Home > State > Chhattisgarh > कई महिला डीएसपी ने लगाया ट्रेनर पर यौन शोषण का आरोप

कई महिला डीएसपी ने लगाया ट्रेनर पर यौन शोषण का आरोप

demo pic

demo pic

रायपुर- छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है जहां पुलिस स्कूल में ट्रेनिंग कर रही कई महिला डीएसपी ने ट्रेनर पर यौन शोषण का आरोप लगाया है।

महिला अधिकारियों का आरोप है कि उक्‍त ट्रेनर उनसे अपने पीरियड के बारे में रजिस्टर में लिखने के लिए कहता है इसके अलावा भी वह तरह तरह से उन्हें परेशान करने का कोई मौका नहीं छोड़ता। मामला सामने आते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। आरोपी अधिकारी को फिलहाल छुट्टी पर भेज दिया गया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार मामला रायपुर के चांखपुरी पुलिस ट्रेनिंग एकेडमी का है जहां फिलहाल कई डिप्टी एसपी रैंक के अधिकारी ट्रेनिंग कर रहे हैं। इनमें महिलाओं की भी काफी संख्या है। ट्रेनी अधिकारियों का आरोप है कि ट्रेनर उन्हें पीरियड के दिनों में लाइन से अलग खड़ा रहने को मजबूर करता है।

महिला अधिकारियों के बाल पकड़ कर खींचता है ट्रेनर
डिप्टी एसपी रैंक के अधिकारी नीलकंठ साहू पर यह आरोप लगाए गए हैं। ट्रेनी अधिकारियों के अनुसार उक्त अधिकारी उन्हें परेशान करने का कोई मौका नहीं छोड़ता है। परेड के दौरान वह महिला अधिकारियों के बाल खींचने से भी परहेज नहीं करता।

इसके अलावा स्वीमिंग पूल में अभ्यास करने वाली महिलाओं को गिनती के बहाने अक्सर बाहर बुला लेता है। एक महिला ट्रेनी ने आरोप लगाया कि ट्रेनिंग के दौरान जब वह रायफल लेकर दौड़ रही होती हैं तो वह छड़ी लगाकर वर्दी पर लगा कीचड़ साफ करने के लिए कहता है।

ट्रेनर नीलकंठ साहू की इस हरकत के खिलाफ आक्रोशित महिला अधिकारियों ने एक साथ मोर्चा खोल दिया। इस संबंध में बैच की 32 ट्रेनियों ने लिखित शिकायत करते हुए कहा कि वह उनके शोषण का कोई मौका नहीं छोड़ता।

छेड़छाड़ का कोई मौका नहीं छोड़ता आरोपी
एक अन्य ट्रेनी ने बताया कि वह ट्रेनिंग के दौरान चिल्लाकर अपने पीरियड की डेट रजिस्टर में लिखने के लिए कहता है। यहां तक की वह यह भी कहता है कि ‘पिछले महीने तो तुम्हारी डेट इस समय नहीं थी, मेरी पत्नी को तो कभी भी पीरियड के दौरान पेट में दर्द नहीं होता।’

इसके अलावा एक दिन उसने एक गर्भवती ट्रेनी पर यह कहकर कटाक्ष किया कि तुम्हारा ‘बेबी बंप’ तो दिखता नहीं है। मामला सामने आने के बाद आनन फानन में साहू को पुलिस हेडक्वार्टर से अटैच करते हुए पुलिस लाइन भेज दिया गया।

एकेडमी के निदेशक आनंद कुमार तिवारी से इस संबंध में कोई संपर्क नहीं हो सका। मामला चर्चा में आने के बाद महिला आयोग ने भी पुलिस एकेडमी का दौरा कर ट्रेनी अधिकारियों से बात की। आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पांडे ने बताया कि आयोग की एक टीम को मामले की पूरी जानकारी के लिए भेजा गया है। [एजेंसी]




Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .