smriti irani rajya sabhaनई दिल्ली- संसद में एक बार फिर हंगामा हुआ जिसमे शुक्रवार को विपक्ष ने एक सुर में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से माफी की मांग की। संसद में महिषासुर दिवस के मुद्दे पर संग्राम हुआ ।

विपक्ष का आरोप है कि केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी ने जनभावनाओं की आस्था को ठेस पहुंचाते हुए मां दुर्गा को लेकर अपमानित की टिप्पणी की है। राज्यसभा में चर्चा के दौरान कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि हमने उन्हें मां दुर्गा पर टिप्पणी के दौरान रोकने की कोशिश की थी, लेकिन वह नहीं रूकी।

कांग्रेस नेता के मुताबिक, वो राज्य सभा में ऐसी निंदनीय टिप्पणी को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। हालांकि इसके बाद तुरंत केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी सामने आई। उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि मैंने सदन में जो भी पढ़ा वह दस्तावेज विश्वविद्यालय के अधिकारियों से मुझे मिले थे। ये दस्तावेज सरकार की ओर से नहीं रखे गए।
स्मृति ईरानी ने बताया कि विश्वविद्यालय ने खुद इन कागजातों को प्रमाणित किया है। मैंने इसे इसलिए पढ़ा, क्योंकि मुझसे सबूत मांगे जा रहे थे। केंद्रीय मंत्री ने अपना पक्ष तो सदन में रखा लेकिन माफी नहीं मांगी। जिससे एक बार फिर विपक्ष नाराज हो गया।

जेडीयू सांसद अली अनवर ने कहा कि ऐसे कई पर्चे रोजाना बांटे जाते हैं, तो क्या हम लोगों की भावनाओं को आहत करते हुए उन पर्चों को राज्य सभा में आकर पढ़ें?

वहीं इस मुद्दे पर स्मृति ईरानी फिर सामने आई। उन्होंने कहा कि मैं खुद दुर्गा की पूजा करती हूं, मैंने बहुत दुख के बाद ये बातें कही थी।

Uproar in RS over Irani’s remark on Durga