gang repe

खंडवा [TNN ] नौकरी दिलाने के नाम पर मुंबई की एक विवाहिता को दो महिलाएं खंडवा ले आई। विवाहिता को एक व्यक्ति को बेच दिया। जंगल ले जाकर एक महीने तक बलात्कार किया। फिर उसे देह व्यापार में धकेल दिया।

एक माह बाद महिला किसी तरह चंगुल से भागी और मुंबई पहुंचकर अपने पति को आपबीती सुनाई। दोनों महिलाओं सहित दस आरेापियों पर मुंबई ठाणे के वि_लवाड़ी पुलिस थाने में केस दर्ज किया गया है। वि_लवाड़ी थाने में 30 अप्रैल को महिला के पति की शिकायत पर गुमशुदगी दर्ज थी।

वि_लवाड़ी थाने के सब इंस्पेक्टर सीएन खुसपे को पीडि़ता ने बताया 30 अप्रैल को उल्हास नगर में दो महिलाएं ज्योति पति किशोर चवानी और कोमल पति हितेश रेवानी से मुलाकात हुई। दोनों ने खंडवा में अच्छी नौकरी दिलाने को कहा। इसी बात पर मैं उनके साथ खंडवा चली गई। वहां एक व्यक्ति से सौदा कर बेच दिया।

महिलाओं ने कितने रुपए में बेचा यह नहीं पता लेकिन वह व्यक्ति यह कहकर सुबह-शाम बलात्कार करता रहा कि तुझे रुपए देकर खरीदा है। महिला ने बताया जंगल में रोज नए लोग आते और जबरदस्ती बलात्कार करते।

मुंबई ठाणे के लवाड़ी थाने में महिला की शिकायत पर ज्योति पति किशोर सिंधी, कोमल पति हितेश रेवानी और आठ अन्य आरोपियों पर धारा 362, 344, 376 के तहत केस दर्ज किया। मामले में महाराष्ट्र पुलिस आरेापियों की तलाश में जल्द खंडवा आएगी।

एसपी मनोज शर्मा ने बताया इस मामले में अब तक मुंबई पुलिस से जानकारी प्राप्त नहीं हुई है। अगर वहां केस दर्ज हुआ है तो आरेापियों को पकडऩे में मुंबई पुलिस की मदद करेंगे।

 

 khandwa gang rape in jungle

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here