Home > India News > #khandwa: 400 लोगों पर चलानी कार्यवाही, ड्राइविंग लाइसेंस निरस्त

#khandwa: 400 लोगों पर चलानी कार्यवाही, ड्राइविंग लाइसेंस निरस्त

खंडवा : अगर आप नए साल का जश्न मानाने जा रहे है तो इतना याद रखें की शराब पी कर गाड़ी न चलाए वार्ना आप का ड्राइविंग लाइसेंस निरस्त हैं। खंडवा पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन के निर्देश पर करीब एक सप्ताह से चलानी कार्यवाही की जा रही है। जिसने बगैर हेलमेट और शराब पी कर गाड़ी चलाने वालों पर सख्ती से कार्यवाही की जा रही हैं। खंडवा पुलिस ने अपील की हैं कि शराब पीकर और बिना हेलमेट वाहन न चलाए। पुलिस ने साल भर में 400 लोगों को शारब पीकर गाड़ी चलाते पकड़ा हैं जिनके विरुद्ध ड्राइविंग लाइसेंस निरस्तीकरण की कार्यवाही की गई हैं।

खंडवा पुलिस ने साल 2017 में 400 लोगों को शराब पीकर गाड़ी चलाते पकड़ा। जिनके ड्राइविंग लाइसेंस निरस्त किए गए। इन चार सौ लोगों में से 230 के पास ड्राइविंग लाइसेंस मिले बाकि लोगों से पुलिस ने हलफनामा लिया जिसमे पकड़े गए लोगों ने शपथ पूर्वक कहा की उनके पास ड्राइविंग लाइसेंस नहीं हैं और अब वह दौबारा शराब पीकर वाहन नहीं चलाएंगे।

पुलिस विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक शराब पीकर गाड़ी चलाने के मामले में संभवतः यह खण्डवा में यह पहली कार्रवाई है जब इतनी संख्या में चालकों के लाइसेंस सीधे निरस्त किए गए। सड़क हादसों में अक्सर पाया गया हैं की चालक शराब के नशे में था। कई बार शराबी वाहन चालक हुड़दंग करते हुए पाए गए। शराब पीकर वाहन चलाने वाले लोग अपने जीवन के साथ थो खिलवाड़ करते ही है दुसरो की जान के साथ भी खिलवाड़ करते है।

इन्हीं बातों को देखते खण्डवा एसपी ने ऐसे वाहन चालकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं। हाल ही में इस साल पुलिस ने शहर में ऐसे वाहन चालकों के खिलाफ विशेष अभियान शुरू किया है। इसमें ऐसे वाहन चालकों पर मौके पर ही कार्रवाई करने के साथ ही 230 लोगों के लाइसेंस निरस्त किये गए। पुलिस की इस पहल से सड़क दुर्घटनाओं में कमी आई हैं।

विभाग ने इन सभी वाहन चालकों के लाइसेंस जब्ती में लेकर निरस्त किए हैं। इनकी जानकारी सिस्टम में भी अपडेट कर दी है। अब ये वाहन चालक एक साल तक गाड़ी नहीं चला सकेंगे। न ही प्रदेश में कहीं और अपना लाइसेंस बनवा सकेंगे। सालभर बाद इन्हें दोबारा नए सिरे से लाइसेंस बनवाना होगा।

पुलिस शराब पीकर वाहन चलाने वाले लोगों की पहचान के लिए 10 से ज्यादा ब्रेथ एनेलाइजर से जांच कर रही है। शराब पीने की पुष्टि होती है तो वाहन चालक की गाड़ी जब्त कर ली जाती है और अगले दिन चालान कोर्ट भेजे जाते हैं। गाड़ी वहीं से छूटती है। ऐसी स्थिति में वाहन चालकों को पैदल घर जाना पड़ता है।

ट्रैफिक डीएसपी संतोष कौल ने तेज़ न्यूज़ को बताया की साल भर वाहन चेकिंग अभियान चलाया जाता हैं। नववर्ष को देखते हुए अभियान को तेज किया गया हैं। अगर कोई शारब पीकर गाड़ी चलाते पकड़ाया तो मौके पर ही कार्यवाही कर ड्राइविंग लाइसेंस निरस्त किया जायगा।

रिपोर्ट @निशात सिद्दीकी / विजय तीर्थानी

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com