Home > India > मैं कविता नहीं कह सकता, गाना भी नहीं गा सकता: नाईक

मैं कविता नहीं कह सकता, गाना भी नहीं गा सकता: नाईक

Ram Naikलखनऊ : मैं दोनों में फिट नहीं बैठता। न तो मैं गाता हूँ और न ही कविता कह सकता हूँ। मेरा संबंध सिर्फ श्रोता के रूप में है। मैं पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी से तुलना करता हूँ तो स्वयं से कुछ समानता पाता हूँ। उनका जन्म 10 नवम्बर, 1934 को हुआ था और मेरा जन्म 16 अपै्रल, 1934 में हुआ था यानि दोनों का जन्म एक ही साल में हुआ। मैं 22 जुलाई, 2014 को उत्तर प्रदेश का राज्यपाल बना और वे 24 जुलाई, 2015 को पश्चिम बंगाल के राज्यपाल बने। वे भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष थे और मैं भारतीय जनता पार्टी महाराष्ट्र का प्रदेश अध्यक्ष रहा हूँ। वे भी विधायक रहे हैं और मैं भी विधायक रहा हूँ।

ये कहना है यूपी के राज्यपाल राम नाईक का वो यहाँ राय उमानाथ बलि प्रेक्षागृह में पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी द्वारा रचित कविताओं की स्वरबद्ध सी0डी0 के विमोचन समारोह में बोल रहे थे।

राज्यपाल श्री नाईक ने कहा कि केशरी नाथ त्रिपाठी कविता कहते हैं पर मुझे भी ऐसा ही कुछ आता सोचकर ईष्र्या होती है। कुछ ही राजनेताओं में यह विशेषता होती है। ऐसे में मुझे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की याद आती है क्योंकि वे भी एक बहुत अच्छे कवि हैं। मैंने उनको 1952 में पहली बार देखा था जब मैं कामर्स का विद्यार्थी था। उन्हें काव्य पाठ के लिए पुणे बुलाया गया था। उन्होंने अपनी कविता ‘हिन्दू‘ सुनायी थी जो मुझे आज भी याद है। राज्यपाल श्री नाईक ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से भी उनकी कुछ समानता है। दोनों ही सांसद रह चुके है। वे प्रधानमंत्री थे और मैं उनके मंत्रिमण्डल में मंत्री।

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी ने कविताओं की स्वरबद्ध सी0डी0 के विमोचन समारोह  पर बोलते हुए कहा कि कविता मन की प्रतिक्रिया है। मनुष्य जो भी समाज में देखता एवं सुनता है उससे प्रसन्नता, क्रोध और आराधना की अनुभूति होती है। उन्होंने कहा कि ‘मैं यू ही कुछ पंक्तियाँ लिखता था जो अनायास कविता बन जाती और लोग उसकी प्रशंसा करते। आज वही कवितायें पुस्तकें और सी0डी0 के रूप में परिवर्तित हुई है।‘

कार्यक्रम का आयोजन सहयोग, सामाजिक, शैक्षिक एवं सांस्कृतिक संस्थान लखनऊ द्वारा किया गया था। केशरी नाथ त्रिपाठी की कविताओं को विभा तिवारी ने स्वरबद्ध किया है।

कार्यक्रम में संस्था द्वारा यूपी के राज्यपाल राम नाईक ने इस बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी को अंग वस्त्र, पुष्प गुच्छ व अभिनन्दन पत्र देकर सम्मानित किया।

रिपोर्ट :- शाश्वत तिवारी

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com