हरियाणा: 10 की मौत, कर्फ्यू, हाइवे जाम, ट्रेनें निरस्त - Tez News
Home > Crime > हरियाणा: 10 की मौत, कर्फ्यू, हाइवे जाम, ट्रेनें निरस्त

हरियाणा: 10 की मौत, कर्फ्यू, हाइवे जाम, ट्रेनें निरस्त

Jat Arakshanनई दिल्ली- हरियाणा जाट आरक्षण की मांग को लेकर हुए प्रदर्शन ने रुद्ररूप ले लिया है ! मामला इतना बढ़ गया है कि कहीं बाजार में आग लगाने की घटना सामने आ रही है तो कहीं रेलवे स्टेशन को ही फूंक दिया गया है ! पुलिस प्रदर्शनकारियों की झड़प में अब तक 10 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 150 से ज्यादा घायल हैं ! जाट आंदोलनकारी कह रहे हैं कि उन्हें ओबीसी से नीचे कोई स्टेटस मंज़ूर नहीं है !

उधर, शनिवार बीजेपी सांसद राजकुमार सैनी ने कहा था कि अगर ओबीसी कोटे के लिए निर्धारित आरक्षण में कटौती करके उसे जाटों को दिया गया तो वह इस्तीफ़ा भी दे सकते हैं ! इसके बाद उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है !

आंन्दोलन की वजह से हरियाणा के 6 जिलों रोहतक, झज्जर, सोनीपत, भिवानी, जींद, हिसार में कर्फ्यू लगा हुआ है ! रोहतक, झज्जर, सोनीपत, पानीपत, भिवानी, जींद, हिसार, कैथल, करनाल जिलों में आंदोलन जारी है !

वहीँ इन आंदोलन के कारण राज्य में हाइवे जाम है, सैकड़ों ट्रेनें रद्द की गई हैं, कई शहरों में कर्फ्यू लागू है ! अब तक हिंसा के आरोप में लगभग 45 लोग गिरफ्तार किए गए हैं ! हिंसा पर काबू पाने के लिए पैरा मिलिट्री फोर्स की 24 कंपनियां तैनात की गई हैं !

5500 स्थाई कर्मचारी और 8 हजार अस्थाई कर्मचारियों को मारूति ने जाट आंदोलन के चलते छुट्टी पर भेज दिया है ! मानेसर और गुडगांव के प्लांट बंद कर दिये गये है ! दोनों प्लांटों मे रोजाना 5 हजार कारों का उत्पादन होता है !
उधर, झज्जर शहर में सभी दुकानें बंद रहीं और रोहतक हाईवे पर ट्रकों की लंबी क़तारें देखी गईं ! सोनीपत में भी जाम के हालात दिखे ! सड़कों पर प्रदर्शनकारी जमे रहे और वहां भी रोहतक हिंसा का असर देखा जा रहा है ! आंदोलनकारियों ने अपने साथियों से रोहतक जाने और वहां आंदोलनकारियों का साथ देने का आह्वान किया है ! अखिल भारतीय जाट आरक्षण समिति के लोग भी धरनास्थल पर नज़र नहीं आए !

ऐसे में लगता है कि उनके हाथ से आंदोलन निकलकर नौजवान आंदोलनकारियों के हाथों में चला गया है ! बताया जाता है कि इसके चलते सरकार और सुरक्षाबलों को उनसे बात करने और समझाने-बुझाने में परेशानी हो रही है ! अखिल भारतीय जाट आरक्षण समिति ने 21 फरवरी से आंदोलन का ऐलान किया था, मगर यह 14 फरवरी से ही शुरू हो गया ! उस दिन हरियाणा में हुई खाप पंचायतों की बैठकों के बाद लोग सड़कों पर उतर आए !

झज्जर में यातायात और लोगों की आवाजाही पूरी तरह बंद है ! झज्जर के पास कई ट्रक गुरुवार से फंसे हैं ! कुछ ड्राइवरों के मुताबिक उन्हें डर है कि हिंसा भड़की तो कहीं उनके ट्रकों को निशाना न बनाया जाए !

वहीँ इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने भी कहा है कि उनकी बातों पर विचार किया जा सकता है ! लेकिन आंदोलनकारियों का कहना है कि जब तक उन्हें आरक्षण नहीं मिल जाता, तब तक वो सड़कों से नहीं हटेंगे !
आंदोलनकारियों का आरोप है कि सरकार ने उनसे धोखा किया है ! उनके मुताबिक़ सरकार ने छह महीने पहले कहा था कि वह आरक्षण देगी, लेकिन उसके बाद उन्होंने आर्थिक रूप से कमज़ोर वर्ग को आरक्षण देने की बात की !

गौरतलब है कि शनिवार को आरक्षण के लिए आंदोलन को देखते हुए सरकार ने रोहतक, हिसार, झज्जर और अन्य जिलों में इंटरनेट और मोबाइल एसएमएस सेवा को बंद कर दिया है। दिल्ली-अंबाला, दिल्ली-अमृतसर, दिल्ली-हिंसा-फजिल्का मार्ग और हिसार-धूरी खंड पर जाटों के विरोध प्रदर्शन को लेकर रेल सेवा गंभीर रूप से प्रभावित हुई है। कुल 37 ट्रेने रद्द की गई है जबकि 22 आंशिक रूप से रद्द करनी पड़ी।

प्रदर्शनकारियों ने रेलवे स्टेशन के कंट्रोल रूम और जनरेटर रूम में तोड़ फोड़ के बाद आग लगाईं। इससे पहले पुलिस और आईआरबी ने शहर में फ्लैग मार्च भी निकाला। हरियाणा में जाट आंदोलन बेकाबू होते ही तीन जिलों में कर्फ्यू लगा दिया। साथ ही, उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के आदेश दिए गए। आज सुबह सेना ने मोर्चा संभाल लिया ।

राज्य के नौ जिलों में सेना बुला ली गयी और रोहतक तथा भिवानी में कर्फ्यू लगाने के साथ ही हिंसा भड़काने वालों को देखते ही गोली मारने के आदेश जारी कर दिए गए । हिंसक भीड़ द्वारा राज्य के विभिन्न हिस्सों में की गयी आगजनी के दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गयी और 25 अन्य घायल हो गए। केंद्र ने भी 3,300 अर्धसैनिक बलों को हरियाणा भेज दिया। रोहतक में हिंसक भीड़ ने कुछ पुलिसकर्मियों को बंधक बनाने के साथ ही राज्य के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु के घर को आग लगा दी और रोहतक, झज्जर, हांसी तथा कई अन्य जगहों पर कई सरकारी और निजी संपत्तियों को को भी आग के हवाले कर दिया गया।

[Desk]
loading...
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com