Home > India > मुस्लिम महिलाओं का JOB करना इस्लाम के खिलाफ !

मुस्लिम महिलाओं का JOB करना इस्लाम के खिलाफ !

देवबंद। तीन तलाक जैसे मुद्दे पर बहस जारी है और इस बीच तंजीम उलेमा ए हिंद के एक मौलाना का विवादित बयान आया है। मौलाना ने अपने बयान में मुस्लिम महिलाओं का नौकरी करना इस्लाम के खिलाफ बताया है।

तंजीम उलेमा ए हिंद के प्रदेश अध्यक्ष और देवबंद के मौलाना नदीम उल वाजदी ने कहा है कि महिलाओं को नौकरी नहीं करना चाहिए, यह इस्लाम के खिलाफ है। इसकी बजाय उन्हें घर में रहकर घर के काम और बच्चों की परवरिश करनी चाहिए। अगर घर में कोई कमाने वाला हो तो महिला नौकरी ना करे और अगर कमाई के लिए जाना पड़े तो वो चेहरा ढककर काम करे।

बता दें की यह पहली बार नहीं है जब किसी मौलाना ने ऐसा बयान दिया हो। इससे पहले देवबंद ने कई फतवे जारी किए हैं जिनमें एक में तो भारत माता की जय कहने को भी गलत करार दिया गया था। साथ ही तलाक को लेकर कहा गया था कि इसके लिए महिला का मौजूद होना जरूरी नहीं है, फोन पर भी तलाक दिया जा सकता है। @मल्टीमीडिया टीम

फतवा: ‘भारत माता की जय’,’वंदे मातरम’ दूर रहें मुसलमान

मुस्लिम महिला को न्याय दिला पाएंगे योगी आदित्य नाथ 

ब्यूटी पार्लर्स पर हिजबुल का सख्त फतवा

जब हिजाब पहन मुस्लिम मॉडल उतरी रैंप पर

मुस्लिमों को जोड़ने के लिए मोदी सरकार की बड़ी पहल

 

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com