Home > India News > Dindori: अवैध ब्लास्टिंग के धमाकों से थर्राया वन ग्राम

Dindori: अवैध ब्लास्टिंग के धमाकों से थर्राया वन ग्राम

डिंडौरी : आदिवासी जिला डिंडौरी में यू तो विकास बड़ी तेजी से हो रहा है लेकिन इसमें पार दर्शिता कितनी है ये तस्वीरों को देखकर साफ़ समझा जा सकती है। डिंडौरी जिला नक्सल प्रभावित जिला है। जहा के करंजिया और समनापुर थाना क्षेत्र के कुछ गाव संवेदनशील गाव है। वही जंगली क्षेत्र होने के चलते जंगली जीवो की भी भरमार है। लेकिन समनापुर थाना क्षेत्र के मनोरी से उसरीघुण्डी के बीच बनने वाले पुल निर्माण के लिए ठेकेदार ने सारे नियमो को दरकिनार कर पिछले 15 दिनों से अवैध ब्लास्टिंग कर पूरे वन ग्राम हिला कर रख दिया है। अवैध ब्लास्टिंग के धमाको से न सिर्फ वन ग्रामो के ग्रामीण सखते में है बल्कि पालतू के साथ जंगली जीवो पर भी संकट मंडरा रहा है । पूरा मामला प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना का है जिसके तहत बनाई जा रही पुल की लागत एक करोड़ 59 लाख रु है जिसे शानू सिंह एंड कंपनी शहडोल है। वही मामले की जानकारी के बाद जिला के कलेक्टर अमित तोमर ने जाँच कर कार्यवाही की बात कही है।

समनापुर थाना के अमरपुर चोकी का ग्राम मनोरी जहा डेढ़ करोड़ से ज्यादा की लागत का पुल तैयार किया जाना है । लेकिन पुल निर्माण का निरख्नामा बोर्ड खाली लगा है । पास लगे बोर्ड पर बस लिखा हुआ है पुल का निर्माण प्रगति पर जरा धीरे चले । वही ग्रामीणों की माने तो जब से पुल का काम शुरू हुआ है तब से रोज गाव और जंगल में धमाको की आवाज के साथ पत्थरो की बौछार हो रही है । पुल निर्माण में बारूद लगाकर चट्टानों को तोडा जा रहा है लेकिन इसके लिए जिला कलेक्ट्रेट के विस्फोटक शाखा से अनुमति अब तक नहीं ली गई है। पूरा जंगल और जंगली जीव इस धमाके से थर्राए हुए है । जहा एक और ब्लास्टिंग के लिए ठेकेदार ने परमिशन अब तक नहीं लिया तो वही दूसरी तरफ कम मजदूरी में काम कराये जा रहे मजदूरो का बिमा भी नहीं कराया गया /मजदूरो और गाव वालो की माने तो जब ब्लास्टिंग होती है तब उस क्षेत्र से बहुत उन्हें दूर भागना पड़ता है।

ब्लास्टिंग के चलते सालो से गाव से मवेशियों को चराने ला रहे सहमत लाल यादव का कहना है की जब ब्लास्टिंग होती है तो उसे अपने मवेशियों को दूसरी जगह ले जाना पड़ता है । धमाको से डर भी बना रहता है । पुल निर्माण में काम कर रही महरिन बाई का कहना है की उसे काम की मजदूरी 120 रु मिल रही है जो बहुत कम है । काम के दौरान उसका बिमा भी नहीं कराया गया है । वही गाव के अन्य ग्रामीणों लियाकत और मुजम्मिल की माने तो अवैध ब्लास्टिंग से ग्रामीणों और जंगली जीवो में भय का महोल है।

इस पूरे मामले को लेकर डिंडौरी मध्यप्रदेश ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण के अधिकारियो का कहना है की पुल अमरपुर विकासखंड के मनोरी से उसरी घुण्डी के बीच पुल बन रहा है । जिसकी लागत एक करोड़ ५९ लाख रु है जिसे 18 माह में पूरा करना है। ठेकेदार शानू सिंह एंड कंपनी शहडोल है ,ब्लास्टिंग के लिए आवेदन कलेक्टर साहब को दिया गया है। वही कलेक्टर का कहना है की ये प्रकरण संज्ञान में आया है इसमें तहसीलदार को निर्देशित कर रहे है की मौके में जाये और देखे की किनके द्वारा निर्माण कार्य किया जा रहा है । और उनके पास विस्फोट कर रहे है तो अनुमति है या नहीं और नहीं है तो नियमनुसार कार्यवाही की जाएगी।

लेकिन बड़ा सवाल यह है की अनुमति अब तक नहीं मिली है तो धमाके किस की सह पर किया जा रहा है । अवैध धमाको पर लगाम पर ठेकेदार पर कार्यवाही कब होगी देखना लाजमी होगा ।

रिपोर्ट @दीपक नामदेव

Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .