडे तथा बछिया उत्पन्न होने लगा हैं। रसौटा के कृषक श्री गिरधारी डहरिया, अलखराम साहू, कृष्णा कुमार वर्मा, प्रेमलाल साहू, लहाराम साहू, चुमन साहू, चिंताराम साहू इत्यादि के द्वारा उन्नत बछिया जो वर्तमान में गाय बन चूकी है से 5-6 लीटर दुग्ध उत्पादन कर अपने आमदानी में वृद्धि कर रहे हैं।

वर्तमान में ग्राम रसौटा में उन्नत सांड द्वारा प्राकृतिक गर्भाधान से उत्पन्न वत्सों की संख्या 160 से अधिक है, जिनमें शून्य से दो वर्ष आयु के नर बछडे. की संख्या 47 व कृषि योग्य बैलों की संख्या 16 है। इसी प्रकार शून्य से एक वर्ष आयु के मादा वत्सों की संख्या 20, एक से तीन वर्ष आयु के मादा वत्स 37, क्लोर 18, दुधारू गाय 8 व सूखी गाय 14 है। जिसे देखकर आसपास के ग्रामीण भी उक्त योजना के तहत पशुपालन कार्य को प्रोत्साहन दे रहे हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here