Home > India > हिंदुत्व खाने की आजादी छीनता है तो मैं हिंदू न होना पसंद करूंगा

हिंदुत्व खाने की आजादी छीनता है तो मैं हिंदू न होना पसंद करूंगा

ऑनलाइन ट्रैवल कंपनी मेक माय ट्रिप के को-फाउंडर और स्ट्रेटेजिक एडवायजर केयूर जोशी बीफ बैन को लेकर एक ट्वीट करके बुरी तरह फंस गए हैं। केयूर जोशी ने अपने ट्वीट में पशु वध के मकसद से इनकी खरीद-फरोख्त की बिक्री पर लगाए गए बैन पर दुख जाहिर किया था। उन्होंने लिखा कि ‘अगर हिंदुत्व खाने की आजादी छीनता है तो मैं हिंदू न होना पसंद करूंगा।

कयूर जोशी के ट्विट कर के आगे लिखा कि, “मैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी का जबरदस्त सपोर्टर हूं और वेजिटेरियन लाइफ का भी। लेकिन खाने की आजादी के समर्थन में बीफ खाएंगे। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री मोदी यह नहीं तय कर सकते हैं की कौन क्या खाएगा”।

बीजेपी समर्थकों ने की ऐप को हटाने के अपील की
हालांकि काफी आलोचना के बाद जोशी ने ट्वीट को डिलीट कर दिया गया। उसके बाद बीजेपी सपोर्टरो ने अपने-अपने मोबाइल से मेक माय ट्रिप के ऐप को हटाने और उसे 1 स्टार की रेटिंग देने की अपील की। हालांकि, इस मामले में कंपनी द्वारा दिए गए बयान के 24 घंटे बाद भाजपा समर्थकों ने इसके खिलाफ अपना अभियान जारी रखा।

लोगों ने धीरे-धीरे मेक माई ट्रिप के ऐप को हटाना शुरु कर दिया। जिसके बाद लोगों ने ऐप को हटाने लगे और उसका स्क्रीनशॉट लेके ट्वीट करने लगा।

ट्वीट डिलीट करने से पहले जोशी ने लिखा “बीफबैन के संबंध में मेरे निजी विचार थे और मुझे किसी को तकलीफ पहुंचाने का कोई मकसद नहीं था। मैं ईमानदारी से इसके लिए माफी मांगता हूं।”

हालांकि, इस मामले में कंपनी द्वारा दिए गए बयान के 24 घंटे बाद भाजपा समर्थकों ने इसके खिलाफ अपना अभियान जारी रखा। लोगों ने धीरे-धीरे मेक माई ट्रिप के ऐप को हटाना शुरु कर दिया। जिसके बाद लोगों ने ऐप को हटाने लगे और उसका स्क्रीनशॉट लेके ट्वीट करने लगा।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com