नई दिल्ली : कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कश्मीर मुद्दे पर सिलसिलेवार ट्वीट कर अपनी पार्टी के विधायक नवजोत सिंह सिद्धू पर निशाना साधा।

उन्होंने कश्मीर की समस्या के समाधान के लिए सभी पार्टियों को एकजुट होकर रोडमैप बनाने की बात कही। बीजेपी छोड़ कांग्रेस में आए सिद्धू पर भी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने तीखा हमला बोलते हुए कहा कि आपको दोस्त इमरान खान की वजह से गाली पड़ रही है, अपने दोस्त को समझाएं।

सिलिसिलेवार ट्वीट में दिग्विजय ने बेबाक तरीके से अपनी राय रखी। अपने बयानों के कारण अक्सर ही आलोचकों के निशाने पर रहने वाले कांग्रेस नेता ने इमरान खान को भी चुनौती दे डाली।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘पाकिस्तान के श्रीमान प्रधानमंत्री कमऑन! कुछ साहस दिखाइए और हाफिज सईद और मसूद अजहजर आतंक के स्वघोषित सरगनाओं को भारत को सौंपिए। आप ऐसा कर न सिर्फ पाकिस्तान को आर्थिक संकट से निकालने में सक्षम होंगे, बल्कि नोबेल शांति पुरस्कार के भी प्रबल दावेदार बन जाएंगे।’

इसके बाद दिग्विजय ने दो और ट्वीट में अपनी ही पार्टी के नेता नवजोत सिंह सिद्धू को ताना दिया।

एक ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘नवजोत सिंह सिद्धू जी अपने दोस्त इमरान भाई को समझाएं।’ दूसरे ट्वीट में फिर उन्होंने कहा,’उसकी वजह से आपको गाली पड़ रही है।’

बता दें कि पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान पर दिए बयान के कारण सिद्धू की काफी आलोचना भी हो रही है और उनकी टीवी शो से भी चैनल ने छुट्टी कर दी है।

दिग्विजय सिंह प्रधानमंत्री मोदी और आरएसएस के कठोर आलोचक माने जाते हैं। इस बार भी अपनी ट्वीट की सीरीज में उन्होंने मोदी के समर्थकों पर निशाना साधा।

ट्वीट में दिग्विजय ने लिखा, ‘मुझे पता है कि मोदी भक्त ट्रोल करेंगे, लेकिन मुझे इसकी परवाह नहीं है। इमरान खान को एक क्रिकेटर के तौर पर मैं पसंद करता हूं, लेकिन मुस्लिम कट्टरपंथियों और आईएसआई समर्थित गुटों का समर्थन कर रहे हैं। मैं इस पर यकीन नहीं कर पा रहा हूं।’

दिग्विजय सिंह ने कश्मीर के छात्रों और स्थानीय नागरिकों को उत्पीड़ित नहीं करने की अपील करते हुए कहा, ‘एक भारतीय के तौर पर क्या हम कश्मीरी छात्रों और कश्मीरी व्यापारियों को पूरे देश में परेशान करना नहीं छोड़ सकते हैं?

क्या हम ऐसा कश्मीर चाहते हैं जिसमें कश्मीरी ही न हों? एक राष्ट्र के तौर पर हमें अपना विकल्प चुनना ही होगा।’

कश्मीर के लिए एक रोडमैप बनाने की जरूरत पर जोर देते हुए कांग्रेस नेता ने कहा, ‘कश्मीर की समस्या 71 साल पुरानी है और हम सब इसके दोषी हैं। क्या हम इसके लिए कुछ खास नहीं कर सकते? हम कर सकते हैं।

क्या कांग्रेस, बीजेपी, एनसी, पीडीपी और अन्य पार्टियां जो कश्मीर में मौजूद हैं एक रोडमैप अगले 10 साल के लिए तैयार नहीं कर सकते, जिसे हर हाल में पूरा किया जाना चाहिए?’