Home > State > Harayana > प्रद्युम्न हत्याकांड में SC ने केंद्र और राज्य को जारी किया नोटिस

प्रद्युम्न हत्याकांड में SC ने केंद्र और राज्य को जारी किया नोटिस

गुरुग्राम : गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल के छात्र प्रद्युम्न की हत्या के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकार के अलावा मानव संसाधन मंत्रालय को नोटिस जारी किया है। अदालत ने यह आदेश प्रद्युम्न के पिता द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान दिया।

वहीं सुनवाई से पहले ही मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने इस मामले में प्रद्युम्न के पिता से फोन पर बात की और इस बात का आश्वासन दिया है कि वो सीबीआई या और किसी एजेंसी से जो जांच चाहते हैं वो करवाई जाएगी।

इससे पहल स्कूल के नॉर्दर्न झोन हेड फ्रांसिस थॉमस और एचआर हेड को पुलिस ने रविवार रात गिरफ्तार कर लिया गया। इसके अलावा स्कूल के सामने रविवार को मीडिया कर्मियों पर लाठीचार्ज करने के आरोप में सोहना सदर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर अरुण को निलंबित किया गया। इस बीच खबर है कि हरियाणा पुलिस ने एक जांच दल मुंबई पहुंचा जहां वो स्कूल के मालिक से पूछताछ करेगा। पूछताछ के पहले स्कूल के मालिक ने बॉम्बे हाईकोर्ट में अग्रीम जमानत की याचिका दायर कर दी है।

मामले की जांच कर रही एसआईटी ने पूछताछ के लिए स्कूल की पूर्व प्रिंसिपल को बुलाया था लेकिन खबर है कि उनकी तबीयत खराब हो गई है वहीं एसआईटी अब स्कूल की तीन शिक्षिकाओं से भी पूछताछ करेगी। इससे हत्याकांड का राजफाश होने की उम्मीद है। प्रद्युम्न के माता-पिता आरोपी बनाए गए हेल्पर अशोक को मोहरा बनाने की बात कर रहे हैं।

प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर व मां ज्योति घटना के दिन से ही यह कह रहे हैं कि उनके बेटे की हत्या एक प्लान के तहत की गई। बच्चे ने ऐसा किसी स्कूल स्टाफ को गलत हरकत करते हुए देख लिया था, उसके बाद प्लान बना उसकी हत्या की गई। कत्ल के आरोप में पकड़ा गया हेल्पर मोहरा है। सोमवार को मामले की जांच कर रही एसआईटी तीनों से संदिग्ध शिक्षिकाओं से अलग-अलग पूछताछ करेगी।

छात्र की मां ज्योति ठाकुर ने जब-जब इस बात का विरोध किया कि उसका बच्चा मोबाइल से दूर रहता था। तब अध्यापिका के सुर बदले। ज्योति का कहना है कि महिला शिक्षिका ने इसके बाद भी कई अभिभावकों को यही बताया कि लगता है बच्चे ने गेम के चक्कर में खुद को मार लिया।

उधर पुलिस ने स्कूल प्रबंधन पर नकेल कसने की बजाय पुलिस ने रविवार को प्रद्युम्न हत्याकांड की सीबीआई से जांच कराने की मांग करने अभिभावकों व अन्य लोगों पर जमकर लाठियां बरसाईं। इसमें 29 लोग जख्मी हुए हैं।

मधेपुरा के सांसद पप्पू यादव को पुलिस ने लाठियां तो मारी ही, लात चलाने से भी पीछे नहीं रहे। 29 घायल लोगों में नौ मीडियाकर्मी भी हैं। कई कैमरे तोड़ दिए गए। शराब दुकान फूंक दीगुस्साए लोगों ने स्कूल से 30 कदम की दूरी पर स्थित शराब दुकान को आग के हवाले कर दिया।

पालकों का आरोप था कि स्कूल के ड्राइवर, कंडक्टर व अन्य लोग खाली समय में यहां शराब पीकर स्कूल आ जाते थे। स्कूल संचालक पर केस दर्ज पुलिस ने स्कूल के संचालक और प्रबंधन के खिलाफ बाल अपराध अधिनियम तथा अन्य धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। भोंडसी थाने में दर्ज एफआईआर के साथ पदनाम भी जोड़े गए हैं।

उधर हरियाणा के शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने रविवार सुबह स्कूल की मान्यता 1200 बच्चों के भविष्य को देखते हुए रद्द नहीं होगी। सरकार सीबीआई जांच के विकल्प से इनकार नहीं कर रही है।

जांच में सहयोग करेंगे”जो कुछ हुआ नहीं होना चाहिए था। देश भर में लाखों छात्रों को पढ़ाने वाले एक विश्वसनीय शैक्षणिक संस्था के रूप में हमारी चार दशक पुरानी प्रतिष्ठा है। हम जांच में सहयोग करेंगे।”-रेयान पिंटो, सीईओ, रेयान ग्रुप

Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .