convent schoolनई दिल्ली –गोवा  सरकार के मंत्री दीपक धवलिकर की पत्नी लता धवलिकर ने राज्य के सभी माता-पिताओं को बच्चों को कान्वेंट स्कूल न भेजने की सलाह देकर नए विवाद को जन्म दे दिया है। एक विवादास्पद दक्षिणपंथी संगठन सनातन संस्था चलाने वाली लता बीते दिन मार्गो में एक कार्यक्रम को संबोधित कर रही थीं।

लता ने कहा कि महिलाओं से आग्रह करती हैं कि वो अपने बच्चों को पश्चिमी संस्कृति से दूर रखें क्योंकि इस सभ्यता के कारण ही रेप जैसी घटनाओं को बढ़ावा मिलता है। दीपक धवलिकर गोवा सरकार में कारखाना और ब्वॉयलर राज्य मंत्री हैं।

उन्होंने कहा, “हिंदू लोग जब अपने घर से निकलते हैं तो अपने माथे पर तिलक लगाते हैं, जबकि महिलाएं कुमकुम, गुडी पर्व को ही हिंदू नव वर्ष मनाया जाता है, 1 जनवरी को नहीं। अपने बच्चों को कान्वेंट स्कूल न भेजें। आप फोन पर हेलो कहने के बजाए नमस्कार कहिए।”

लता ने कहा कि आजकल फैशन हो गया है कि महिलाएं अपने माथे पर कुमकुम नहीं लगाती हैं, तंग और भड़काऊ कपड़े पहनती हैं। बालों की ट्रिमिंग करवाती हैं और अजीबो गरीब बालो की स्टाइल रखती हैं। लता ने कहा कि रेप की घटनाएं तेजी से बढ़ रही हैं और मेरा मानना है कि इसके पीछे की वजह पश्चिमी संस्कृति को अपनाना है।

गौरतलब है कि इससे पहले भी गोवा के मुख्यमंत्री भी नर्सों को धूप में भूख हड़ताल करने पर काला हो जाने को लेकर तंज कस चुके हैं। उनका कहना था कि ऐसा होने पर उनकी शादी में मुश्किलें आ जाएंगी इसलिए वो धूप में हड़ताल न करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here